IND Vs SA: रोमांचक मुकाबले में जीतते-जीतते हार गया भारत

By: | Last Updated: Sunday, 11 October 2015 11:36 AM
India lost first one day at Kanpur

नई दिल्ली/कानपुर: पहले वनडे में दक्षिण अफ्रीका के विशाल स्कोर का पीछा करते हुए भारतीय टीम आखिरी ओवरों में लड़खड़ा गई और फिर उसे बुरी हार का सामना करना पड़ा.

 

रोमांचक मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 5 रनों से शिकस्त दी. आखिरी ओवर तक भारत के लिए जीत की उम्मीदें जिंदा थी और कप्तान धोनी के हाथों में बल्ला था, लेकिन राबाडा ने 50वें ओवर में अपनी चौथी गेंद पर धोनी को पवेलियन भेजकर भारत की हार पर मुहर लगा दी. आखिरी ओवर की पांचवीं गेंद पर राबाडा ने बिन्नी को पवेलियन भेजकर अफ्रीका की जीत को पक्का कर दिया.

IND Vs SA: आखिरी 4 ओवर जो टीम इंडिया पर भारी पड़े, जब लिखी गई हार की इबारत 

इस जीत के साथ ही दक्षिण अफ्रीका पांच वनडे मैचों की सीरीज़ में 1-0 से आगे हो गया है. इससे पहले टी-20 सीरीज़ भी दक्षिण अफ्रीका 2-0 से जीत चुका है.

INDvsSA: ‘ग्रेट फिनिशर’ पर भारी पड़ा 20 साल का गेंदबाज 

दक्षिण अफ्रीका ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए भारत के सामने जीत के लिए 304 रनों का लक्ष्य रखा, रोहित ने शकतकीय पारी खेलकर भारत की जीत की उम्मीदें जगाई थीं, जिसे धोनी की नाकामी और रबाडा की शानदार गेंदबाज़ी ने दफ्न कर दिया.

 

रोहित का शतक बेकार गया

 

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए दक्षिण अफ्रीका ने 304 रनों का लक्ष्य दिया. ये लक्ष्य भारत के लिए मुश्किल जरूर था, लेकिन नामुमकिन नहीं था. रोहित शर्मा की धमाकेदार पारी ने शुरू से ही  भारत की जीत की उम्मीद को पंख लगाए दिया था. लेकिन धोनी की नाकामी से भारत की जीत पर पानी फिर गया. रोहित की 150 रनों की शानदारी पारी बेकार चली गई.

 

रोहित शर्मा और शिखर धवन ने भारतीय पारी की शुरुआत की. धवन आठवें ओवर में मोर्केल का शिकार बने. शिखर 23 के निजी स्कोर पर एलबीडल्यू आउट हुए. उसके बाद आए रहाणे ने रोहित का बेहतर साथ दिया. रहाणे ने अर्धशतकीय पारी खेलकर भारत की जीत की उम्मीद को यकीन में बदल दिया. भारत का दूसरा विकेट रहाणे के तौर पर उस वक़्त गिरा जब टीम का स्कोर 191 रन पर जा पहुंचा था.

 

कोहली ने मायूस किया

 

विराट कोहली ने एक बार फिर मायूस किया. रोहित का साथ देने के लिए टीम इंडिया को कोहली की शख्त जरूरत थी, लेकिन कोहली महज़ 11 रन जोड़कर पवेलियन लौट गए.  40वें ओवर में कोहली के आउट होने के बाद कप्तान धोनी आए, उस वक़्त टीम इंडिया का स्कोर 214 रन था. जीत के लिए टीम इंडिया को 10 ओवर में 100 से ज्यादा रन की जरूरत थी, रोहित पिच पर थे, कप्तान धोनी उनका साथ दे रहे थे, तो भारतीय फैन्स को यकीन था कि हम जीतेंगे. लेकिन 47वां ओवर भारत के लिए काफी महंगा पड़ा. इस ओवर की पहली गेंद पर इमरान ताहिर ने जमे-जमाए रोहित को पवेलियन भेज दिया. उसके बाद आए रैना को भी इसी ओवर की पांचवीं गेंद पर आउट कर दिया. अब टीम को जीत दिलाने की जिम्मेदारी धोनी पर थी, लेकिन उन्होंने 31 रनों की पारी जरूरी खेली, लेकिन आखिरी ओवर में आउट होकर जीत को हार में बदल दिया.

 

आखिरी दो ओवर में जीत के लिए टीम इंडिया का लक्ष्य 22 रन था, तब बिन्नी और धोनी क्रीज पर थे. लेकिन 49वें ओवर में स्टेन ने कसी हुई गेंदबाज़ी की, फिर भी भारत ने 11 रन बना लिए. लेकिन आखिरी ओवर में रबाडा ने जीत की उम्मीद पर पानी फेर दिया.

 

आखिरी ओवर में 11 रन की जरूरत थी, आखिरी ओवर की चौथी गेंद पर धोनी को आउट कर दिया तो पांचवीं गेंद पर बिन्नी को पवेलियन भेज दिया. इस तरह टीम इंडिया पांच रनों से हार गया.

 

रोहित ने 133 गेंदों का सामना कर 13 चौके और छह छक्के लगाए. रहाणे ने 82 गेंदों पर पांच चौके लगाए. विराट कोहली 11 रन बना सके जबकि कप्तान धौनी ने 31 रन बनाए. सुरेश रैना खाता नहीं खोल सके. रोहित का विकेट 269 और रैना का 273 के कुल योग पर गिरा.

 

इसके बाद धोनी ने गेंदबाजी के दौरान अपने एक ओवर में 23 रन खर्च करके टीम को मुश्किल में डालने वाले स्टुअर्ट बिन्नी (2) के साथ खुद कमान सम्भाली. वह इसमें काफी सफल भी होते दिख रहे थे लेकिन 297 के कुल योग पर वह आउट हो गए. धौनी ने 30 गेंदों पर एक चौका लगाया.

 

भारत ने अंतिम पांच ओवरों में 40 रन बनाए और चार विकेट गंवाए. दूसरी ओर दक्षिण ने अंतिम पांच ओवरों में 65 रन जुटाए थे. यही फर्क भारत केलिए महंगा पड़ा. दक्षिण अफ्रीका की ओर से राबाडा और इमरान ताहिर ने दो-दो विकेट लिए जबकि फरहान बेहरादीन, मोर्ने मोर्कल और डेल स्टेन ने एक-एक सफलता पाई.

 

दक्षिण अफ्रीका की पारी

 

इससे पहले, छक्के के साथ अपने करियर का 21वां शतक पूरा करने वाले अब्राहम डिविलियर्स (नाबाद 104) और फॉफ डू प्लेसिस (62) की बेहतरीन पारियों की मदद से दक्षिण अफ्रीका टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में पांच विकेट पर 303 रन बनाए.

 

मैन आफ द मैच चुने गए डिविलियर्स ने कप्तानी पारी खेलते हुए 73 गेंदों का सामना कर पांच चौके और छह छक्के लगाए जबकि प्लेसिस ने 77 गेदों पर पांच चौके और एक छक्का जड़ा.

 

डिविलियर्स ने 54 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया था और फिर अगले 19 गेंदों पर शतक पूरा किया. डिविलियर्स ने भारत में बीती सात पारियों में पांचवां शतक लगाया है. ग्रीन पार्क में अब तक कुल नौ शतक लगे हैं और डिविलियर्स ने दूसरा सबसे तेज शतक लगाने का श्रेय हासिल कर लिया है.

 

उनकी इस पारी की बदौलत ही दक्षिण अफ्रीकी टीम ग्रीन पार्क में अब तक का सबसे बड़ा योग खड़ा करने में सफल रही. इससे पहले इस मैदान पर कभी भी किसी टीम ने 300 रनों का आंकड़ा नहीं पार किया था. इससे पहले यहां का 294 रन था, जो भारत ने 2007 में पाकिस्तान के खिलाफ बनाया था.

 

इन दोनों के अलावा फरहान बेहरादीन ने नाबाद 35, क्विंटन डे कॉक ने 29, हाशिम अमला ने 35, डेविड मिलर ने 13 और ज्यां पॉल ड्यूमिनी ने 15 रन बनाए. बेहरादीन ने 19 गेदों पर पांच चौके और एक छक्का लगाया.

 

कॉक और अमला ने पहले विकेट के लिए 45 रन जोड़े. इसके बाद अमला और प्लेसिस ने दूसरे विकेट के लिए 59, प्लेसिस और डिविलियर्स ने तीसरे विकेट के लिए 49, मिलर और डिविलियर्स ने चौथे विकेट के लिए 45, ड्यूमिनी और डिविलियर्स ने पांचवें विकेट के लिए 41 और बेहरादीन तथा डिविलियर्स ने छठे विकेट के लिए 65 रन जोड़े.

 

भारत की ओर से अमित मिश्रा और उमेश यादव ने दो-दो विकेट लिए जबकि चोट के कारण सीरीज के बाकी बचे मैचों से बाहर हो चुके रविचंद्रन अश्विन को एक सफलता मिली. उमेश ने हालांकि 10 ओवरों में 71 रन लुटाए.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: India lost first one day at Kanpur
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017