ड्रॉ टेस्ट के बाद पुजारा ने कहा- स्लिप के फील्डरों ने किया निराश

ड्रॉ टेस्ट के बाद पुजारा ने कहा- स्लिप के फील्डरों ने किया निराश

टीम के मजबूत स्तंभ चेतेश्वर पुजारा ने स्वीकार किया कि श्रीलंका के खिलाफ फील्डरों का प्रदर्शन अच्छा नहीं था लेकिन कहा कि टीम इस विभाग में कड़ी मेहनत कर रही है.

By: | Updated: 06 Dec 2017 08:30 PM

भारत और श्रीलंका के बीच दिल्ली में खेला गया तीसरा और अंतिम टेस्ट ड्रॉ रहा. मैच के ड्रॉ होने के पीछे भारतीय फील्डरों का खराब प्रदर्शन भी रहा जिन्होंने मैच के दौरान कई कैच ड्रॉप किए. टीम के मजबूत स्तंभ चेतेश्वर पुजारा ने स्वीकार किया कि श्रीलंका के खिलाफ फील्डरों का  प्रदर्शन अच्छा नहीं था लेकिन कहा कि टीम इस विभाग में कड़ी मेहनत कर रही है.

भारत ने श्रीलंका की पहली पारी में शतक जड़ने वाले एंजेलो मैथ्यूज के ही कम से कम चार कैच टपकाए जबकि दूसरी पारी में नाबाद रहकर मैच ड्रॉ कराने वाले रोशन सिल्वा और निरोशन डिकवेला को भी जीवनदान दिया.

पुजारा ने मैच के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘ईमानदारी से कहूं तो हमारी फील्डिंग काफी अच्छी नहीं थी. मैं इसे स्वीकार करता हूं, लेकिन कभी कभी खिलाड़ियों को चोटें लग जाती हैं, मुरली विजय स्लिप में फील्डिंग करता है और उसे चोट लगी और वह लगभग छह महीने तक क्रिकेट नहीं खेल पाया. हमें मुरली विजय की जगह किसी और को लाना था. ’’

उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे मौके भी आए कि बल्लेबाज चोटिल हो गए और हमें दूसरे खिलाड़ी को लाना पड़ा. लेकिन हां हमने काफी कैच नहीं लपके और हम विकल्पों पर विचार कर रहे हैं. निश्चित तौर पर इसमें सुधार होगा क्योंकि कुल मिलाकर फील्डिंग इकाई के रूप में भारत में सुधार हुआ है. लेकिन हमारी नजरें स्लिप में सुधार पर टिकी हैं.’’

पुजारा ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका दौरे को देखते हुए उन्होंने स्लिप कैचिंग को लेकर विस्तार से चर्चा की है.

उन्होंने कहा, ‘‘हमने इस बारे में बात कि है और कुछ खिलाड़ियों को यह जिम्मेदारी सौंपी है. हम विदेशी सीरीज के लिए खिलाड़ियों को तैयार करेंगे जो स्लिप में खड़े होंगे. हमने इस बारे में बात की है. दक्षिण अफ्रीका पहुंचने पर भी हम इस बारे में बात करेंगे. ’’

पुजारा ने कहा कि उन्हें नहीं पता कि आखिर कमी कहां हैं. उन्होंने कहा, ‘‘मैं स्वीकार करता हूं कि हमने कैच छोड़े हैं लेकिन मुझे यह नहीं पता कि तकनीकी रूप से कमी कहां है. लेकिन हम फील्डिंग में काफी मेहनत कर रहे हैं क्योंकि हमें पता है कि स्लिप काफी महत्वपूर्ण है. स्लिप में खड़े होने वाले खिलाड़ी रोजाना 50 से 100 कैच पकड़ने का अभ्यास कर रहे हैं. हम सुधार की कोशिश कर रहे हैं और निश्चित तौर पर नतीजे मिलेंगे.’’

पाचवें गेंदबाज की कमी खली ?

भारतीय कप्तान विराट कोहली एक समय पांच गेंदबाजों के साथ उतरने को तरजीह दे रहे थे लेकिन पिछले कुछ समय में भारतीय टीम अधिकांश मैचों में चार गेंदबाजों के साथ ही उतरी है. पुजारा से पूछा गया कि क्या यहां भारत को पांचवें गेंदबाज की कमी खली तो उन्होंने कहा, ‘‘मुझे ऐसा नहीं लगता. कुल मिलाकर हमने काफी अच्छी गेंदबाजी की, विशेषकर इस मैच में, विकेट को देखते हुए. हमने इस विकेट के कुछ अधिक टूटने की उम्मीद की थी. विशेषकर चौथे और पांचवें दिन लेकिन शायद मौसम के कारण ऐसा नहीं हुआ. यह सपाट विकेट था जिस पर गेंदबाजों के लिए कुछ नहीं था. विकेट को देखते हुए हमारे स्पिनरों ने काफी अच्छी गेंदबाजी की.’’

पुजारा ने कहा, ‘‘हमने जिस तरह की गेंदबाजी की हमारा सर्वोच्च लक्ष्य टेस्ट मैच जीतना था. कभी-कभी हमें अलग अलग विकल्पों को आजमाना होता है. हम विदेश दौरे पर जा रहे हैं. देखते हैं कि दक्षिण अफ्रीका जाने के बाद क्या होता है. वहां पहुंचने के बाद हम इस पर फैसला करेंगे कि हमें क्या करना है. ’’

न अश्विन चले न जडेजा

भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा अंतिम दिन टीम को सिर्फ दो सफलता दिला पाए लेकिन पुजारा ने उनका बचाव करते हुए कहा,‘‘ उन्होंने जितने विकेट चटकाएं है वे शानदार हैं. पूरे घरेलू सत्र के दौरान वे विरोधी टीमों के लिए सबसे कड़े गेंदबाज रहे. यह एक ऐसा मैच था जिसमें विकेट से ज्यादा मदद नहीं मिली. भारत में कुल मिलाकर पांचवें दिन पिच से कहीं अधिक मदद मिलती है.’’

अब बारी दक्षिण अफ्रीका की

दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए अच्छी तैयार का भरोसा जताते हुए पुजारा ने कहा कि उन्हें कई खिलाड़ियों को वहां खेलने का अनुभव है जो काफी काम आएगा.

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि दक्षिण अफ्रीका जाने से पहले हमारी तैयारी काफी अच्छी होगी. हमने पहले ही उन चीजों पर बात करनी शुरू कर दी है जिन पर दक्षिण अफ्रीका जाने से पहले काम करना है. कुछ खिलाड़ियों को सीरीज से पहले तैयारी करने का काफी समय मिलेगा. हमारे पास काफी अनुभव भी है. मैं भी दक्षिण अफ्रीका जा चुका हूं. मैं भी 2010 और 2013 में वहां गया था. हमारे कई खिलाड़ी 2013 में वहां गए थे. इस अनुभव का हमें निश्चित तौर पर फायदा मिलेगा. ’’

पुजारा ने कहा, ‘‘हमारा तेज गेंदबाजी आक्रमण भी पहले की तुलना में कहीं बेहतर है. मुझे लगता है कि हमारे तेज गेंदबाज विकेट हासिल करेंगे. दक्षिण अफ्रीका की बल्लेबाजी भी अभी उतनी मजबूत नहीं है जितनी पहले होती थी. ’’

रहाणे के बचाव में उतरे पुजारा

मौजूदा सीरीज की पांच पारियों में सिर्फ 17 रन बनाने वाले अजिंक्य रहाणे का बचाव करते हुए पुजारा ने कहा, ‘‘जहां तक अजिंक्य का सवाल है तो उसने कुल मिलाकर काफी अच्छी बल्लेबाजी की है. कभी ऐसा समय भी आता है जब आप काफी रन नहीं बना पाते. अजिंक्य इसी दौर से गुजर रहा है. वह भारत के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक है और उसने भारत और विदेशों में काफी रन बनाए हैं. हम उसका पूरा समर्थन करते हैं और उम्मीद करते हैं कि वह वापसी करेगा. ’’

प्रदूषण के कारण मैच में कई रूकावट के संदर्भ में उन्होंने कहा, ‘‘कई मौके आए जब मैच रोकना पड़ा. हम कोई रूकावट नहीं चाहते थे. जहां तक हमारी टीम का सवाल है हमने वही किया जो हमें करना चाहिए था. ’’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: ड्रॉ टेस्ट के बाद पुजारा ने कहा- स्लिप के फील्डरों ने किया निराश
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story वनडे सीरीज के नतीजे के साथ-साथ क्या और भी होंगे कुछ बड़े फैसले?