IND vs ENG: कड़वी यादों को भुलाकर जीत दर्ज करने उतरेगी टीम इंडिया

By: | Last Updated: Tuesday, 8 July 2014 11:56 AM

नॉटिंघम: अनुभवहीन लेकिन आत्मविश्वास से ओतप्रोत भारतीय टीम कल इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला के पहले मैच में उतरेगी तो उसका इरादा पिछली नाकामियों को भुलाकर विदेश में अपने खराब रिकार्ड को सुधारने का होगा.

 

युवा भारतीय टीम के लिये यह सुनहरा मौका है जिसे 42 दिन तक चलने वाली श्रृंखला में लगातार पांच टेस्ट खेलने है. अगले चार टेस्ट लार्डस, साउथम्पटन, मैनचेस्टर और ओवल पर खेले जायेंगे.

 

महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने विदेशी सरजमीं पर आखिरी टेस्ट वेस्टइंडीज के खिलाफ किंगस्टन में जून 2011 में जीता था. उसके बाद से इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में उसने आठ टेस्ट गंवाये.

 

भारत को इस सत्र में दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड में भी जीत मयस्सर नहीं हुई जहां उसने दो मैच गंवाये और दो ड्रॉ खेल .

 

इंग्लैंड के खिलाफ पिछला टेस्ट रिकार्ड भी भारत की चिंता का सबब है. इंग्लैंड में 4-0 से श्रृंखला हारने के अलावा उसे 2012-13 के घरेलू सत्र में भी 1-2 से पराजय झेलनी पड़ी थी. भारत में इंग्लैंड ने 1984.85 के बाद यह पहली श्रृंखला जीती थी. उसके बाद से हालांकि इंग्लैंड टीम में भी काफी बदलाव आये हैं. उन श्रृंखलाओं में चमकने वाले एलेस्टेयर कुक, स्टुअर्ट ब्राड और जेम्स एंडरसन खराब फार्म से जूझ रहे हैं जबकि केविन पीटरसन, ग्रीम स्वान और जोनाथन ट्राट अब टीम में नहीं हैं .

पिछले दोनों मौकों पर एंडरसन और स्वान की जोड़ी भारत पर भारी पड़ी थी. दोनों ने 2011 में भारत के 79 में से 34 विकेट लिये थे जबकि 2012-13 में 55 में से 32 भारतीय विकेट उनके खाते में गए थे. स्वान की कमी इंग्लैंड को खलेगी क्योंकि अब उन्हें एक अतिरिक्त सीम गेंदबाज उतारना होगा जबकि स्पिन का जिम्मा मोईन अली संभालेंगे.

 

इससे एंडरसन और ब्रॉड जैसे मुख्य तेज गेंदबाजों पर दबाव बढेगा. लेकिन यदि सपाट विकेटों का चलन जारी रहा तो मेजबान टीम के लिये 20 विकेट लेना आसान नहीं होगा.

 

गेंदबाजों को टेस्ट क्रिकेट में विकेट लेने के लिये रनों का सहारा जरूरी है और ऐसे में कुक का फार्म चिंता का सबब है. इंग्लैंड के कप्तान ने पिछली 24 पारियों में शतक नहीं बनाया है और भारत इसका फायदा उठाना चाहेगा.

 

पिछली दो श्रृंखलाओं में कुक ने भारत के खिलाफ आठ टेस्ट में 910 रन बनाये. इस समय वह रन भी नहीं बना पा रहे और उनकी कप्तानी की भी आलोचना हो रही है.

 

वहीं पीटरसन ने 2011 की श्रृंखला में 533 और 2012-13 में 338 रन जोड़े थे. उनकी टीम से रवानगी हो चुकी है. ट्रॉट के नहीं होने से इयान बेल पर भी काफी दबाव होगा.

 

बदलाव के दौर से गुजर रही इंग्लंैड की टीम के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की यह श्रृंखला किसी भी टीम के लिये बदला चुकता करने का सुनहरा मौका साबित हो सकती है .

 

यह भारतीय टीम 2011 या 2012-13 की टीम से एकदम अलग है. इसमें सिर्फ धोनी, गौतम गंभीर और ईशांत शर्मा ही वे खिलाड़ी हैं जो तीन साल पहले यहां खेल चुके हैं. भारतीय टीम के पास लंबे बदलाव के दौर से उबरने का यह सुनहरा मौका है. विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा जैसे युवा भारतीय बल्लेबाजों ने दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड में अच्छा प्रदर्शन किया था. उन दोनों दौरों पर भारत ने 300 से अधिक का स्कोर बनाया जिसमें जोहानिसबर्ग में 421 और वेलिंगटन में 438 रन बनाये .

 

भारत उस दौरे पर कम से कम एक टेस्ट जीत सकता था लेकिन 20 विकेट नहीं ले पाने का उसे खामियाजा भुगतना पड़ा.

 

भारत के सामने सवाल अंतिम एकादश का भी है. धोनी को इन हालात में मध्यम तेज गेंदबाज हरफनमौला की जरूरत है जो स्टुअर्ट बिन्नी साबित हो सकते हैं. उसने लीस्टर और डर्बीशर में दोनों अ5यास मैचों में लंबे समय तक खेला.

 

बिन्नी के खेलने पर आर अश्विन और रोहित शर्मा को बाहर रहना पड़ सकता है. अश्विन की जगह रविंद्र जडेजा को उतारा जाना तय है.

 

टीम-

भारत : एम एस धोनी (कप्तान), शिखर धवन, मुरली विजय, गौतम गंभीर, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, रविंद्र जडेजा, स्टुअर्ट बिन्नी, आर अश्विन, ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, ईश्वर पांडे, पंकज सिंह, वरूण आरोन, रिधिमान साहा .

 

इंग्लैंड : एलेस्टेयर कुक (कप्तान) , मोईन अली, जेम्स एंडरसन, गैरी बालांस, इयान बेल, स्टुअर्ट ब्राड, क्रिस जोर्डन, लियाम प्लंकेट, मैट प्रायर, सैम राबसन, जो रूट, बेन स्टोक्स, क्रिस वोक्स.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: india tour of england
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017