विदेशी जमीन पर मिली हार के लिए धोनी जिम्मेदारः चैपल

By: | Last Updated: Sunday, 24 August 2014 10:18 AM

मेलबर्न: विदेशों में भारत की लगातार हार के लिए महेंद्र सिंह धोनी को जिम्मेदार ठहराते हुए ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल ने कहा कि अगर टीम इंडिया पूर्ण चुनौती पेश करने में नाकाम रही तो फिर ऑस्ट्रेलिया की प्रतिस्पर्धी टीम के खिलाफ एक बार फिर उसकी हार तय है.

 

चैपल ने विदेशी सरजमीं पर भारत के लचर प्रदर्शन के बारे में कहा, ‘‘हार में कोई शर्म की बात नहीं है. यह क्रिकेट जीवन का हिस्सा है. हालांकि अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता के मुताबिक प्रतिस्पर्धा पेश करने में नाकाम रहना शर्म की बात है. भारत ने ब्रिटेन के अपने पिछले दो दौरों और ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर अधिकांश समय यही किया.’’ चैपल ने कहा कि हाल में टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड के दौरान 1-3 की शिकस्त पिछली हारों से भी बुरी है क्योंकि भारत ने लॉर्डस में मनोबल बढ़ाने वाली जीत दर्ज की थी.

 

चैपल ने ईएसपीनक्रिकइंफो से कहा, ‘‘इसका इस्तेमाल सीरीज में बढ़त को आगे बढ़ाने के लिए किया जाना चाहिए था लेकिन यह गर्त में गिरने की ओर उठाया गया कदम साबित हुआ.’’चैपल ने कहा, ‘‘अगर भारत खराब बल्लेबाजी, गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण जारी रखता है तथा धोनी की लचर कप्तानी में पूर्ण प्रतिस्पर्धा पेश करने में नाकाम रहता है जो ऑस्ट्रेलिया की प्रतिस्पर्धी टीम के खिलाफ एक और आत्मसमर्पण तय है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘भारत की इन हारों में धोनी ने लगातार गलतियां की. तीनों मामलों में – पहले दो सीरीज में पूरे समय और हाल की सीरीज के अंतिम दो मैचों में उनकी कप्तानी टीम को प्रेरित करने में नाकाम रही.’’ चैपल ने धोनी की कप्तानी ही नहीं बल्कि उनकी विकेटकीपिंग की भी आलोचना की.

 

उन्होंने कहा, ‘‘पहली स्लिप काफी मुश्किल जगह बन गई है क्योंकि धोनी ने बल्लेबाज की ऑफ साइड में सीधे कैच के अलावा अन्य मौकों पर प्रयास करना छोड़ दिया है. उनकी कमजोरी ने ना सिर्फ स्लिप खिलाड़ियों की पहुंच कम कर दी है बल्कि इससे पहली स्लिप में खड़े खिलाड़ी के दिमाग में भ्रम भी पैदा होता है.’’ धोनी की चयन नीति की आलोचना करते हुए चैपल ने कहा, ‘‘मैं कभी चयन में कप्तान का वोट होने के पक्ष में नहीं रहा. उसे बात सुनी जानी चाहिए लेकिन उसे वोट का अधिकार नहीं मिलना चाहिए. इस सीरीज में धोनी ने काफी उदाहरण पेश किए कि ऐसा क्यों होना चाहिए. ऑलराउंडर के रूप में उसका स्टुअर्ट बिन्नी का चयन करना बेतुका था. इसके अलावा खिलाड़ी के प्रति उसका बर्ताव हैरानी भरा था. बिन्नी के आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने के बावजूद उसने गेंदबाज के रूप में उसका बेहद कम इस्तेमाल किया.’’ उन्होंने कहा, ‘‘रविंद्र जडेजा को शीर्ष स्पिनर के रूप में चुनना गंभीर गलती थी. धोनी ने इसके बाद साउथम्पटन में उसका इस्तेमाल पार्ट टाइम के रूप में किया जो यह साबित करने का प्रयास दिखा कि वह शीर्ष स्पिन गेंदबाज नहीं है.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ian chappel_indian team
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

ENGvsWI: कुक के दोहरे शतक से इंग्लैंड का विशाल स्कोर, वेस्टइंडीज़ की खराब शुरूआत
ENGvsWI: कुक के दोहरे शतक से इंग्लैंड का विशाल स्कोर, वेस्टइंडीज़ की खराब शुरूआत

बर्मिंघम: पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक के करियर के चौथे दोहरे शतक की मदद से इंग्लैंड ने...

BCCI से एनओसी पाने के लिये केरल हाईकोर्ट पहुंचे श्रीसंत
BCCI से एनओसी पाने के लिये केरल हाईकोर्ट पहुंचे श्रीसंत

कोच्चि: क्रिकेटर एस श्रीसंत ने बीसीसीआई से अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) के लिए केरल हाईकोर्ट...

डे-नाइट टेस्ट मैच में दोहरा शतक लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने एलिस्टेयर कुक
डे-नाइट टेस्ट मैच में दोहरा शतक लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने एलिस्टेयर कुक

बर्मिंघम: पाकिस्तान के अजहर अली के बाद एलिस्टेयर कुक डे-नाइट टेस्ट मैच में दोहरा शतक जड़ने वाले...

टेनिस: सिनसिनाटी ओपन के क्वार्टर फाइनल में कोंटा
टेनिस: सिनसिनाटी ओपन के क्वार्टर फाइनल में कोंटा

बासिल: ब्रिटेन की स्टार महिला टेनिस खिलाड़ी योहाना कोंटा ने सिनसिनाटी ओपन टेनिस टूर्नामेंट के...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017