CWG 2018: जीत के बाद मैरीकॉम ने कहा, कांस्य पदक से नहीं संतुष्ट, आंखे हैं गोल्ड पर| CWG 2018: Mary Kom eyes gold, says 'not ready to settle for bronze'

CWG 2018: जीत के बाद मैरीकॉम ने कहा, कांस्य पदक से नहीं संतुष्ट, आंखे हैं गोल्ड पर

फाइट के दौरान मैरीकॉम के सामने 18 वर्षीय मेगन की चमक फीकी नजर आई. और वो भारतीय महिला मुक्केबाज का सामना नहीं कर पाईं और हार गईं.

By: | Updated: 08 Apr 2018 03:49 PM
CWG 2018: Mary Kom eyes gold, says 'not ready to settle for bronze'

नई दिल्ली: भारत की दिग्गज महिला मुक्केबाज और पांच बार की विश्व चैंपियन एस सी मैरीकॉम ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा है. मैरी कॉम ने चौथे दिन महिलाओं के 48 किलोग्राम स्पर्धा के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है. 48 किलोग्राम के इस स्पर्धा के दूसरे क्वार्टर फाइनल में मैरीकॉम ने स्कॉटलैंड की मेगन गोर्डन को 5-0 से मात दी.


नहीं टिक पाई गोर्डन


फाइट के दौरान मैरीकॉम के सामने 18 वर्षीय मेगन की चमक फीकी नजर आई. और वो भारतीय महिला मुक्केबाज का सामना नहीं कर पाई और हार गईं.


आपको बता दें कि मैरीकॉम विश्व चैम्पियन के साथ ओलंपिक खेलों में भी कांस्य पदक हासिल कर चुकी हैं लेकिन अभी राष्ट्रमंडल खेलों में वो अभी तक एक भी पदक अपने नाम नहीं कर पाई हैं.


कांस्य से नहीं हूं संतुष्ट, जीतना चाहती हूं गोल्ड


जीत के बाद मैरीकॉम ने कहा की उनका एक मेडल तो पक्का है लेकिन वो कांस्य से संतुष्ट नहीं होने वाली हैं बल्कि उनका टारगेट तो गोल्ड मेडल जीतना हैं. उन्होंने आगे कहा कि मैं 35 साल की हूं और 3 बच्चों की मां हूं. उन्हें मेरी बॉक्सिंग नहीं पसंद लेकिन मैं फिर भी लड़कियों को बॉक्सिंग और फिट रहने के लिए प्रेरित करती रहती हूं.


मैरीकॉम का सामना अब सेमीफाइनल में श्रीलंका की अनुषा दिलरुक्शी से होगा.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: CWG 2018: Mary Kom eyes gold, says 'not ready to settle for bronze'
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story बार्सिलोना के लियोनल Messi को पसंद है वीडियो गेम्स तो वहीं Ronaldo को लुभाती हैं रेसिंग कारें