IPL 2018: 2 साल बाद वापसी कर रही चेन्नई सुपर किंग्स कितनी बदली है| IPL 2018: How csk have changed after returning to ipl after 2 years

IPL 2018: 2 साल बाद वापसी कर रही चेन्नई सुपर किंग्स कितनी बदली है

2008 से लेकर 2015 तक चेन्नई सुपर किंग्स ने सभी आईपीएल में हिस्सा लिया था. तो वहीं टीम दो आईपीएल फाइनल में भी पहुंची और हर सीजन में लीग चरण को पार किया.

By: | Updated: 06 Apr 2018 10:45 PM
IPL 2018: How csk have changed after returning to ipl after 2 years
नई दिल्ली: चेन्नई सुपर किंग्स तकरीबन 2 साल बाद आईपीएल सीज़न 2018 में वापसी करने जा रही है. तो वहीं आईपीएल की भी शुरूआत कल से होने वाली है. धोनी की अगुवाई वाली टीम कल वानखेड़े स्टेडियम में मौजूदा चैंपियन मुंबई इंडियंस के साथ अपना पहला मैच खेलने उतरेगी. 2008 से लेकर 2015 तक चेन्नई सुपर किंग्स ने सभी आईपीएल में हिस्सा लिया था. तो वहीं लगातार दो बार आईपीएल के खिताब पर कब्ज़ा भी किया और हर सीजन में लीग चरण को पार किया. तो चलिए नजर डालते हैं कि कैसे चेन्नई सुपर किंग्स ने इन दो सालों में कितनी बदली है.

धोनी को मिली कप्तानी

महेंद्र सिंह धोनी ने आईपीएल के शुरूआत से लेकर सीएसके के अंतिम मैच तक कप्तानी संभाली और दो बार टीम को आईपीएल चैंपियन भी बनाया. वहीं इस बार भी चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी धोनी के हाथों में ही होगी जब कल आईपीएल के पहले मुकाबले में चेन्नई और मुंबई की टीमें आमने- सामने होंगी. धोनी ने 2017 में सीमित ओवरों से कप्तानी छोड़ दी थी. जिसके बाद हमनें उन्हें अक्सर विराट कोहली के साथ माइक के पीछे टीम का मनोबल बढ़ाते हुए देखा. लेकिन फैंस के लिए आखिरकार वो इंतजार खत्म हो चुका है जब धोनी को एक और बार कप्तानी और माइक के पीछे चेन्नई सुपर किंग्स को बैकअप करते हुए देख सकेंगे.

इन खिलाड़ियों को वापस मिली टीम में जगह

मुंबई में हुए आईपीएल रिटेंशन पालिसी में हमने देखा कि कैसे चैन्नई सुपर किंग्स ने धोनी, सुरेश रैना और रवींद्र जडेजा की तिकड़ी को बरकरार रखा. रैना, जो आईपीएल इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं उन्होंने अपने फ्रैंचाइज़ी के लिए हमेशा बेहतर प्रदर्शन किया है. दूसरी तरफ अगर विरोधियों के स्कोरिंग दर पर रोक लगानी हो तो धोनी के लिए जडेजा हमेशा पहले विकल्प रहें हैं. तो वहीं सीएसके ने अंत में राइट टू मैच कार्ड का सही उपयोग करते हुए ड्वेन ब्रावो को वापस लाइन- अप में शामिल कर लिया. अंतिम ओवरों की अगर बात करें तो ब्रावो चेन्नई की तरफ से दूसरी टीमों के लिए हमेशा घातक साबित हुए हैं. दिलचस्प बात ये है कि रैना, जडेजा और ब्रावो ने इन दो सालों में एक साथ ही ड्रेसिंग रूम को साझा किया जब तीनों खिलाड़ी गुजरात लायंस का हिस्सा थे. फाफ डू प्लेसी को भी टीम का हिस्सा बनाया गया है जो धोनी के साथ राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स की टीम में एक साथ खेल चुके हैं.

पुराने चेहरों का बाहर जाना और नए चेहरों का आगमन

सीएसके ने अपनी मुख्य टीम को हर तरफ से बरकरार रखा है, टीम ने जहां आर अश्विन को बाहर जाने दिया तो वहीं उनके रूप में हरभजन सिंह को टीम में शामिल किया जो पहले मुंबई इंडियंस के लिए खेला करते थे. हरभजन सिंह के अलावा चेन्नई के पास दो फ्रंटलाइन ऑल राउंडर्स हैं एक शेन वॉट्सन और दूसरे ड्वेन ब्रावो.

हरभजन सिंह और शेन वॉट्सन के अलावा फ्रैंचाइजी ने केदार जाधव, अंबाती रायडू, मिशेल सैंटनर, मार्क वुड, लुंगी एनगिडी, इमरान ताहिर, सैम बिलिंग्स, शार्दुल ठाकुर और कुछ अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों में निवेश किया है. तो वहीं मुरली विजय किंग्स इलेवन पंजाब में समय बिताने के बाद वापस चेन्नई सुपर किंग्स के साथ जुड़ गए हैं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: IPL 2018: How csk have changed after returning to ipl after 2 years
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story KXIP vs SRH: गेल की शतकीय पारी के साथ किंग्स ने दर्ज की तीसरी जीत, सनराइजर्स को मिली पहली हार