आर्थिक कारण से जिम्बाब्वे क्रिकेट से अलग हुआ: टेलर

By: | Last Updated: Thursday, 16 April 2015 2:46 PM
brendon taylor

नॉटिंघमः जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान ब्रेंडन टेलर ने कहा है कि उन्होंने आर्थिक कारण से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को छोड़ने और इंग्लिश काउंटी क्लब नॉटिंघमशायर से जुड़ने का फैसला किया. प्रोफेशनल क्रिकेटर्स एसोसिएशन के अनुसार टेलर को विश्व कप-2015 में जिम्बाब्वे की ओर से खेलने के लिए 250 ऑस्ट्रेलियाई डॉलर मिले, लेकिन अनुमान के अनुसार इंग्लिश काउंटी टीम की ओर से खेलते हुए वह 95,000 से 244,269 ऑस्ट्रेलियाई डॉलर तक की कमाई कर सकते हैं.

 

टेलर ने विश्व कप के बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से अलग होने का फैसला किया.

 

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की वेबसाइट के अनुसार टेलर ने कहा, “हर अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी का सपना होता है कि वह अपने देश के लिए खेले. जिम्बाब्वे टीम से अलग होने का फैसला मेरे लिए आसान नहीं था. मुझे लगता है कि कोई खिलाड़ी अगर यह कहता है कि वह ज्यादा से ज्यादा पैसे कमाने की कोशिश नहीं कर रहा तो वह झूठ बोल रहा है.”

 

गौरतलब है कि जिम्बाब्वे क्रिकेट में खिलाड़ियों का वेतन लंबे समय से एक मुद्दा रही है. इससे पूर्व 2013 में भी क्रेग इरविन ने इंग्लैंड में क्लब क्रिकेट और ऑस्ट्रेलिया में ग्रेड क्रिकेट में खेलने को तरजीह देते हुए जिम्बाब्वे क्रिकेट से करार करने से इंकार कर दिया था.

 

तेज गेंदबाज काइल जार्विस ने भी काउंटी टीम लंकाशायर की ओर से खेलने के लिए 24 साल की उम्र में ही अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: brendon taylor
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017