INDvsSL: टीम इंडिया को मिला डैथ-ओवर स्पेशलिस्ट गेंदबाज़

By: | Last Updated: Wednesday, 2 March 2016 12:44 PM


 

 

 

मीरपुर: ‘डैथ ओवरों’ के सक्षम गेंदबाज के तौर पर उभरने से भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने राहत की सांस ली है जिन्होंने कहा है कि गुजरात का यह गेंदबाज नयी गेंद से भी उतना ही प्रभावी है.

 

धोनी ने बुमरा की तारीफ करते हुए कहा,‘‘ जसप्रीत नयी गेंद से भी बेहतरीन गेंदबाजी करता है. डैथ ओवरों में उसने हमें काफी राहत दी है. लोगों को हालांकि यह समझना होगा कि वह रन भी देगा. अभी तक उसने नयी गेंद और डैथ ओवरों में हमारे लिये अच्छी गेंदबाजी की है.’’ 

 

उन्होंने कहा,‘‘ डैथ गेंदबाजी में आप आखिरी दो ओवरों में सिर्फ 12 रन नहीं दे पाते. कई बार 20-22 रन भी पड़ते हैं. इस तरह के प्रारूप में यह चलता है.’’ इससे पहले हार्दिक पंड्या को ‘गेम चेंजर’ बताने वाले धोनी ने कहा कि उसकी मौजूदगी से टीम में जरूरी संतुलन बना है. उन्होंने कहा,‘‘ यह प्रारूप पंड्या को रास आता है क्योंकि वह हरफनमौला है. हरफनमौला गेंद और बल्ले दोनों के जौहर दिखा सकते हैं और एक में नाकाम रहने पर दूसरे में भरपाई कर सकते हैं. यही वजह है कि टीम अब अधिक संतुलित लग रही है. आपके पास तीन तेज गेंदबाज और दो स्पिनर हैं. इनके अलावा अनियमित गेंदबाज रैना और युवराज भी है.’’ युवराज ने कल 18 गेंद में 35 रन बनाये जिससे कप्तान काफी खुश हैं. 

 

धोनी ने कहा ,‘‘ जहां तक युवी की बल्लेबाजी का सवाल है , मैने पहले ही कहा है कि वह जितना ज्यादा समय क्रीज पर बितायेगा उतना ही बेहतर होगा. उसका रवैया बहुत अच्छा रहा है. उसने बड़े शाट खेलने से पहले दो दिन गेंद तक इंतजार किया. उसने कल दिखाया कि वही खिलाड़ी है जो अपनी मर्जी से छक्के भी लगा सकता है. यदि वह ऐसे ही खेलता रहा तो विश्व कप से पहले बेहतरीन स्थिति में होगा.’’ विराट कोहली ने भी अर्धशतक जमाकर भारत को श्रीलंका पर पांच विकेट से जीत दिलाई. धोनी ने कहा ,‘‘ विराट हमेशा से जीत में योगदान देना चाहता रहा है. वह 80 रन पर भी आउट हो जायेगा तो वही खिलाड़ी होगा जो 100 रन बनाना चाहता था. टीम अगर उसके 80 रन से जीतती है तो उसे खुशी होती है. मैं जानता हूं कि 70 . 80 रन को शतक में बदलना कितना अहम है. यह सिर्फ खिलाड़ी ही नहीं बल्कि टीम के लिये भी अच्छा है.’’ धोनी ने स्वीकार किया कि पिच पिछले दो मैचों की तरह तेज गेंदबाजों की मददगार नहीं थी.

 

उन्होंने कहा ,‘‘ पहले दो मैचों में विकेट तेज गेंदबाजों की मददगार थी. यह पिच उतनी मददगार नहीं थी लेकिन बल्लेबाजों को कुछ परेशानी जरूर हुई. यदि तेज गेंदबाज सही दिशा में गेंद डाले तो बल्लेबाजों को मुश्किलें आ रही थी और दोनों टीमों के तेज गेंदबाजों ने ऐसा ही किया.’’ 

Cricket News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: INDvsSL: टीम इंडिया को मिला डैथ-ओवर स्पेशलिस्ट गेंदबाज़
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

BCCI से एनओसी पाने के लिये केरल हाईकोर्ट पहुंचे श्रीसंत
BCCI से एनओसी पाने के लिये केरल हाईकोर्ट पहुंचे श्रीसंत

कोच्चि: क्रिकेटर एस श्रीसंत ने बीसीसीआई से अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) के लिए केरल हाईकोर्ट...

डे-नाइट टेस्ट मैच में दोहरा शतक लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने एलिस्टेयर कुक
डे-नाइट टेस्ट मैच में दोहरा शतक लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने एलिस्टेयर कुक

बर्मिंघम: पाकिस्तान के अजहर अली के बाद एलिस्टेयर कुक डे-नाइट टेस्ट मैच में दोहरा शतक जड़ने वाले...

श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले धोनी ने नेट्स में दिखाया दम
श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले धोनी ने नेट्स में दिखाया दम

दाम्बुला: 20 अगस्त को श्रीलंका के खिलाफ शुरु...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017