2015 की उपलब्धियों को बेहतर करना मुश्किल: सानिया

By: | Last Updated: Friday, 20 November 2015 11:13 AM

हैदराबाद: स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने कहा कि 2015 से बेहतर वर्ष होना मुश्किल है. लेकिन वह कम से कम इस सीजन की उपलब्धियों की बराबरी करने के लिए कड़ी मेहनत करेंगी जिसमें उन्होंने दो ग्रैंडस्लैम खिताब जीते और साथ ही व्यक्तिगत युगल रैंकिंग में दुनिया की नंबर एक बनी.

 

सानिया ने कहा, ‘‘अगले साल, अगर इससे बेहतर नहीं कर पाए तो उम्मीद करते हैं कि हमने जो किया उसकी बराबरी कर पाएंगे. इससे बेहतर साल होना मुश्किल है. लेकिन क्या पता हम (युगल जोड़ीदार मार्टिना हिंगिस के साथ मिलकर) एक साथ क्या कर सकते हैं. एक और ग्रैंडस्लैम जीतना शानदार होगा.’’ सानिया ने 2015 में दो ग्रैंडस्लैम और हिंगिस के साथ आठ अन्य खिताब भी जीते.

 

उन्होंने कहा, ‘‘यह साल ही नहीं मेरा पूरा करियर शानदार रहा है. पिछले कुछ साल बेहतरीन रहे. एक साल में हमने कोर्ट पर दबदबा बनाए रखा. काफी चीजें हुई. यह काफी अच्छा है. यह कई वषरें का योगदान है.’’ सानिया ने कहा कि उन्होंने और उनकी जोड़ी स्विट्जरलैंड की महान खिलाड़ी हिंगिस ने जो प्रयास किए उससे उन्हें सफलता मिली.

 

सानिया ने कहा, ‘‘साथ ही मैंने और मार्टिना ने एक दूसरे का अच्छा साथ दिया. हम एक साथ काफी अच्छा खेले. हमने कोर्ट के अंदर और बाहर एक दूसरे का अच्छा साथ दिया. हम जब भी कोर्ट पर कदम रखते हैं तो अपने ही प्रदर्शन को बेहतर करने की कोशिश करते हैं.’’ सानिया ने कहा कि अगले सत्र में प्रतिस्पर्धा कड़ी होगी और अगर जरूरत पड़ी तो वह और हिंगिस अपने खेल में बदलाव करने का प्रयास करेंगे.

 

इस भारतीय स्टार खिलाड़ी ने कहा, ‘‘उम्मीद करते हैं कि इसकी (कुछ अलग करने की) जरूरत नहीं पड़ेगी. लेकिन अगले साल हम अधिक तैयारी के साथ उतरेंगे क्योंकि बाकी की अन्य टीमें भी अधिक तैयारी के साथ उतरेंगी. क्योंकि वे भी हमें हराने का तरीका ढूंढने की कोशिश करेंगी. हम लंबे समय से नहीं हारी हैं. इस स्थिति में आकर हम सम्मानित महसूस कर रहे हैं. जब भी जरूरत होगी हम हर संभव बदलाव करने की कोशिश करेंगे.’’ सानिया ने कहा कि वे रियो ओलंपिक में पदक जीतने की सर्वश्रेष्ठ कोशिश करेंगी लेकिन किसी खेल में पदक की कोई गारंटी नहीं है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘खेल में कुछ तय नहीं है. हम पदक जीतने के लिए जो भी संभव हो वह प्रयास करेंगे. अगर हम नहीं भी जीते तो भी जीवन आगे बढ़ेगा. अगर हम जीते तो यह सपना साकार होने जैसा होगा.’’ संन्यास के सवाल पर सानिया ने कहा, ‘‘मुझे नहीं पता. मैं साल दर साल के हिसाब से फैसला करूंगी. मैं खेलती रहूंगी. मैं स्वस्थ, खुश और संतुष्ट हूं और मुझे लगता है कि मेरे अंदर काफी टेनिस बचा है. इसलिए मैं अगले साल खेलूंगी. मैं प्रत्येक साल के हिसाब से फैसला करूंगी. मैं अगले साल को लेकर उत्सुक हूं.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Difficult to better achievements of 2015: Sania
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017