आरसीबी पद से ‘इस्तीफा नहीं देंगे’ बृजेश पटेल

By: | Last Updated: Sunday, 15 November 2015 12:43 PM
Brijesh Patel refutes allegations of conflict of interest

बेंगलुरू: बीसीसीआई ने अपनी मान्यता प्राप्त इकाइयों के सदस्यों के लिए ‘हितों का टकराव नहीं’ नियम शामिल करके भले ही सही दिशा में कदम उठाया हो लेकिन अब भी कई ऐसे वरिष्ठ अधिकारी हैं जिन्होंने अपना आईपीएल अनुबंध खत्म नहीं किया है और इन अधिकारियों में प्रमुख कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ (केएससीए) सचिव बृजेश पटेल हैं.

 

भारत के पूर्व लेग स्पिनर नरेंद्र हिरवानी ने हाल में मध्य प्रदेश सीनियर चयन समिति में चयनकर्ता के पद से इस्तीफा दे दिया था क्योंकि उनके बेटे मिहिर राज्य के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेल रहे हैं लेकिन पटेल ऐसा कोई कदम नहीं उठा रहे.

 

पूर्व भारतीय टेस्ट क्रिकेटर पटेल अब भी केएससीए सचिव होने के अलावा आईपीएल फ्रेंचाइजी रायल चैलेंजर्स बेंगलूर के ‘क्रिकेट संचालन प्रमुख’ भी हैं.

 

नीलामी की प्रक्रिया से ही पटेल आईपीएल फ्रेंचाइजी के संचालन में सक्रिय रूप से जुड़े रहे हैं. आरसीबी की वेबसाइट पर अब भी पटेल के नाम का जिक्र ‘क्रिकेट संचालन प्रमुख’ के रूप में है.

 

पटेल से जब यह पूछा गया कि क्या वह आरसीबी के ‘क्रिकेट संचालन प्रमुख पद’ से इस्तीफा देंगे तो उन्होंने कहा, ‘‘हितों का टकराव कहां है. नहीं, मैं पद पर बना रहूंगा.’’ हितों का टकराव के पूरे मुद्दे पर नजरिया पूछने पर पटेल ने कहा, ‘‘मैं इस मुद्दे पर कोई बयान नहीं देना चाहता.’’ पटेल ने साथ ही कहा कि उन्होंने बीसीसीआई अध्यक्ष शशांक मनोहर से बात की है लेकिन दोनों के बीच क्या बातचीत हुई इसका खुलासा उन्होंने नहीं किया. इस मामले के जानकार बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पटेल का मामला हितों का टकराव का स्पष्ट मामला है लेकिन कर्नाटक के इस पूर्व बल्लेबाज के करीबी सूत्रों का मानना है कि केएससीए में उनका पद मानद है.

 

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘बृजेश का मानना है कि केएससीए सचिव का उनका पद मानद है जहां उन्हें कोई पैसा नहीं मिलता इसलिए इसका टकराव आरसीबी में उनकी भूमिका से नहीं होना चाहिए.’’ बीसीसीआई ने हाल में हितों के टकराव को लेकर जो दिशानिर्देश जारी किया हैं उनके अनुसार, ‘‘प्रशासक या उसका करीबी रिश्तेदार किसी भी आईपीएल फ्रेंचाइजी का वेतनभोगी नहीं होना चाहिए.’’ हाल में कर्नाटक के एक पूर्व दिग्गज रोजर बिन्नी को उनका कार्यकाल पूरा होने पर राष्ट्रीय चयन समिति से हटा दिया गया था क्योंकि उनका बेटा स्टुअर्ट अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहा है और इसे हितों के टकराव का संभावित मामला माना गया.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Brijesh Patel refutes allegations of conflict of interest
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017