धोनी ने कहा, विश्व कप से पहले डेथ ओवरों की गेंदबाजी में सुधार चाहते हैं

By: | Last Updated: Saturday, 6 September 2014 8:36 AM

लीड्स: भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपने तेज गेंदबाजों को संदेश दे दिया है कि अगर वनडे विश्व चैम्पियन भारत को अगले साल आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में अपने खिताब की रक्षा करनी है तो तेज गेंदबाजों को ‘डेथ ओवरों’ में गेंदबाजी के अपने कौशल में सुधार करना होगा.

 

भारतीय टीम को पांचवें और अंतिम वनडे मैच में कल यहां इंग्लैंड के हाथों 41 रन की हार का सामना करना पड़ा लेकिन टीम इंडिया पांच मैचों की श्रृंखला 3-1 से जीतने में सफल रही.

 

धोनी ने कहा, ‘‘मैं डेथ ओवर में गेंदबाजी में सुधार करना चाहूंगा क्योंकि आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के हालात बिलकुल अलग होंगे. हमें न्यूजीलैंड में काफी मैच नहीं खेलने लेकिन वहां के मैदान काफी बड़े नहीं हैं.

 

इसलिए हम 40 ओवर के बाद स्पिनरों का काफी इस्तेमाल नहीं कर सकते और इससे कुछ हद तक तेज गेंदबाजों पर अतिरिक्त दबाव पड़ेगा क्योंकि उन्हें अधिक जिम्मेदारी लेनी होगी.’’

 

भारत को वेस्टइंडीज के खिलाफ स्वदेश में पांच मैचों की वनडे श्रृंखला खेलना है जबकि उसके बाद जनवरी में आस्ट्रेलिया में त्रिकोणीय श्रृंखला में भी हिस्सा लेना है जिसकी तीसरी टीम इंग्लैंड होगी.

 

धोनी ने कहा, ‘‘उनके लिए यह बेहद महत्वपूर्ण है कि वे आगामी मैचों का अच्छी तरह इस्तेमाल करें. लेकिन साथ ही वेस्टइंडीज के खिलाफ आगामी पांच मैचों की घरेलू सीरीज़ में हमें ओस देखने को मिलेगी इसलिए तेज गेंदबाजों को यार्कर फेंकने में दिक्कत हो सकती है या शायद वे रिवर्स स्विंग नहीं कर पाएं. ’’

 

 उन्होंने कहा, ‘‘इस श्रृंखला के दौरान के हालात वैसे नहीं होंगे जैसे कि बाद में आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में मिलेंगे.’’

 

इससे पहले धोनी ने पांचवें और अंतिम वनडे में टीम इंडिया की हार के लिए बल्लेबाजों को जिम्मेदार ठहराया जिन्होंने खराब शाट खेलकर विकेट गंवाए. धोनी ने मैच के बाद कहा, ‘‘कुल मिलाकर आज गेंदबाजी सामान्य थी. यह बल्लेबाजी के लिए अच्छा विकेट था और 300 रन का स्कोर बराबरी का था.’’

 

धोनी ने कहा, ‘‘उसने आज चीजों को अच्छी तरह से अंजाम दिया जिसकी मुझे लगता है कि अन्य तेज गेंदबाजों में कमी थी. निश्चित तौर पर उसने कुछ यार्कर के साथ शानदार गेंदबाजी की. मुझे जब भी उसकी जरूरत महसूस हुई या उसे जब भी गेंदबाजी सौंपी उसने अच्छी गेंदबाजी की. निश्चित तौर पर आज मैं उसकी गेंदबाजी से प्रभावित हूं.’’

 

धोनी ने हालांकि कुछ सवालों के जवाब उनके संदर्भ में नहीं दिए. इनमें से एक सवाल नये कोचिंग स्टाफ से जुड़ा था जिनके मार्गदर्शन में भारत ने पहली ही श्रृंखला में जीत दर्ज की.

 

एक अन्य सवाल खराब फार्म से जूझ रहे विराट कोहली से संबंधित था जो दौरे में अब तक अपनी छाप छोड़ने में नाकाम रहे हैं जबकि अब सिर्फ एक टी20 मैच खेला जाना बाकी है.

 

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘सब कुछ समान है. हमारे पास बल्लेबाजी कोच और गेंदबाजी कोच है. वे दो भाषाओं में बात करते हैं और उनके से एक हिंदी है. इसके अलावा तीन या पांच मैच में आप और कोई अंतर नहीं बता सकते.’’

 

कोहली के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, ‘‘यह श्रृंखला का अंत है. अब आगामी टी20 मैच के बारे में बात करते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन बीच के ओवरों में हमने खराब शाट खेलकर कुछ विकेट गंवाए. हमने काफी विकेट गंवा दिए जिससे हम बाद में लक्ष्य का पीछा करने की स्थिति में नहीं थे. खराब शाट खेलकर गंवाए गए विकेटों के कारण हमें मैच भी गंवाना पड़ा.’’

 

जो रूट ने अपना दूसरा वनडे शतक जड़ा जिससे इंग्लैंड वाइटवाश से बचते हुए अंतिम वनडे जीतने में सफल रहा. भारतीय कप्तान ने 52 रन देकर दो विकेट चटकाने वाले तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की तारीफ की जिन्होंने डेथ ओवरों में अच्छी गेंदबाजी की.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: dhoni_says_we_have_to_improve_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Cricket death overs Dhoni one day cricket
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017