वर्तमान और पूर्व खिलाड़ियों ने बोर्ड से कहा, DRS अपनाओ या भुगतो

By: | Last Updated: Sunday, 21 December 2014 7:44 AM
DECISION REVIEW SYSTEM

नई दिल्ली: वर्तमान टेस्ट श्रृंखला में कुछ फैसले भारत के खिलाफ जाने के बाद वर्तमान और पूर्व क्रिकेटरों को लगता है कि अब समय आ गया है जबकि बीसीसीआई को विवादास्पद निर्णय समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) को मंजूरी दे देनी चाहिए क्योंकि इस तकनीक को स्वीकार नहीं करने का टीम को खामियाजा भुगतना पड़ रहा है.

 

आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले दो टेस्ट मैचों के दौरान कम से कम पांच अवसरों पर अंपायरों के फैसले भारत के खिलाफ गये जिसके कारण कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को भी कहना पड़ा कि मेहमान टीम को अधिक नुकसान हुआ लेकिन इसके साथ ही उन्होंने साफ कि डीआरएस होने से भी उनकी टीम को खास मदद नहीं मिलती. लेकिन सीनियर आफ स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि अब समय आ गया है जबकि भारत को डीआरएस को वर्तमान स्वरूप में स्वीकार कर लेना चाहिए क्योंकि करीबी टेस्ट मैचों में इससे टीम को ही फायदा होगा.

 

हरभजन ने कहा,’मेरा मानना है कि हमें अब डीआरएस को स्वीकार कर लेना चाहिए क्योंकि इससे हमें ही फायदा होगा. यदि आप देखो तो दोनों टेस्ट मैचों में भारत ने अच्छी चुनौती पेश की लेकिन महत्वपूर्ण क्षणों में हमारे खिलाड़ियों के खिलाफ फैसले गये.’ उन्होंने कहा,’मैं चार फैसलों के बारे में बता सकता हूं. एडिलेड में पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में शिखर (धवन) को विकेट के पीछे कैच दिया गया.

 

दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में (चेतेश्वर) पुजारा को को विकेट के पीछे कैच आउट दे दिया गया. इसके बाद दूसरी पारी में रोहित (शर्मा) और अश्विन के खिलाफ फैसले गये. यदि डीआरएस होता तो पक्का इन सभी फैसलों को बदल दिया जाता और हो सकता था कि हम दोनों मैचों में जीत की स्थिति में होते.’ हरभजन के एक समय के साथी और भारत के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक वीवीएस लक्ष्मण अब भी डीआरएस के पक्ष में नहीं हैं क्योंकि उनका मानना है कि हॉट स्पाट और हॉक आई की सटीकता जैसे मसले अब भी नहीं सुलझाये जा सकते.

 

लक्ष्मण ने कहा,’जो भी फुलप्रूफ प्रणाली सही फैसले देती है उसका स्वागत है. मैं डीआरएस के खिलाफ नहीं हूं लेकिन इस प्रणाली को फुलप्रूफ बनने के लिये अभी लंबा रास्ता तय करना है.’ उन्होंने कहा,’मैं हॉटस्पाट और हॉक आई को लेकर आश्वस्त नहीं हूं. हॉक आई में पगबाधा के फैसलों में गेंद के रास्ते का निर्धारण होता है. जब निर्णय समीक्षा प्रणाली के इन दो बड़े मसलों को सही कर दिया जाता है तो हम डीआरएस के उपयोग को मंजूरी देने के लिये गंभीरता से विचार कर सकते हैं.’ लक्ष्मण के पहले टेस्ट मैच में कप्तान रहे मोहम्मद अजहरूद्दीन का कहना है कि यदि आईसीसी ने डीआरएस को मंजूरी दे दी है तो फिर बीसीसीआई का उससे मुंह मोड़ना सही नहीं है.

 

भारत की तरफ से 99 टेस्ट मैच खेलने वाले अजहर ने कहा,’जब क्रिकेट खेलने वाले अन्य देश इसके (डीआरएस) उपयोग के खिलाफ नहीं है तो फिर भारत इसको नजरअंदाज क्यों कर रहा है.’ उन्होंने कहा,’इस टेस्ट मैच (ब्रिस्बेन टेस्ट) में ही कई फैसले भारत के खिलाफ गये जबकि वे भारत के पक्ष में जा सकते थे. मेरे कहने का मतलब है कि आस्ट्रेलियाई टीम को भी नुकसान हो सकता है लेकिन भारत को ज्यादा नुकसान हुआ.

 

मेरा मानना है कि या तो आप प्रौद्योगिकी का पूरा इस्तेमाल करो या उसे पूरी तरह से नजरअंदाज कर दो.’ भारत के एक अन्य पूर्व कप्तान दिलीप वेंगसरकर ने कहा कि वह पहले डीआरएस के पक्ष में नहीं थे लेकिन एडिलेड और ब्रिस्बेन में अंपायरों के गलत फैसलों को देखते हुए इसे स्वीकार करने को तैयार हैं. उन्होंने कहा,’डीआरएस शत प्रतिशत सही नहीं है लेकिन लगता है कि अब हमें यह टेक्नोलोजी स्वीकार कर लेनी चाहिए.  कई आसान फैसले हमारे खिलाफ गये और इससे श्रृंखला में हमें काफी नुकसान हुआ.’

 

वेंगसरकर ने कहा, ‘बल्ले और पैड से लगकर गयी गेंद और कैच को लेकर कुछ फैसलों पर सवाल उठाये गये क्योंकि अंपायरिंग बहुत अच्छी नहीं थी. विशेषकर पहले टेस्ट मैच में कुछ स्पष्ट गलतियां हुई. अब समय हा गया है जबकि हमें डीआरएस को स्वीकार करना चाहिए. ’ पूर्व स्पिनर ईरापल्ली प्रसन्ना और सलामी बल्लेबाज चेतन चौहान ने भी डीआएस को वर्तमान प्रारूप में स्वीकार करने के लिये इसी तरह के विचार व्यक्त किये.

 

Related Stories

ऑस्ट्रेलिया के लिए आसान नहीं होगा भारत को हराना: सौरव गांगुली
ऑस्ट्रेलिया के लिए आसान नहीं होगा भारत को हराना: सौरव गांगुली

      कोलकाता: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व...

कोच मिकी आर्थर पर उमर अकमल ने लगाया टीम से बाहर करने का आरोप
कोच मिकी आर्थर पर उमर अकमल ने लगाया टीम से बाहर करने का आरोप

      कराची: पाकिस्तानी क्रिकेटर उमर अकमल...

हितेश गोस्वामी बने अंडर-16 क्रिकेट टीम के कोच
हितेश गोस्वामी बने अंडर-16 क्रिकेट टीम के कोच

फोटो: (ट्विटर) राजकोट: सौराष्ट्र के पूर्व...

रोते बच्चे का वीडियो देख कोहली हुए दुखी, कहा ‘बच्चे को धमकाकर नहीं सिखाया जा सकता’
रोते बच्चे का वीडियो देख कोहली हुए दुखी, कहा ‘बच्चे को धमकाकर नहीं सिखाया जा...

नई दिल्ली: भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली सोशल मीडिया पर बेहद सक्रीय रहते हैं. श्रीलंका में...

संगाकारा के घर में उनका सबसे बड़ा रिकॉर्ड तोड़ेंगे एमएस धोनी
संगाकारा के घर में उनका सबसे बड़ा रिकॉर्ड तोड़ेंगे एमएस धोनी

सौजन्य: AFP नई दिल्ली: श्रीलंका के साथ खेली गई 3 टेस्ट मैचों की सीरीज़ को क्लीनस्वीप कर भारतीय टीम...

ENGvsWI: कुक के दोहरे शतक से इंग्लैंड का विशाल स्कोर, वेस्टइंडीज़ की खराब शुरूआत
ENGvsWI: कुक के दोहरे शतक से इंग्लैंड का विशाल स्कोर, वेस्टइंडीज़ की खराब शुरूआत

बर्मिंघम: पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक के करियर के चौथे दोहरे शतक की मदद से इंग्लैंड ने...

BCCI से एनओसी पाने के लिये केरल हाईकोर्ट पहुंचे श्रीसंत
BCCI से एनओसी पाने के लिये केरल हाईकोर्ट पहुंचे श्रीसंत

कोच्चि: क्रिकेटर एस श्रीसंत ने बीसीसीआई से अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) के लिए केरल हाईकोर्ट...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017