मेरी अंतरात्मा की आवाज के पीछे तर्क और अनुभव: धोनी

By: | Last Updated: Monday, 7 July 2014 11:21 AM
dhoni birthday

नॉटिंघम: स्थिति को भांपकर उसके अनुरूप फैसला करना महेंद्र सिंह धोनी की सबसे बड़ी काबिलियत है लेकिन पिछले सात साल में भारत को अपनी कप्तानी में बुलंदियों तक पहुंचाने वाले इस दिग्गज ने कहा कि उनकी अंतरात्मा की आवाज सिर्फ तर्क पर आधारित है.

 

धोनी ने अपने 33वें जन्मदिन पर ‘बीसीसीआई.टीवी’ से 2007 में ट्वेंटी20 विश्व कप से ठीक पहले कप्तान बनाए जाने, सीनियर खिलाड़ियों की मौजूदगी में यह जिम्मेदारी निभाने और अपनी कप्तानी की शैली आदि विषय पर बात की.

 

मैदान पर कैसे लेते हैं फैसले –

भारत को टेस्ट क्रिकेट में नंबर एक, 2011 में विश्व चैम्पियन, 2007 ट्वेंटी20 विश्व चैम्पियन और पिछले साल चैम्पियन्स ट्रॉफी विजेता बनाने के बारे में पूछने पर धोनी ने कहा कि वह मैदान पर अपने मन की आवाज सुनकर काम करते हैं और इसके लिए अपने अनुभव पर निर्भर है.

 

धोनी ने कहा, ‘‘मैं काफी योजनाएं नहीं बनाता और अपने मन की आवाज पर विश्वास करता हूं. लेकिन काफी लोगों की समझ में यह नहीं आता कि मन की आवाज सुनने से पहले आपके लिए इस स्थिति का पहले अनुभव होना जरूरी है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘उदाहरण के लिए आपको बाइक के बारे में कुछ नहीं पता. अगर मैं अपनी एक बाइक का इंजन खोलूं और इसको आपके सामने रखकर बताने को कहूं कि आपके हिसाब से यह इंजन किस बाइक का है और आपके मन की आवाज क्या कहती है तो आपके मन से कोई आवाज नहीं आएगी क्योंकि आप वहां रखी चीज के बारे में कुछ नहीं जानते.’’

 

धोनी ने कहा, ‘‘मेरी अंतरात्मा की आवाज मेरे अतीत के अनुभव से आती है जो मैंने अपने जीवन में खेले क्रिकेट और परिस्थितियों का सामना करके हासिल किया है. यह कोई ऐसी चीज नहीं हैं कि आपने बिना किसी तर्क के कुछ महसूस किया और कर दिया.’’ भारत को नौ जुलाई से नॉटिंघम में इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला खेलनी है जिसे धोनी के करियर की सबसे बड़ी चुनौती माना जा रहा है.

 

सीनियर्स के बारे में –

ड्रेसिंग रूम में सीनियर खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में किसी भी कप्तान को काफी दबाव का सामना करना पड़ सकता है और धोनी भी सचिन तेंदुलकर, वीवीएस लक्ष्मण, राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली की गैरमौजूदगी में इस तरह की स्थिति का सामना कर सकते हैं जबकि फिलहाल वह ऐसी टीम की अगुआई कर रहे हैं जो बदलाव के दौर से गुजर रही है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘सीनियर खिलाड़ियों से जुड़ी सबसे अच्छी बात यह थी कि अपने अनुभव से उनके पास मुझे बताने के लिए काफी योजनाएं और सुझाव थे.’’ भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘इस स्थिति में मैं सहज था क्योंकि मुझे पता था कि मैं ईनानदारी से उनसे सीधे सीधे बात कर सकता हूं और वे नाराज भी नहीं होंगे. उनकी वजह से मैं वह बनकर रह पाया जो मैं हूं और मैंने अपनी शैली की कप्तानी विकसित की.’’ मौजूदा स्थिति के बारे में पूछने पर धोनी ने कहा, ‘‘फिलहाल की स्थिति काफी अलग है. हालांकि मैं एक युवा टीम की कमान संभाल रहा हूं लेकिन मैं ऐसी कोई योजना नहीं बनाना चाहता जिसे लागू करने में गेंदबाज सहज नहीं हो. इसलिए मैं गेंदबाजों को उनकी योजना और उनके क्षेत्ररक्षण के साथ शुरूआत करने देता हूं और उन्हें स्वयं सोचने के लिए प्रोत्साहित करता हूं.’’

कप्तानी पर-

धोनी ने स्वीकार किया कि जब उन्हें कप्तान बनाया गया तो वह हैरान थे और तेंदुलकर ने इसमें भूमिका निभाई. उन्होंने कहा, ‘‘ऐसा था (मैं हैरान था), क्योंकि मैंने कभी कप्तानी को लक्ष्य नहीं बनाया था. मेरे लिए टीम का हिस्सा होना कप्तानी से कहीं अधिक महत्वपूर्ण था.’’ तेंदुलकर की भूमिका के बारे में पूछने पर धोनी ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि यह मेरे और उनके बीच होने वाली बातचीत से जुड़ा है. उदाहरण के लिए तेंदुलकर काफी तरह से गेंदबाजी कर सकता है और जब भी सचिन गेंदबाजी के लिए आता तो वह विकेट और बल्लेबाज के आधार पर पूछता कि सर्वश्रेष्ठ गेंद सीम, ऑफ स्पिन या लेग स्पिन होगी. इस दौरान जब मैं ईमानदारी से अपना नजरिया देता तो उसे विश्वास हो जाता कि मैं खेल को अच्छी तरह पढ़ रहा हूं.’’

 

जीत पर-

धोनी की कप्तानी में भारत द्वारा जीते गए बड़े टूर्नामेंट के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि मैं किसी एक को चुनकर यह नहीं कह सकता कि यह मेरे दिल के करीब है. वे सभी मेरे करीब हैं.’’

 

संन्यास के बाद-

क्रिकेट खेलना छोड़ने के बाद की योजना के बारे में पूछने पर धोनी ने कहा, ‘‘अच्छी चीज यह है कि मैंने काफी स्टंप इकट्ठे किए हैं लेकिन बुरी बात यह है कि मैंने उन पर कोई निशान नहीं लगाया कि यह किस मैच के हैं. इसलिए संन्यास लेने के बाद मैं अपने सभी मैचों के वीडियो देखूंगा और प्रयोजक के लोगों को पहचानकर यह जानने की कोशिश करूंगा कि कौन सा स्टंप किस मैच का है. वह क्रिकेट के पास समय बिताने का मेरा पसंदीदा जरिया होगा.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: dhoni birthday
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले धोनी ने नेट्स में दिखाया दम
श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले धोनी ने नेट्स में दिखाया दम

दाम्बुला: 20 अगस्त को श्रीलंका के खिलाफ शुरु...

'यो-यो' से हारे टीम इंडिया के युवराज
'यो-यो' से हारे टीम इंडिया के युवराज

नई दिल्ली: कैंसर को मात देकर क्रिकेट के मैदान पर वापसी करने वाले टीम इंडिया के सिक्सर किंग...

उमर अकमल ने पाक टीम के कोच मिकी आर्थर पर लगाया बदसलूकी का आरोप
उमर अकमल ने पाक टीम के कोच मिकी आर्थर पर लगाया बदसलूकी का आरोप

कराची: पाकिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाड़ी उमर अकमल ने दावा किया कि टीम के मुख्य कोच मिकी आर्थर ने...

अंडर-19 वर्ल्डकप शेड्यूल का ऐलान, टीम इंडिया की पहली भिड़ंत ऑस्ट्रेलिया से
अंडर-19 वर्ल्डकप शेड्यूल का ऐलान, टीम इंडिया की पहली भिड़ंत ऑस्ट्रेलिया से

Photo: Twitter दुबई: अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने गुरुवार को अंडर-19 विश्व कप क्रिकेट...

पीसीबी को आईसीसी से सुरक्षा मुद्दे पर हरी झंडी मिलने की उम्मीद
पीसीबी को आईसीसी से सुरक्षा मुद्दे पर हरी झंडी मिलने की उम्मीद

कराची: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को...

अपने पिता को थैंक्स बोलते हुए हार्दिक पांड्या ने दिया 'सरप्राइज़ गिफ्ट'
अपने पिता को थैंक्स बोलते हुए हार्दिक पांड्या ने दिया 'सरप्राइज़ गिफ्ट'

नई दिल्ली: चैम्पियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के खिलाफ दमदार पारी के बाद श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017