INDvsSA: दिल्ली टेस्ट पर सस्पेंस बरकरार

By: | Last Updated: Wednesday, 18 November 2015 2:33 PM

नई दिल्लीः  दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में साउथ अफ्रीका के खिलाफ 3 दिसंबर से होने वाले चौथे और अंतिम टेस्ट मैच पर असमंजस बरकरार है. दिल्ली हाईकोर्ट ने जस्टिस मुकुल मुदगल की निगरानी में इस मैच का आयोजन करने को कहा है.

 

लगातार 14वीं बार दिल्ली डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट बोर्ड को बिना कम्पलीशन सर्टिफिकेट मैच कराने की अनुमति मिली है. पर अभी मनोरंजन कर वाली याचिका दूसरे कोर्ट में लंबित होने से रास्ता पूरी तरह साफ नहीं हुआ है.

 

हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि जस्टिस मुकुल मुदगल की निगरानी में मैच हो. फिलहाल व्यवस्था ये की गई है कि डीडीसीए दक्षिणी एमसीडी को दो हफ्तों के अंदर पचास लाख का भुगतान करे. डीडीसीए मान रही है कि इस व्यवस्था के बाद मैच का रास्ता खुल गया है.

 

लेकिन मनोरंजन कर का मामला एमसीडी का नहीं बल्कि दिल्ली सरकार के अंतर्गत आता है. वो याचिका दूसरे कोर्ट में है जिसपर कल सुनवाई होनी है. लेकिन हाईकोर्ट ने डीडीसीए से कई सवाल पूछे.

 

हाईकोर्ट ने इस बार डीडीसीए को आखिरी चेतावनी भी दी कि इसके बाद आपको दोबारा प्रोविजनल या अस्थाई अनुमति नहीं मिलेगी. ये चेतावनी डीडीसीए के लिए बड़ी है क्योंकि 2008 के बाद से डीडीसीए में कुछ ठीक नहीं चल रहा. एक के बाद एक विवादों में डीडीसीए बुरी तरह फंसी है.

 

हाईकोर्ट ने कुछ राहत तो दी है लेकिन आने वाला समय डीडीसीए के लिए आसान नहीं होगा. एक नहीं कई गड़बड़ियों की जांच डीडीसीए के खिलाफ चल रही है.

 

फैसला जो आएगा सो आएगा लेकिन विवाद तो बना है. विवाद की शुरूआत कब से हुई.

 

दिल्ली में क्रिकेट का दूसरा नाम है कोटला स्टेडियम. और कोटला स्टेडियम के साथ दिल्ली के क्रिकेट को संभालने की जिम्मेदारी है दिल्ली डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन यानी डीडीसीए के पास. लेकिन साल दर साल क्रिकेट को चलाने वाली ये संस्था विवादों में खुद हिट विकेट होती रही है.

 

डीडीसीए के विवाद तो बरसों पुराने है लेकिन सबसे ताजा विवाद है कोटला स्टेडियम में टेस्ट खेला जा सकता है या नहीं. इस विवाद में केजरीवाल सरकार भी पार्टी बन चुकी है. केजरीवाल के सामने खड़ा है डीडीसीए को चलाने वाला धड़ा जिसमें बड़ा चेहरा हैं चेतन चौहान।

 

दिल्ली सरकार के बाउंसर अब डीडीसीए पर पड़ रहे हैं. दिल्ली सरकार के पैनल ने ये भी प्रस्ताव किया है कि डीडीसीए को निलंबित कर नई संस्था को कामकाज सौंपा जाए. वजह बताई गई है वित्तीय अनियमितताएं और टैक्स ना भरना.

 

दिलचस्प ये है कि डीडीसीए सीधे तौर पर दिल्ली सरकार के अधीन नहीं आती. पर मनोरंजन कर के मुद्दे को लेकर केजरीवाल खुद इस राजनीति में कूद पड़े हैं.

 

दिल्ली सरकार ने डीडीसीए से 26.46 करोड़ बकाए के भुगतान की मांग की है. हालांकि खुद डीडीसीए का कहना है कि वो नियम के मुताबिक 3 करोड़ रुपये का भुगतान कर चुकी है इसलिए उस पर कोई बकाया नहीं है.

 

बकाए मनोरंजन कर को लेकर दिल्ली सरकार दबाव बना रही है. कुछ दिन पहले ही दिल्ली की रणजी टीम के कप्तान गौतम गंभीर से मुलाकात कर चुके हैं. पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी बिशन सिंह बेदी जैसे दिग्गज खिलाड़ी भी केजरीवाल के साथ खड़े हैं.

 

बीजेपी सांसद कीर्ति आजाद भी बिशन सिंह बेदी गुट के साथ हैं. वहीं उनके मुकाबले में हैं पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान जो खुद एक बीजेपी नेता हैं.

 

इसके अलावा दक्षिणी एमसीडी और डीडीसीए भी आमने-सामने हैं. वजह से कोटला स्टेडियम में नई बनी इमारत. 2008 में बीसीसीआई और डीडीसीए ने कोटला स्टेडियम को अपग्रेड किया था. नई इमारत बनी थी दर्शकों के लिए नई सुविधाएं बनी थीं नई फ्लड लाइट्स लगी थीं. आरोप ये है कि इन सबके लिए डीडीसीए ने जरूरी अनुमति नहीं ली.

 

एमसीडी का आरोप है कि नई इमारत पर लगे प्रॉप्रर्टी टैक्स का भुगतान डीडीसीए ने नहीं किया. कोर्ट ने आदेश दिया है कि डीडीसीए दक्षिणी एमसी़डी के पचास लाख का तुरंत भुगतान करे.

 

ये भुगतान करने के बाद भी डीडीसीए की मुश्किलें आसान नहीं होने वाली. फायर ब्रिगेड, डिजास्टर मैनेजमेंट जैसे विभागों की अनुमति बाकी है. बाकी अनुमति तो मिल भी जाएं लेकिन भारतीय पुरात्तव विभाग की अनुमति मिलनी बेहद मुश्किल होगी.

 

स्टेडियम के पीछे ही मौजूद है फिरोजशाह कोटला के खंडहर. इस एतिहासिक विरासत को पुरात्तव विभाग संभाल रहा है. ऐसे में डीडीसीए को 2008 में नई इमारत बनाने से पहले पुरात्तव विभाग की अनुमति लेनी जरूरी थी जो नहीं ली गई. अब ये डीडीसीए के गले की फांस बन गया है.

 

मामला सिर्फ इतना ही नहीं है डीडीसीए के अधिकारियों के ऊपर लगातार वित्तीय अनियमितताओं के आरोप लगाए जा रहे हैं.

 

कोटला स्टेडियम का अपना इतिहास रहा है. इस स्टेडियम की शुरूआत साल 1883 में हुई थी उस वक्त इसे विलिंगनडन पवैलियन के तौर पर जाना जाता था. साल 1935 में इस स्टेडियम को 99 साल की लीज पर लिया गया था. इस लीज के करीब 80 साल बीत चुके हैं.

 

कोटला स्टेडियम में पहला टेस्ट मैच 10 नवंबर 1948 को खेला गया था. ये टेस्ट भारत और वेस्टइंडीज के बीच हुआ था. लेकिन कोटला का मैदान अनिल कुंबले के कमाल के लिए भी जाना जाता है क्योंकि यहां कुंबले ने साल 1999 में एक पारी में दस विकेट लेने का कमाल भी किया था. यही नहीं यहां खेले 11 टेस्ट मैचों में कुंबले ने रिकॉर्ड 63 विकेट हासिल की हैं IPL में कोटला दिल्ली डेयरडेविल्स का होम ग्राउंड हैं

 

सबसे बड़ा विवाद 27 दिसम्बर 2009 को हुआ था जब इंडिया और श्रीलंका के बीच वनडे मैच खेला जाना था लेकिन ये वन डे मैच खराब पिच के कारण रद्द कर दिया गया था.

 

ये शर्मनाक था पर इससे भी शर्मनाक थी वो राजनीति जो इस वन डे के रद्द होने के बाद बैठक में हुआ.

 

ये खेल में राजनीति की उठापठक की मिसाल थी. लेकिन ये पहली बार नहीं है. देश के वित्त मंत्री अरुण जेटली डीडीसीए को लंबे वक्त तक संभाल चुके हैं. जब तक अरुण जेटली कुर्सी पर थे तब तक शिकायतों का निपटारा वही करते थे लेकिन उनका ध्यान डीडीसीए से हटते ही यहां कुर्सी की लड़ाई तेज हो गई है. जो अब मुकदमों के तौर पर सामने आ रही है.

 

 

इन सबके अलावा डीडीसीए के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने फ्रॉड के दो केस दर्ज किए हुए हैं. सीबीई अनियमितताओं को लेकर जांच कर रही है. केंद्र सरकार की तरफ से भी एक केस ऑडिटर के खिलाफ दर्ज है कि उसने सही ढंग से बहीखाते नहीं बनाए. ये सब इशारा कर रहे हैं कि डीडीसीए में सब ठीक नहीं हैं.

 

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ddca_indvssa
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

टेनिस: सिनसिनाटी ओपन के क्वार्टर फाइनल में कोंटा
टेनिस: सिनसिनाटी ओपन के क्वार्टर फाइनल में कोंटा

बासिल: ब्रिटेन की स्टार महिला टेनिस खिलाड़ी योहाना कोंटा ने सिनसिनाटी ओपन टेनिस टूर्नामेंट के...

ENGvsWI: कुक और रूट के शतकों से पहले दिन इंग्लैंड मजूबत
ENGvsWI: कुक और रूट के शतकों से पहले दिन इंग्लैंड मजूबत

बर्मिंघम: पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक और मौजूदा कप्तान जो रूट की शानदार शतकों की मदद से...

श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले धोनी ने नेट्स में दिखाया दम
श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले धोनी ने नेट्स में दिखाया दम

दाम्बुला: 20 अगस्त को श्रीलंका के खिलाफ शुरु...

'यो-यो' से हारे टीम इंडिया के युवराज
'यो-यो' से हारे टीम इंडिया के युवराज

नई दिल्ली: कैंसर को मात देकर क्रिकेट के मैदान पर वापसी करने वाले टीम इंडिया के सिक्सर किंग...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017