'हल्के' में न ले युवराज को

By: | Last Updated: Monday, 21 December 2015 6:45 PM
india’s best match finisher is back yuvraj singh

नई दिल्लीः ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए युवराज सिंह टी-20 टीम में लौट आए हैं. युवराज का ये कमबैक मार्च में शुरू होने वाले टी20 विश्वकप को ध्यान में रखकर किया गया है.

खास बात ये है कि इस कमबैक के लिए युवी ने भी कम तैयारी नहीं की. इसलिए तो युवराज के चाहने वाले कह रहे हैं युवराज को ‘हल्के’ में ना लेना.

मैदान में अपने विस्फोटक तेवरों के लिए जाने जाते हैं युवराज सिंह. उनके चाहने वाले कुछ ऐसी ही उम्मीद युवराज से ऑस्ट्रेलिया दौरे पर कर रहे हैं जहां तीन टी20 मैचों के लिए टीम का हिस्सा हैं.

युवराज के नाम एक ओवर में छह छक्कों का रिकॉर्ड दर्ज है. टी20 फॉर्मेट में युवराज चमके, लेकिन 2014 टी20 फाइनल में छक्के नहीं जड़ पाने से उनका सितारा डूबा. अब एक बार फिर युवी के सामने टी20 में कुछ कर दिखाने का मौका है. अब तक करियर में इँटरनेशनल क्रिकेट में 233 छक्के जड़ चुके हैं. टीम में कमबैक कराने वाली विजय हजारे ट्रॉफी में भी युवराज सिंह ने इस सीजन में अब तक सबसे ज्यादा 16 छक्के जड़े हैं.

Yuvi

युवराज के छक्के इशारा कर रहे हैं कि टीम इंडिया का पुराना मैच फिनिशर अपने रंग में आ गया है. लेकिन युवराज का ये कमबैक आसान नहीं रहा. करीब बीस महीने पहले टी20 विश्वकप में युवराज फीके नजर आ रहे थे. फाइनल मैच में 21 गेंद पर सिर्फ 11 रन बना पाए थे. इस फीके प्रदर्शन की सजा ये रही कि वो उसके बाद टीम इंडिया का हिस्सा नहीं रहे. इस बार लौटे तो घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन कर विजय हजारे ट्रॉफी के पांच मैचों में पांच पारियों में युवराज ने 341 रन बनाए 103.64 की औसत से. तीन अर्धशतक लगाए और जिसमें एक बार 98 रन की पारी भी थी.

इसके पीछे है युवी की जबरदस्त मेहनत. जिसमें फीजिकल ट्रेनिंग और डाइट दोनों शामिल है.

युवराज सिंह इससे पहले 2011 वनडे विश्वकप जीतने के बाद टीम से बाहर हुए थे तब वजह बना था कैंसर. युवी ने तब भी मैदान पर वापसी की थी.

युवराज ने साल 2000 में केन्या के खिलाफ वनडे मैच से अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर की शुरूआत की थी. लेकिन देश के लिए आखिरी टेस्ट 2012 में खेला और आखिरी वनडे दिसम्बर 2013 में. अब 34 साल की उम्र में युवराज सिंह एक बार फिर टीम इंडिया का हिस्सा बने हैँ. अब युवी अपने चाहने वालों से कुछ समय मांग रहे हैं.

युवराज के इस कमबैक में मां की दुआएं काम आई हैं तो बाबा का भरोसा भी. युवी का दावा है कि बाबा को सब पता था. युवराज जानते हैं कि ये उनके करियर का आखिरी पड़ाव है. टी20 विश्वकप जीतने वाली टीम और वनडे जीतने वाली टीम दोनों का हिस्सा थे युवराज. पिछले टी20 विश्वकप के फाइनल तक भी पहुंचे और यही वजह है कि सेलेक्टर्स ने उनके अनुभव और फॉर्म को ध्यान में देखते हुए उन्हें ये मौका दिया है.

अगर यहां कमाल दिखा जाते हैं युवराज तो क्रिकेट के चाहने वाले उन्हें सिर आंखों पर बैठाने को तैयार हैं.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: india’s best match finisher is back yuvraj singh
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Team India Yuvraj Singh
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017