इंग्लैंड की मीडिया ने घुटने टेकने के लिए भारतीय टीम को निशाना बनाया

By: | Last Updated: Monday, 18 August 2014 7:34 AM

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम को पांचवें और अंतिम टेस्ट में इंग्लैंड के हाथों पारी और 244 रन की शर्मनाक हार के बाद ब्रिटिश मीडिया की आलोचना का सामना करना पड़ रहा है.

 

भारत के लचर प्रदर्शन में कल एक नयी कड़ी जुड़ी जब टीम को पिछले 40 साल में अपनी सबसे बड़ी हार का सामना करना पड़ा और टीम सिर्फ तीन दिन के भीतर ही हार गई जिससे इंग्लैंड ने श्रृंखला 3-1 से जीत ली.

 

ज्यौफ्री बायकाट ने ‘डेली टेलीग्राफ’ में अपने कालम में लिखा, ‘‘भारत को जब ओल्ड ट्रैफर्ड और द ओवल के सीम और स्विंग की अनुकूल पिचों पर बल्लेबाजी और गेंदबाजी करने को कहा गया तो उन्होंने बेहद खराब प्रदर्शन किया.’’ उन्होंने कहा, ‘‘उनके बल्लेबाजों में जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्राड जैसे दुनिया के दो सर्वश्रेष्ठ टेस्ट गेंदबाजों का सामना करने के लिए जज्बे और तकनीकी की कमी थी. इस तरह की पिचों पर वे किसी भी बल्लेबाज को ढेर कर सकते हैं और इन प्रतिभावान लड़कों (भारतीय बल्लेबाजों) को इन हालात में खेलने का कोई अनुभव नहीं था. भारतीय बल्लेबाज वध के लिए पहुंचने भेड़ के बच्चों की तरह थे.’’ भारतीय बल्लेबाजों ने एक बार फिर लचर प्रदर्शन किया और पूरी टीम सिर्फ 29.2 ओवर में 94 रन पर ढेर हो गई. ‘द इंडिपेंडेंट’ ने कहा, ‘‘भारतीय बल्लेबाजों की प्रतिष्ठा को नुकसान उठाना पड़ा है और विराट कोहली को तो कुछ अधिक ही नुकसान हुआ है.’’

 

समाचार पत्र ने कहा, ‘‘वह एकमात्र ऐसे बल्लेबाज के रूप में आया था तो खेल के सभी प्रारूपों में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज के खिताब के लिए एबी डिविलियर्स को चुनौती दे सकता है. वह श्रृंखला में सिर्फ 13.40 के औसत से रन बना पाया. वह जेम्स एंडरसन से सिर्फ 22 रन अधिक बना पाया जिसने उनसे पांच पारियां कम खेली. अब उसने कोई नया (सचिन) तेंदुलकर नहीं कह रहा. ’’ वर्ष 2011 के पिछले दौरे पर 0-4 की शिकस्त की तरह यह वाइटवाश को नहीं हैं लेकिन साउथम्पटन टेस्ट के साथ लगातार भारत की मुश्किलें बढ़ती रही और टीम को लगातार शर्मसार होना पड़ा.

 

बीबीसी ने कहा, ‘‘लोग अंतिम दो टेस्ट में बल्ले से भारत के लचर प्रयास के बारे में बात करेंगे लेकिन इससे इंग्लैंड की उपलब्ध्यिों की अनदेखी नहीं करनी चाहिए.’’ उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने ही भारत को ऐसी स्थिति में डाला और जब आप मैदान पर टीम के रूप में उतरते हो तो आपको निर्ममता दिखानी होती है. मेहमान टीम के लिए सबसे बड़ी समस्या यह रही कि सबसे पहले तो उन्होंने एंडरसन-जडेजा विवाद से अपना ध्यान पूरी तरह भटकने दिया और दूसरा, टेस्ट मैचों के बीच में उनके पास इतना समय नहीं था कि खिलाड़ी एकजुट हो सकें और फार्म हासिल कर सके.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: england_media_team_india
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले धोनी ने नेट्स में दिखाया दम
श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले धोनी ने नेट्स में दिखाया दम

दाम्बुला: 20 अगस्त को श्रीलंका के खिलाफ शुरु...

'यो-यो' से हारे टीम इंडिया के युवराज
'यो-यो' से हारे टीम इंडिया के युवराज

नई दिल्ली: कैंसर को मात देकर क्रिकेट के मैदान पर वापसी करने वाले टीम इंडिया के सिक्सर किंग...

उमर अकमल ने पाक टीम के कोच मिकी आर्थर पर लगाया बदसलूकी का आरोप
उमर अकमल ने पाक टीम के कोच मिकी आर्थर पर लगाया बदसलूकी का आरोप

कराची: पाकिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाड़ी उमर अकमल ने दावा किया कि टीम के मुख्य कोच मिकी आर्थर ने...

अंडर-19 वर्ल्डकप शेड्यूल का ऐलान, टीम इंडिया की पहली भिड़ंत ऑस्ट्रेलिया से
अंडर-19 वर्ल्डकप शेड्यूल का ऐलान, टीम इंडिया की पहली भिड़ंत ऑस्ट्रेलिया से

Photo: Twitter दुबई: अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने गुरुवार को अंडर-19 विश्व कप क्रिकेट...

पीसीबी को आईसीसी से सुरक्षा मुद्दे पर हरी झंडी मिलने की उम्मीद
पीसीबी को आईसीसी से सुरक्षा मुद्दे पर हरी झंडी मिलने की उम्मीद

कराची: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को...

अपने पिता को थैंक्स बोलते हुए हार्दिक पांड्या ने दिया 'सरप्राइज़ गिफ्ट'
अपने पिता को थैंक्स बोलते हुए हार्दिक पांड्या ने दिया 'सरप्राइज़ गिफ्ट'

नई दिल्ली: चैम्पियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के खिलाफ दमदार पारी के बाद श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017