दही हांडी को साहसपूर्ण खेल का दर्जा

By: | Last Updated: Wednesday, 12 August 2015 4:40 PM
dahi handi

मुंबई: महाराष्ट्र सरकार ने एक अहम फैसले में दही हांडी महोत्सव के दौरान बनाये जाने वाले ‘गोविंदाओं’ के मानव पिरामिडों को ‘साहसिक खेल’ की संज्ञा दी है लेकिन कहा है कि 12 साल से कम उम्र के बच्चे इसमें शामिल नहीं हो पाएंगे.

 

महाराष्ट्र के संस्कृति मंत्री विनोद तावड़े ने आज कहा कि सरकार इस खेल में एकता, टीम भावना और अनुशासन को महत्वपूर्ण मानती है और इस लिहाज से यह फैसला किया गया है.

 

मंत्री ने कहा कि 12 से 15 साल की उम्र के लड़के-लड़कियों को उनके माता-पिता से अनुमति लेनी होगी.

 

कई बार गोविंदाओं के 10 स्तर उंचे तक पिरेमिड बनाये जाते हैं और इसमें भाग लेने वालों के गिरने की वजह से चोटिल होने की घटनाओं के कारण इनकी आलोचना भी होती है.

 

तावड़े ने कहा, ‘‘यह खेल केवल दही हांडी में नहीं खेला जाएगा बल्कि सभी खेल स्पर्धाओं में शामिल होगा.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: dahi handi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017