ऑस्ट्रेलिया पर क्लीनस्वीप के साथ भारत बना नंबर वन

By: | Last Updated: Sunday, 31 January 2016 6:12 PM
India beat Australia by 7 wickets, complete 3-0 rout

सिडनी: रोहित शर्मा और विराट कोहली के अर्धशतकों के बाद सुरेश रैना की ताबड़तोड़ पारी की मदद से भारत ने तीसरे और अंतिम टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में ऑस्ट्रेलिया को सात विकेट से हराकर 3-0 से क्लीनस्वीप किया. भारत ने इस जीत के साथ ही ऑस्ट्रेलियाई कप्तान और मैन ऑफ द मैच शेन वाटसन के रिकॉर्ड नाबाद शतक को बेकार करते हुए विश्व कप से पहले नंबर वन टीम का स्थान भी हासिल कर लिया.

भारत इस सीरीज से पहले आठवें स्थान पर था. टीम इंडिया इसके अलावा टेस्ट क्रिकेट में नंबर एक और वनडे में नंबर दो टीम है.

ऑस्ट्रेलिया के 198 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने रोहित (52) और विराट कोहली (50) के अर्धशतकों के अलावा रैना की 25 गेंद में नाबाद 49 रन की पारी से अंतिम गेंद पर तीन विकेट पर 200 रन बनाकर टी20 क्रिकेट में लक्ष्य का पीछा करते हुए अपनी तीसरी सबसे बड़ी जीत दर्ज की. रैना ने छह चौके और एक छक्का जड़ा. इसके साथ ही भारत ने ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर पहली बार द्विपक्षीय श्रृंखला जीती और उसमें क्लीनस्वीप भी किया.

रैना ने युवराज सिंह (12 गेंद में नाबाद 15) के साथ चौथे विकेट के लिए 5.1 ओवर में 53 रन की अटूट साझेदारी की.

भारत को अंतिम दो ओवर में जीत के लिए 22 रन की दरकार थी लेकिन वाटसन (एक विकेट पर 30 रन) ने 19वें ओवर में सिर्फ पांच रन दिए जिसके बाद अंतिम ओवर एंड्रयू टाई (बिना विकेट के 51 रन) करने आए जिसमें भारत को 17 रन चाहिए थे. युवराज ने उनकी पहली दो गेंदों पर चौका और छक्का जड़ा. तीसरी गेंद पर बाई का एक रन लेने के बाद रैना ने अगली दो गेंदों पर दो-दो रन बनाए और फिर अंतिम गेंद पर चौके के साथ भारत को जीत दिलाई.

इससे पहले वाटसन ने जीवनदान का फायदा उठाकर अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलते हुए 71 गेंद में छह छक्कों और 10 चौकों की मदद से नाबाद 124 रन बनाए जो टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दूसरा सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर है. उनकी इस पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने पांच विकेट पर 197 रन बनाए. उन्होंने शान मार्श (09) के साथ दूसरे विकेट के लिए 53 और ट्रेविस हेड (26) के साथ चौथे विकेट के लिए 93 रन की साझेदारी की.

rohit virat
लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत के लिए शिखर धवन (26) और रोहित (52) ने पहले विकेट के लिए 3.2 ओवर में तेजी से 46 रन जोड़े. रोहित ने शॉन टैट पर चौका जड़कर खाता खोला और फिर स्कॉट बोलैंड पर भी चौका जड़ा. धवन ने भी टैट की लगातार गेंदों पर दो चौके और एक छक्का मारा. इस ओवर में 24 रन बने. धवन ने वाटसन की पहली गेंद पर भी चौका जड़ा लेकिन अगली गेंद पर विकेटकीपर कैमरन बेनक्राफ्ट को कैच दे बैठे.

रोहित और कोहली ने इसके बाद ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों की अनुभवहीनता का पूरा फायदा उठाया. कोहली ने एंड्रयू टाई पर छक्का जड़ा. भारत ने पावर प्ले में एक विकेट पर 74 रन बनाए. रोहित ने भी बोलैंड और वाटसन पर चौके मारे. दोनों ने 10वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया.

रोहित ने ग्लेन मैक्सवेल पर छक्का जड़ा और फिर बोलैंड पर चौका और एक रन के साथ 35 गेंद में नौवां अर्धशतक पूरा किया. वह हालांकि इसके बाद स्पिनर कैमरन बायस की गेंद पर वाटसन को कैच दे बैठे. उन्होंने 38 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके और एक छक्का मारा. इस पारी के दौरान रोहित, कोहली और सुरेश रैना के बाद टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 1000 रन पूरे करने वाले तीसरे भारतीय बल्लेबाज बने.

रैना ने जब खाता भी नहीं खोला था तब बायस की गेंद पर बेनक्राफ्ट उन्हें स्टंप करने से चूक गए. रैना ने अगली गेंद पर स्लाग स्वीप से छक्का जड़ा. कोहली ने भी बायस पर चौके और फिर लगातार गेंदों पर दो रन के साथ 35 गेंद में लगातार तीसरा अर्धशतक पूरा किया लेकिन अगली गेंद पर वह बोल्ड हो गए. उन्होंने 36 गेंद की अपनी पारी में दो चौके और एक छक्का मारा.

भारत को अंतिम पांच ओवर में जीत के लिए 51 रन चाहिए थे और रैना ने जिम्मेदारी संभालते हुए युवराज के साथ मिलकर टीम को जीत दिला दी. भारत ने इस तरह वनडे सीरीज में लगातार चार मैच गंवाने के बाद ऑस्ट्रेलिया दौरे का अंत लगातार चार जीत के साथ किया. बायस सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 28 रन देकर दो विकेट चटकाए. वह मैच के सबसे सफल और किफायती गेंदबाज रहे. टैट ने चार ओवर में 46 रन लुटाए जबकि उन्हें कोई विकेट नहीं मिला.

watson

इससे पहले वाटसन टी20 में कप्तान के रूप में सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर बनाने में सफल रहे. वाटसन पहले बल्लेबाज हैं जिन्होंने भारत के खिलाफ टी20 में शतक जड़ा. इससे पहले भारत के खिलाफ सर्वाधिक व्यक्तिगत पारी वेस्टइंडीज के क्रिस गेल के नाम थी जिन्होंने मई 2010 में ब्रिजटाउन में 98 रन बनाए थे. कार्यवाहक कप्तान वाटसन ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और टीम को तेज शुरूआत दिलाई. उस्मान ख्वाजा (14) ने जसप्रीत बुमराह का स्वागत दो चौकों के साथ किया लेकिन अगले ओवर में आशीष नेहरा की गेंद पर विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी को कैच दे बैठे.

छठी गेंद पर खाता खोलने वाले वाटसन ने इसके बाद मोर्चा संभाला. वाटसन ने नेहरा पर मिडविकेट के उपर से छक्का जड़ने के बाद बुमराह पर लगातार दो चौके मारे. उन्होंने नेहरा के अगले ओवर में भी लगातार दो चौके मारे. ऑस्ट्रेलिया ने पावर प्ले के छह ओवर में एक विकेट पर 57 रन बनाए.

वाटसन ने हार्दिक पांड्या पर चौके के साथ 37 गेंद में अपना 11वां अर्धशतक पूरा किया.

हेड ने भी युवराज की लगातार गेंदों पर छक्का और चौका जड़कर 12वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया. विराट कोहली ने हार्दिक पांड्या की गेंद पर वाटसन को 56 रन के निजी स्कोर पर डीप कवर में जीवनदान दिया जिसका फायदा उठाते हुए उन्होंने इस तेज गेंदबाज पर दो चौके मारे. धोनी भी 72 और 122 रन के निजी स्कोर पर वाटसन को रन आउट करने से चूक गए. वाटसन ने 17वें ओवर में जडेजा पर दो छक्के और एक चौके की मदद से 19 रन जुटाए और इस दौरान 60 गेंद में शतक पूरा किया. जडेजा ने इसी ओवर में हेड को बोल्ड किया. वाटसन ने 19वें ओवर में नेहरा पर लांग आन पर पारी का अपना छठा छक्का जड़ा.

वाटसन की तूफानी पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने अंतिम 10 ओवर में 117 रन जुटाए.

भारत के सभी गेंदबाज काफी महंगे साबित हुए. बुमराह ने 43 जबकि जडेजा ने 41 रन लुटाए. दोनों ने एक एक विकेट हासिल किया. नेहरा, अश्विन और युवराज को भी एक एक विकेट मिला.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: India beat Australia by 7 wickets, complete 3-0 rout
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017