भारत की सफलता में अहम होगी कोहली और पुजारा की भूमिका

By: | Last Updated: Sunday, 6 July 2014 3:42 PM

नॉटिंघम: अपेक्षाकृत अनुभवहीन आक्रमण होने के कारण भारत का इंग्लैंड के खिलाफ आगामी टेस्ट श्रृंखला में दारोमदार उसके बल्लेबाजों पर होगा और इनमें भी विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा पर सभी की निगाहें लगी रहेंगी. दोनों टीमों ने बुधवार से नॉटिंघम में शुरू होने वाली पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला के लिये तैयारियां शुरू कर दी हैं.

 

कोहली और पुजारा के लिये विपरीत परिस्थितियों में यह कड़ी परीक्षा होगी. कोहली और पुजारा को तेंदुलकर-द्रविड़ की अगली जोड़ी माना जाता है और इंग्लैंड श्रृंखला उनके लिये कड़ी परीक्षा होगी. इंग्लैंड की टीम 2012-13 में जब भारत दौरे पर आयी थी तो कोहली उनके मुख्य निशाने पर था. उसने कोहली के लिये जाल बिछाया था और उनके लिये अलग तरह का क्षेत्ररक्षण सजा दिया जाता था. वे अपनी रणनीति में सफल रहे और कोहली चार मैचों की इस श्रृंखला में केवल 188 रन बना पाये. लेकिन उन्होंने नागपुर में आखिरी टेस्ट मैच में शतक जड़ा और इसे अपने लिये एक सीख करार दिया.

कोहली ने इसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा. दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड में उनका औसत क्रमश: 68 और 71.33 रहा और अब टीम को इंग्लैंड में भी उनसे इसी तरह के प्रदर्शन की उम्मीद है. इसके विपरीत पुजारा जब पहली बार इंग्लैंड के खिलाफ खेले तो वह काफी सफल रहे थे. उन्होंने 2012-13 की श्रृंखला में चार मैचों में 87.60 की औसत और दो शतकों की मदद से 438 रन बनाये. उनके शतकों में एक दोहरा शतक भी शामिल था.

 

पुजारा अपने इस प्रदर्शन में सुधार करने के लिये प्रतिबद्ध हैं और उन्होंने लीस्टरशायर और डर्बी में खेले गये दोनों अभ्यास मैचों में अर्धशतक जड़कर दौरे की शानदार शुरूआत की. भारतीय कोच डंकन फ्लैचर ने इस सप्ताह के अंत में बीसीसीआई टीवी से कहा, ‘‘बल्लेबाज भारत की तुलना में यहां कुछ अलग तरह से बल्लेबाजी करने की कोशिश कर रहे हैं. असली अंतर यही है कि वे थोड़ा अधिक उछाल से तालमेल बिठा रहे हैं. ’’

 

एलिस्टेयर कुक की अगुवाई वाली इंग्लिश टीम यहां पहुंच चुकी है और उन्होंने टेस्ट मैच से दो दिन पहले ही अभ्यास शुरू कर दिया. भारतीय टीम दो दिनों से नॉटिंघम में है तथा लीस्टरशायर और डर्बीशायर के खिलाफ दो अभ्यास मैचों में अच्छी तैयारी के बाद टेस्ट मैच खेलने के लिये तैयार है. ये दोनों टीमें 1986 के बाद अब पहली बार सचिन तेंदुलकर के बिना टेस्ट श्रृंखला खेलेंगी. पिछले कुछ वर्षों में राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली, वीवीएस लक्ष्मण, अनिल कुंबले, जहीर खान और हरभजन सिंह ने भी अपनी छाप छोड़ी है. अब वे परिदृश्य में नहीं हैं और नई भारतीय टीम के कंधों पर जिम्मा है.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: cheteshwar pujara_virat kohli_india tour of england_5 test series
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017