गेंदबाजों में नियंत्रित आक्रामकता पसंद है: ली

By: | Last Updated: Thursday, 29 October 2015 2:57 PM

मुंबई: श्रीलंका में ईशांत शर्मा से जुड़ी घटना के बाद तेज गेंदबाजों के बर्ताव को लेकर चल रही चर्चाओं के बीच ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने कहा कि उन्हें तेज गेंदबाजों में ‘नियंत्रित आक्रामकता’ पसंद है.

 

तीसरे और अंतिम टेस्ट में विरोधी खिलाड़ियों के साथ ईशांत की लगातार बहस हो रही थी और बाद में इस तेज गेंदबाज पर एक टेस्ट का बैन भी लगा जिसके कारण वह साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में नहीं खेल पाएंगे. ली ने कहा कि खिलाड़ियों को क्रिकेट के मैदान पर कभी हद पार नहीं करनी चाहिए.

 

ली ने कहा, ‘‘आप नहीं चाहते कि मैच कठपुतली का खेल बन जाए, जो सिर्फ भावनाओं में बहकर इधर उधर दौड़ रहे हों.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं पता कि क्या हुआ (ईशांत के मामले में) लेकिन रेखा खिंची हुई है और आपको इसे पार नहीं करना चाहिए. मुझे वे गेंदबाज पसंद हैं जो अपनी आक्रामकता को नियंत्रित रखते हैं. इसलिए उनमें थोड़ी आक्रामकता में कोई परेशानी नहीं है. लेकिन काफी अधिक नहीं.’’

 

साउथ अफ्रीका के मुंबई में पांचवें और अंतिम वनडे मैच में 438 रन का विशाल स्कोर बनाने के बाद टीम इंडिया को 214 रन से हराकर सीरीज 3-2 से जीतने के बाद ली ने भारत में तेज पिचों की जरूरत पर जोर दिया. ऑस्ट्रेलिया के इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, ‘‘भारतीय गेंदबाजों के लिए यह काफी मुश्किल विकेट था, यहां गेंदबाजी करना मुश्किल था. जिम्मेदारी मैदानकर्मियों पर डाली जाए, उन्हें तेज गेंदबाजी के अधिक अनुकूल विकेट तैयार करने को कहा जाए क्योंकि 438 रन वनडे मैच में काफी अधिक होते हैं.’’ अपने 13 साल के अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान 310 टेस्ट विकेट हासिल करने वाले ली ने कहा कि किसी भी प्रारूप में गेंदबाजी करना तेज गेंदबाजों के लिए हमेशा मुश्किल होता है.

 

ऑस्ट्रेलिया के इस तेज गेंदबाज ने भारत के टेस्ट कप्तान विराट कोहली के संदर्भ में कहा कि यह युवा कप्तान मैदान के अंदर और बाहर बिलकुल अलग तरह का इंसान है.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: brett lee on bowlers behaviour
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017