IPL: रॉयल चैलेंजर्स का मुकाबला डेयरडेविल्स से, दिल्ली को खलेगी कप्तान पीटरसन की कमी 

IPL: रॉयल चैलेंजर्स का मुकाबला डेयरडेविल्स से, दिल्ली को खलेगी कप्तान पीटरसन की कमी 

By: | Updated: 17 Apr 2014 09:22 AM

शारजाह: दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम इंडियन प्रीमियर लीग के सातवें टूर्नामेंट में आज अपने अभियान की शुरूआत रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर के खिलाफ स्टार बल्लेबाज और कप्तान केविन पीटरसन की गैरमौजूदगी में करेगी जो चोट के कारण इस मैच में हिस्सा नहीं ले पाएंगे.

 

दिल्ली की टीम के लिए यह झटका है क्योंकि पीटरसन को अंगुली की चोट के कारण इस मैच से बाहर रहना पड़ेगा. टीम के दूसरे मैच में भी पीटरसन का खेलना संदिग्ध है.

 

डेयरडेविल्स ने पीटरसन को नौ करोड़ रूपये में खरीदा था और उन्हें पिछले महीने द ओवल में सरे के साथ क्षेत्ररक्षण ड्रिल के दौरान दायें हाथ की अंगुली में चोट लगी थी.

 

पीटरसन की गैरमौजूदगी में दिनेश कार्तिक आरसीबी के खिलाफ टीम की अगुआई कर सकते हैं. आरसीबी की टीम में कई सितारे खिलाड़ी मौजूद हैं और उसने 2013 में दिल्ली की टीम के खिलाफ अपने दोनों मैच जीते थे. डेयरडेविल्स पूरी तरह से नयी टीम के साथ मैदान पर उतर रहा जबकि रॉयल चैलेंजर्स के पास कई पुराने चेहरे हैं.

 

दोनों टीमों की बल्लेबाजी काफी मजबूत है लेकिन गेंदबाजी उनका कमजोर पक्ष है. दोनों टीमें अभी तक आईपीएल खिताब से महरूम रही हैं और आईपीएल सात में वे अपने कुछ दिग्गज बल्लेबाजों के दम पर ट्राफी जीतने के लिये बेताब हैं. रायल चैलेंजर्स के कप्तान विराट कोहली ने साफ किया कि उनकी टीम इस बार बड़े लक्ष्य लेकर संयुक्त अरब अमीरात पहुंची है. उन्होंने कहा, ‘‘इस बार हमें काफी आगे बढ़ने की उम्मीद है और वास्तव में हम ट्रॉफी जीतना चाहते हैं. हमने अपनी टीम में कुछ और अच्छे खिलाड़ी जोड़े हैं और मुझे पूरा विश्वास है कि हम खिताब जीतने में सफल रहेंगे. ’’

 

दिल्ली और बेंगलूर दोनों ही एक दूसरे के कमजोर गेंदबाजी आक्रमण पर हावी होने की कोशिश करेंगे. बेंगलूर के पास मिशेल स्टार्क और रवि रामपाल के रूप में दो अच्छे तेज गेंदबाज हैं लेकिन यदि गेल, डिविलियर्स और मोर्कल को टीम में रखा जाता है तो फिर इन दोनों में से किसी एक को ही अंतिम एकादश में जगह मिलेगी. ऐसी स्थिति में टीम का दारोमदार भारतीय गेंदबाजों हषर्ल पटेल और अशोक डिंडा पर टिका रहेगा. इस बार आईपीएल में स्पिनरों की भूमिका अहम मानी जा रही है लेकिन बेंगलूर इस विभाग में शादाब जकाती और युवराज पर निर्भर है.

 

दिल्ली की स्थिति भी कमोबेश ऐसी ही है जिसके पास शाहबाज नदीम और राहुल शर्मा के रूप में दो विशेषज्ञ स्पिनर हैं. आस्ट्रेलिया के नाथन कूल्टर नाइल दिल्ली के तेज गेंदबाजी की अगुवाई करेंगे जिसमें मोहम्मद शमी भी शामिल हैं. शमी विश्व टी20 में कुछ मैचों में अपनी गेंदों पर नियंत्रण नहीं रख पाये थे लेकिन यदि वह स्विंग हासिल करने में सफल रहते हैं तो फिर गेल एंड कंपनी के लिये मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं. इन दोनों के अलावा लक्ष्मीरतन शुक्ला और जयदेव उनादकट जैसे तेज गेंदबाज भी दिल्ली की टीम में है लेकिन निगाहें नीशाम पर टिकी रहेंगी. न्यूजीलैंड का यह खिलाड़ी खुद को बेहतर आलराउंडर साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहेगा.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story RECORD: आईसीसी वनडे रैंकिंग में 909 अंक हासिल करने वाले पहले भारतीय बने विराट कोहली