पर्यावरण क्लियरेंस नहीं मिलने से बर्लटन पार्क इतिहास बनने की ओर

By: | Last Updated: Monday, 23 February 2015 3:45 PM

जालंधर: मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और वेस्टइंडीज के धाकड बल्लेबाज विव रिचर्ड्स सहित दुनिया भर के कई दिग्गज बल्लेबाजों की बल्लेबाजी का गवाह बन चुका जालंधर का बर्लटन पार्क क्रिकेट स्टेडियम राज्य सरकार और पर्यावरण विभाग की उदासनीता के कारण स्वयं ‘इतिहास’ बनने की ओर बढ़ चुका है.

 

पंजाब सरकार ने इस ऐतिहासिक क्रिकेट स्टेडियम का जीर्णोद्धार करने का निर्णय 2010 में ही किया था लेकिन सरकारी और प्रशासनिक उपेक्षाओं के कारण अब यह ऐतिहासिक क्रिकेट स्टेडियम ‘इतिहास’ बनता जा रहा है .

 

कूडों के ढेर वाले सपाट मैदान में तब्दील हो चुके इस ऐतिहासिक स्टेडियम में एक टेस्ट मैच और तीन एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों के अलावा कई तीन दिवसीय मैच तथा वेटरन टीमों के मैचों का आयोजन किया जा चुका है. वर्ष 1994 में अंतिम बार यहां एक दिवसीय मैच खेला गया था.

 

जालंधर नगर निगम की देख रेख में इस स्टेडियम के पुनर्निर्माण काम 2010 में अगस्त सितंबर में शुरू हुआ था. स्टेडियम को तोड़ने के बाद अब तक कोई काम नहीं हो पाया है और यह ऐतिहासिक स्टेडियम अब मलबों और कूडों का ढेर बन चुका है.

 

शहर के महापौर सुनील ज्योति ने कहा, ‘‘स्टेडियम के पुनर्निर्माण का कार्य को पर्यावरण विभाग की ओर से हरी झंडी मिलने का इंतजार है. जैसे ही पर्यावरण क्लियरेंस मिलेगा हम इसका निर्माण कार्य शुरू कर देंगे.’’ ज्योति ने कहा, ‘‘स्टेडियम के पुनर्निर्माण के लिए हम पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं . दरअसल, पहले यह मामला पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट में था. वहां से अनुमति मिलने के बाद इसे पर्यावरण क्लियरेंस मिलने का इंतजार है .’’

 

महापौर ने बताया, ‘‘स्टेडियम का मसला अभी राज्य सरकार के पर्यावरणीय प्रभाव समिति (इनवारमेंटल इंपैक्ट कमेटी) के पास तीन महीने से लंबित है . जैसे ही वहां से हरी झंडी मिलती है हम तत्काल काम शुरू कर देंगे और उसके बाद 18 महीने में यह पूरी तरह तैयार हो जाएगा.’’ यह पूछने पर कि परियोजना 200 करोड से अधिक का है और आया फंड लौट भी चुका है तो ज्योति ने कहा, ‘‘हमें इसके लिए 120 करोड रुपये जारी कर दिये गए हैं और यह ठीक है कि वह धन लौट गया है लेकिन हम इसे दोबारा ले आयेंगे.’’

 

स्टेडियम में रोजाना अभ्यास करने वाले खिलाडियों की माने तो टूटने के बाद यह स्टेडियम खेलने लायक बचा ही नहीं है. बारिश होने पर स्टेडियम में जल जमाव अब आम हो गया है. चारों तरफ से इसकी चारदीवारी तोड़ दी गयी है इसलिए बाहर का कचरा भी पानी के साथ बह कर मैदान पर जमा हो जाता है इससे विश्वकप क्रिकेट का उनका उत्साह भी जाता रहा है.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: burlton park
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017