dhoni

dhoni

By: | Updated: 29 Jan 2015 11:10 AM

पर्थ: टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने आज कहा कि विश्व कप से पहले प्लेइंग इलेवन को पहचानने के लिये हर मैच जीतना जरूरी है. उन्होंने कहा ,‘‘यदि आप दो मैच जीत भी लेते हैं लेकिन विश्व कप टीम को लेकर निश्चिंत नहीं है तो इससे आपके प्रदर्शन पर असर पड़ सकता है. यदि सभी फिट हैं तो आपके दिमाग में पहली एकादश का खाका होना चाहिये और हालात को देखते हुए दूसरी एकादश भी पता होना चाहिये क्योंकि विकेट अलग-अलग होंगे.’’

 

इंग्लैंड के खिलाफ वाका पर कल होने वाले मैच से पहले उन्होंने कहा ,‘‘आखिर में हमें उन 15 खिलाड़ियों को उतारना हैं जो फिट हैं और फॉर्म में हैं .’’ ट्राई सीरीज में अभी तक एक भी मैच जीतने में नाकाम रही भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में बारिश के कारण ड्रॉ रहे मैच से दो अंक मिले. अब उसे फाइनल में पहुंचने के लिये कल इंग्लैंड को हर हालत में हराना होगा.

 

धोनी ने कहा ,‘‘ हमारे लिये हर मैच महत्वपूर्ण है. हमें रन बनाना होगा और विकेट लेने होंगे. पिछले कुछ मैचों में हम ऐसा नहीं कर सके. हमने साझेदारियां बनाई लेकिन उनका फायदा नहीं उठा सके .’’ उन्होंने कहा ,‘‘ हमें आखिरी 10-12 ओवरों में अच्छी बल्लेबाजी करनी होगी .’’ इंग्लैंड ने पिछले मैच में भारत पर एक बोनस अंक के साथ जीत दर्ज की थी और धोनी का मानना है कि इंग्लैंड को मनोवैज्ञानिक फायदा होगा लेकिन यह नया मैच है.

 

धोनी ने कहा ,‘‘उन्हें इंग्लैंड में वनडे में भी मनोवैज्ञानिक बढत हासिल थी लेकिन हमने अभ्यास सत्रों का पूरा फायदा उठाया. ऐसा नहीं है कि वाका पर गेंद 15 या 20 किलोमीटर और तेजी से आती है. यदि आप 140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करेंगे तो वह उसी गति से आयेगी लेकिन यहां दूसरी ऑस्ट्रेलियाई विकेटों की तुलना में उछाल अधिक है .’’ पहले मैच में भारत 267 रन बनाने के बाद भी हार गया लेकिन दूसरे मैच में टीम 153 रन पर आउट हो गई. धोनी ने हालांकि अपने बल्लेबाजों का बचाव किया.

 

उन्होंने कहा ,‘‘यदि आप ब्रिसबेन में वनडे विकेट को देखें तो वह टेस्ट विकेट से अलग थी. उसमें उछाल थी लेकिन गति नहीं थी. इसके अलावा वनडे क्रिकेट में बल्लेबाजों के लिये अपने स्ट्रोक्स खेलना जरूरी है. यह जोखिम कई बार अनुकूल रहता है तो कई बार नहीं.’’ शीषर्क्रम पर रोहित शर्मा की गैर मौजूदगी और शिखर धवन का खराब फॉर्म चिंता का सबब रहा है लेकिन धोनी ने कहा कि मध्यक्रम को भी अपनी भूमिका निभानी होगी.

 

उन्होंने कहा ,‘‘ शीषर्क्रम का फॉर्म चिंता का सबब नहीं है. हमने मध्यक्रम में भी कई विकेट गंवाये हैं जिससे टीम को अच्छी शुरूआत नहीं मिल सकी है.’’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story पाकिस्तान के अंडर-19 क्रिकेटर ने की आत्महत्या