जानें: भारत के युवा गेंदबाजों में कितना दम है?

By: | Last Updated: Wednesday, 18 February 2015 4:33 PM

नई दिल्ली: विश्व कप का सबसे बड़ा मुकाबला टीम इंडिया ने पाकिस्तान को हराकर अपने नाम कर लिया, लेकिन भारत की असली परीक्षा दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होने वाली है.

 

धोनी का कहना सही भी है दक्षिण अफ्रीका को हम कम कर नहीं आंक सकते. ये वही टीम है जिसने इस विश्व कप में जिम्बाब्वे के खिलाफ आखिरी 10 ओवरों 146 रन ठोक डाले थे. ऐसे में भारत की गेंदबाजी पर खतरा मंडरा रहा है.

 

सबसे अनुभवी ईशांत शर्मा खराब फिटनेस की वजह से देश लौट चुके हैं. बाकी जितने खिलाड़ी हैं उन्होंने 50 वनडे भी नहीं खेले हैं.

 

मोहम्मद शमी और उमेश यादव ने अब तक 41-41 वनडे खेल हैं तो भुवनेश्वर कुमार ने 44 मैच खेले हैं.  मोहित शर्मा के खाते में सिर्फ 13 वनडे हैं. भुवनेश्वर की फिटनेस पर सवाल उठे तो धवल कुलकर्णी को ऑस्ट्रेलिया में रोक लिया गया. लेकिन धवल के पास भी सिर्फ 4 वनडे का अनुभव है.

 

अब ऐसे में सारी जिम्मेदारी आती है मोहम्मद शमी और उमेश यादव पर.

 

शमी और उमेश से उम्मीदें

 

शमी और उमेश को वही भूमिका निभानी है जो जहीर खान और आशीष नेहरा निभाते थे. जहीर और आशीष पुरानी और नई दोनों गेंदों से अच्छी गेंदबाजी कर लेते थे. शमी ने पाकिस्तान के खिलाफ अच्छी गेंदबाजी की. उन्होंने 9 ओवर में एक मैडेन के साथ 35 रन दिए  और चार विकेट लिए. उमेश थोड़े महंगे साबित हुए थे. उन्होंने 10 ओवर में 50 रन दिए और एक मेडेन ओवर के साथ दो विकेट लिए.

 

शमी और उमेश के बाद मोहित शर्मा से भी उम्मीदें हैं.

 

पाकिस्तान के खिलाफ हरियाणा के इस तेज गेंदबाज ने 9 ओवर में सिर्फ 35 रन देकर दो विकेट लिए. मोहित से उम्मीद होगी कि वो इस प्रदर्शन को आगे भी जारी रखें.

 

स्पिन का क्या होगा?

 

स्पिन की सारी जिम्मेदारी अभी आर अश्विन के कंधों पर है. अश्विन 2011 विश्व कप विजेता टीम के हिस्सा भी थे . वो अनुभवी भी हैं. पाकिस्तान के खिलाफ अश्विन ने शुरुआती ओवर यानी 3 ओवर 2 मेडेन 5 रन और 1 विकेट. बाद में इनकी धुनाई हो गई और इनका फाइनल फिगर हो गया 8 ओवर में 3 मेडेन 41 रन और एक विकेट.

 

जडेजा का जादू चलेगा?

 

अश्विन के अलावा जाडेजा पर भी धोनी को भरोसा है. यही भरोसा है कि पाकिस्तान के खिलाफ जाडेजा ने 10 ओवर की गेंदबाजी की हालांकि उन्होंने 56 रन दे दिए और सिर्फ उमर अकमल का विकेट मिला. ऐसे में दक्षिण अफ्रीका को परेशान करने के लिए जाडेजा को अपने तरकश से खास तीर निकालने की जरूरत होगी.

 

इसके अलावा अक्षर पटेल भी स्पिन गेंदबाजी में अच्छा विकल्प साबित हो सकते हैं. साथ ही सुरेश रैना और विराट कोहली भी पार्ट टाइम विकल्प हैं.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Indian bowlers strength
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017