संगम, कुंभ और ‘आस्था के रंग’

By: | Last Updated: Wednesday, 4 February 2015 6:08 PM
inauguration_photo_Exhibition_Bhopal_sunil_umarao

नई दिल्ली: आम तौर पर तीर्थराज प्रयाग यानी इलाहाबाद की पहचान गंगा, यमुना और सरस्वती नदियों के संगम के रुप में की जाती है लेकिन इन दिनों इसे मिला है एक नया आयाम. जिससे यह बन गया है धर्म, श्रद्धा और विश्वास का संगम.

जी हां! मंगलवार को भोपाल के भारत भवन के प्रांगण में आयोजित ‘आस्था के रंग’ नामक फोटो प्रदर्शनी में धर्म और आस्था की एक नई झलक देखने को मिली. 12 साल के अंतराल पर लगने वाले कुंभ को नए दृष्टिकोण देने वाली इन तस्वीरों के अनूठे संगम को देखने के लिए कलाप्रेमीओं का जमावड़ा लगा रहा.

 

छह दिनों (3-8 फरवरी) तक चलने वाले इस प्रदर्शनी का उद्घाटन मध्य प्रदेश के प्रमुख सचिव (संस्कृति) मनोज श्रीवास्तव ने मंगलवार को दीप प्रज्वलित कर किया. इस मौके पर उन्होंने कहा कि ‘इस प्रदर्शनी में प्रदर्शित चित्र प्रयाग के कुंभ को एक नए नजरिए से देखने का प्रतिफल है.’

 

वहीं कार्यक्रम के आयोजक और इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग में टीचर सुनील उमराव का मानना हैं कि ‘इस प्रदर्शनी में शामिल चित्र संगम की रेती पर लगने वाले सांस्कृतिक, धार्मिक मान्यताओं के विविध रंगों को एक नए स्वरुप में देखने की कोशिश है.’

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि भोपाल के कलेक्टर निशांत वरवड़े और एसएसपी भोपाल श्रीनिवास वर्मा सहित आइएएस स्वाती मीणा, संचालक ‘व्यापम’ तरूण चिथौडे, अजय अमेरिया, संदीप दूबे, भारत भवन के अधिकारी और कर्मचारी समेत तमाम दर्शक मौजूद रहें.

 

आपको बता दें कि इस प्रदर्शनी में फोटोग्राफर सुनील उमराव द्वारा 2013 में प्रयाग कुंभ के दौरान खींचे गए 34 फोटोग्राफ्स को प्रदर्शित किया गया. जिसमें कुंभ के दौरान संगम पर दिखे ‘आस्था के रंग’.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: inauguration_photo_Exhibition_Bhopal_sunil_umarao
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017