जडेजा-एंडरसन विवाद में आईसीसी पर उठे सवाल

By: | Last Updated: Tuesday, 5 August 2014 5:53 AM

नई दिल्लीः टीम इंडिया के ऑल राउंडर रवींद्र जडेजा और इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन को आईसीसी ने क्लीन चिट दे दिया है, लेकिन अब आईसीसी के इस क्लीन इमेज वाली छवि ही संदेह के घेरे में है. इस विवाद में कई ऐसे मोड़ आए जब ये मुद्दा सुर्खियों में आया. पहले तो  बीसीसीआई की शिकायत ने इसे गरमाया. जिसके जवाब में ईसीबी ने पहले तो एंडरसन का बचाव किया और फिर जब बात नहीं बनी तो उसने जडेजा पर ही आरोप लगा दिया.

 

इस विवाद में सबसे बड़ा सवाल आईसीसी के बर्ताव पर उठा है. सबसे पहले जहां इस विवाद की सुनवाई के लिए दो अलग तारीख तय किए गए और जडेजा पर फैसला पहले सुना दिया गया, जबकि शिकायत एंडरसन के बर्ताव को लेकर पहले की गई थी. मैच रैफरी डेविड बून ने जडेजा को लेवल-2 की जगह लेवल-1 का दोषी मानते हुए उन पर 50 फीसदी मैच फीस का जुर्माना भी ठोक दिया. लेकिन जब एक अगस्त में इस पूरे विवाद पर फैसला आया तो कई लोग चौंक गए. जिस विवाद में जडेजा पर जुर्माना किया गया उससे ज्यादा गंभीर विषय वाले एंडरसन को दोषी नहीं पाया गया. हालाकि इस फैसले ने जडेजा के लिए भी राहत की खबर लाई और उन्हें न सिर्फ दोषमुक्त किया गया बल्कि उनका जुर्माना भी माफ हो गया.

 

लेकिन सवाल अभी भी आईसीसी के फैसले पर ही अटकी है.

 

पहला सवाल तो यह है कि क्या जडेजा के खिलाफ फैसला लेने में आईसीसी ने जल्दबाजी की थी? अगर किया तो फिर क्यों? अगर पहली सुनवाई में जडेजा दोषी थे तो फिर बाद में ऐसा क्या हो गया कि आईसीसी को निर्णय बदलना पड़ गया?

 

दूसरा सवाल, इस विवाद में लेवल थ्री के आरोपी एंडरसन को दोष मुक्त करके क्या आईसीसी अपने उदार रुख को सबके सामने रखना चाहती है?

 

तीसरा सवाल,अगर इस पूरे विवाद में कोई मामला बना ही नहीं तो फिर मैच रैफरी डेबिड बून के पहले गलत फैसले पर आईसीसी ने कोई रुख क्यों नहीं अपनाया? क्या बून ने इस मामले में जल्दबाजी नहीं की?

 

ये कुछ सवाल हैं जो हर कोई जानना चाहता है. उम्मीद है कि आईसीसी इस पूरे मामले को विस्तार से बताकर अपना पक्ष जल्द सबके सामने रखेगी.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: icc-role-in-jadega-anderson-case
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017