लंका में बजा कोहली का डंका, पांच साल बाद मिली जीत के पांच कारण

By: | Last Updated: Monday, 24 August 2015 11:34 AM
five reason_team india_win_2nd test

नई दिल्लीः कोलंबो के पी सारा ओवल मैदान पर भारत ने श्रीलंका को 278 रनों से हराकर 10 मैच बाद जीत का स्वाद चखा. टेस्ट कप्तान के रुप में विराट कोहली की ये पहली जीत है. सोमवार को मैच के पांचवें दिन भारत ने लंच के तूरंत बाद जीत दर्ज कर ली. इस जीत के साथ ही टीम इंडिया ने पहले टेस्ट में मिले हार का बदला भी ले लिया. साथ ही श्रीलंका में पांच साल बाद जीत का स्वाद भी चखा. भारत की इस जीत के मुख्य तौर पर ये 5 कारण रहे: –

 

दोनों पारी में सलमी बल्लेबाज का टिकना –

भारत की इस जीत में ओपनर ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. खास तौर पर मैन ऑफ द मैच के एल राहुल ने. पहली पारी में जल्द गिरे दो विकेट के बाद राहुल ने जिस तरह से कोहली के साथ तीसरे विकेट के लिए 164 रन और चौथे विकेट के लिए रोहित शर्मा के साथ 55 रन जोड़े उससे टीम को मजबूत स्कोर मिला. दूसरी इनिंग में राहुल फेल हुए तो मुरली विजय ने मोर्चा संभाला और तेजी से 82 रन बनाए.

 

रहाणे का धमाल –

पहली पारी में अचानक प्रमोट कर तीसरे नंबर पर खेलने आए अजिंक्या रहाणे ने दूसरी पारी में शानदार खेल दिखाते हुए 126 रन की शतकीय पारी खेली. दूसरी पारी में टीम को एक तरफ से ऐसी ही पारी की उम्मीद थी और रहाणे ने कमाल कर दिया. श्रीलंका के खिलाफ 16 साल बाद इस नंबर पर बैटिंग करते हुए किसी भारतीय ने सेन्चुरी लगाई. आखिरी बार 1999 में राहुल द्रविड़ ने 107 रन बनाए थे.

 

स्पिन जोड़ी का कमाल-

 

आर अश्विन और अमित मिश्रा की जोड़ी इस सीरीज में भारत की नई ताकत बनकर सामने आई है. दोनों ने पहले टेस्ट में भी अच्छी गेंदबाजी की थी लेकिन बल्लेबाजों का साथ नहीं मिला पर दूसरे टेस्ट में अश्विन-मिश्रा की मेहनत बेकार नहीं गई और भारत ने श्रीलंका को हरा दिया. पहले टेस्ट में 10 विकेट लेने वाले अश्विन ने दूसरे टेस्ट में 7 बल्लेबाजों को आउट करके टीम की जीत में बड़ा रोल निभाया. दूसरी तरफ इस सीरीज से टीम इंडिया में वापसी करने वाले अमित मिश्रा ने भी साबित कर दिया की उनमें काफी दम खम बाकी है. अमित मिश्रा ने श्रीलंका सीरीज के 2 टेस्ट में अब तक 12 विकेट लिए हैं.

 

 

श्रीलंका की गैरजिम्मेदाराना बल्लेबाजी –

श्रीलंका को दूसरी पारी में 413 रन बनाने थे लेकिन पहले विकेट के गिरने से ही साफ हो गया था कि श्रीलंका इस मैच को बचाने में कामयाब नहीं हो सकती. श्रीलंकाई बल्लेबाजों ने गैरजिम्मेदाराना बल्लेबाजी की जिससे भारतीय गेंदबाजों को हावी होने को मौका मिल गया. श्रीलंका का कोई भी खिलाड़ी टिककर नहीं खेल सका. पूरी टीम सिर्फ 134 रन ही बना सकी. चौथे दिन का खेल खत्म होने पर ही उसके 2 विकेट सिर्फ 72 रन के भीतर गिर गए थे. आखिरी दिन तो हालत और भी खराब रही. सिर्फ 62 रन पर ही बाकी 8 विकेट्स भी गिर गए.

 

 

कोहली की कप्तानी –

अंत में इस जीत की वाहवाही में कप्तान कोहली भी शामिल हैं. कप्तान ने इस मैच में सटीक रणनीति अपनाई. उन्होंने गेंदबाजों का चयन और उनकी गेंदबाजी का सही इस्तेमाल किया. बादल के आते ही वो गेंद तेज गेंदबाजों को थमा देते थे जिसका उन्हें फायदा भी हुआ. वहीं सही समय पर दूसरी पारी को घोषित करना भी उनकी रणनीति को सही साबित करता है. ये जीत उनके लिए खास है क्योंकि ये उनकी पहली टेस्ट जीत है.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: five reason_team india_win_2nd test
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017