INDvsAUS: पांडे के शतक ने दिलाई टीम इंडिया को रोमांचक जीत

By: | Last Updated: Saturday, 23 January 2016 5:23 PM
india beat australia in final one day

सिडनी: रोहित शर्मा और शिखर धवन से मिली शानदार शुरूआत के बाद युवा बल्लेबाज मनीष पांडे के करियर के पहले शतक की बदौलत भारत ने रोमांच की पराकाष्ठा पर पहुंचे पांचवें और अंतिम वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया को छह विकेट से हरा दिया. इसके साथ ही आस्ट्रेलिया की क्लीन स्वीप की मंशा भी पूरी नहीं हो पाई. ऑस्ट्रेलिया पहले चारों मैच जीतकर सीरीज अपने नाम कर चुका था लेकिन उसकी निगाह क्लीन स्वीप पर टिकी थी जबकि भारत के सामने प्रतिष्ठा बचाने का सवाल था.

आखिर में सीरीज का परिणाम 4-1 से ऑस्ट्रेलिया के पक्ष में रहा. भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर ऑस्ट्रेलिया को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया. भारतीय गेंदबाजों ने सीरीज में पहली बार शुरू में कसी हुई गेंदबाजी की. ऑस्ट्रेलिया का स्कोर एक समय चार विकेट पर 117 रन था लेकिन सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर (113 गेंदों पर 122 रन) ने एक छोर संभाले रखा. उन्होंने मिशेल मार्श (84 गेंदों पर नाबाद 102 रन) के साथ पांचवें विकेट के लिए 118 रन की साझेदारी की. इससे ऑस्ट्रेलिया ने सात विकेट पर 330 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया. बड़े लक्ष्य के सामने शिखर धवन (56 गेंदों पर 78) और रोहित (106 गेंदों पर 99) ने पहले विकेट के लिए 18.2 ओवर में 123 रन जोड़कर भारत को अच्छी शुरूआत दिलायी, लेकिन वह पांडे थे जिन्होंने टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया. कर्नाटक के इस बल्लेबाज ने विषम परिस्थितियों में 81 गेंदों पर 104 रन की नाबाद पारी खेली जिसमें आठ चौके और एक छक्का शामिल है. उन्होंने धोनी (42 गेंदों पर 34 रन) के साथ चौथे विकेट के लिये 94 रन जोड़े. भारत ने आखिर में 49.4 ओवर में चार विकेट पर 331 रन बनाकर 26 जनवरी से शुरू होने वाली टी20 सीरीज से पहले मनोबल बढ़ाने वाली जीत दर्ज की.

Australia India Cricket
स्टीव स्मिथ ने नाथन लियोन को गेंद सौंपी लेकिन धवन ने उन पर छक्का लगाकर 42 गेंदों में अपना 17वां अर्धशतक पूरा किया. आखिर में हेस्टिंग्स ने धवन को आउट करके यह साझेदारी तोड़ी लेकिन तारीफ करनी होगी शॉन मार्श की जिन्होंने डीप प्वाइंट पर खूबसूरत कैच लपका. हेस्टिंग्स ने अगले ओवर में विराट कोहली (आठ) को विकेट के पीछे कैच कराकर ऑस्ट्रेलिया को बड़ी सफलता दिलायी. पांडे पर बड़ी जिम्मेदारी थी जिस पर वह खरा उतरे. उन्होंने रोहित का न सिर्फ अच्छा साथ दिया बल्कि रन रेट भी नहीं गिरने दिया. रोहित ने इस बीच वनडे में अपना 28वां अर्धशतक पूरा किया. इसके बाद उन्होंने अधिक तेजी दिखायी और एकदिवसीय मैचों में 5000 रन भी पूरे किए. इस बीच उन्हें जीवनदान भी मिला और जब लग रहा था कि वह सीरीज में तीसरा शतक पूरा करने में सफल रहेंगे तब हेस्टिंग्स की गेंद उनके बल्ले को चूमती हुई मैथ्यू वेड के दस्तानों में समा गयी. रोहित ने अपनी पारी में नौ चौके और एक छक्का लगाया. धोनी पगबाधा की करीबी अपील से बचे और फिर उनका कैच भी छूटा लेकिन भारतीय कप्तान रन बनाने के लिए जूझते रहे. पांडे ने इस बीच जरूर रन गति बनाए रखने की कोशिश की.

भारत को आखिरी ओवर में 13 रन चाहिए थे. मिशेल मार्श ने पहली गेंद वाइड की और धोनी ने अगली गेंद पर छक्का जड़ दिया. अब छह गेंद पर पांच रन की दरकार थी लेकिन धोनी कैच देकर पवेलियन लौट गए. पांडे ने थर्ड मैच पर खूबसूरत चौका जड़कर वनडे में अपना पहला शतक पूरा किया और फिर अगली गेंद पर दो रन लेकर टीम को जीत दिलायी.

Australia India Cricket

भारतीय गेंदबाजों में ईशांत ने 60 रन देकर दो विकेट लिए लेकिन अपना पहला वनडे खेल रहे जसप्रीत बमराह ने काफी प्रभावित किया और अपने दस ओवर में 40 रन देकर दो विकेट हासिल किए. उमेश यादव फिर से महंगे साबित हुए. उन्होंने आठ ओवर 82 रन देकर एक विकेट लिया. ऑस्ट्रेलिया ने पिछले मैच में शतक जड़ने वाले एरोन फिंच (छह) का विकेट ईशांत के पहले ओवर में ही गंवा दिया. इसके बाद वार्नर ने कप्तान स्मिथ (28) के साथ 58 रन की साझेदारी की. बमराह ने स्मिथ के रूप में अपना पहला विकेट लिया और इसके बाद जॉर्ज बेली और शान मार्श भी अधिक देर तक नहीं टिक पाए.

वार्नर और मिशेल मार्श ने लगभग सात रन प्रति ओवर की दर से स्कोर आगे बढ़ाया. वार्नर शतक पूरा करने के बाद ईशांत की गेंद पर स्लैश करने के प्रयास में रविंद्र जडेजा को कैच दे बैठे. मिशेल मार्श हालांकि क्रीज पर जमे रहे और उन्होंने मैथ्यू वेड (27 गेंद पर 36 रन) के साथ 85 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की जिससे ऑस्ट्रेलिया फिर से एक और बड़ा स्कोर खड़ा करने में सफल रहा. मिशेल ने आखिरी ओवर में शतक पूरा किया. भारतीय टीम ने टीम में दो बदलाव किए. चोटिल अंजिक्य रहाणे की जगह पांडे को रखा गया जबकि आधिकारिक तौर पर वनडे टीम में नहीं चुने गये बमराह को पदार्पण करने का मौका दिया गया. वह टी20 टीम से जुड़ने के लिये जल्दी ऑस्ट्रेलिया आ गये थे और भुवनेश्वर कुमार के चोटिल होने के कारण उन्हें यह मौका मिल गया. ऑस्ट्रेलिया ने ग्लेन मैक्सवेल की जगह शॉन मार्श और केन रिचर्डसन के स्थान पर स्काट बोलैंड को अंतिम एकादश में रखा.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: india beat australia in final one day
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017