क्रिकेट पर कलंक की पूरी कहानी

By: | Last Updated: Tuesday, 14 July 2015 12:48 PM
IPL_

नई दिल्ली: IPL में सट्टेबाज़ी के आरोप में घिरे गुरुनाथ मय्यपन और राजस्थान रॉयल्स के मालिक राज कुंद्रा पर जस्टिस लोढ़ा कमिटि ने ताउम्र बैन लगा दिया है. वहीं सीएसके और राजस्थान रॉयल्स को 2 साल के लिये IPL में खेलने से बैन किया गया.

 

चलिये आपको सिलसिलेवार तौर से बताते हैं की जस्टिस लोढ़ा कमिटि ने अपने आदेश में किसको लेकर क्या कहा –

 

मयप्पन को लेकर कमिटी का फैसला:

 

  • मयप्पन CSK का अहम हिस्सा थे. फिर भी एंटी करप्शन कोड के नियमों का उल्लंघन किया.

  • लगातार सट्टेबाज़ी करने के कारण 60 लाख का नुकसान दिखाता है की वो सट्टेबाज़ों से कितने ज़्यादा जुड़े थे.

  • क्रिकेट की छवि को नुकसान पहुँचाया. ये कोई क्रिकेट को चाहने वाला तो नहीं करेगा.

  • क्रिकेट के अलावा उन्होंने आईपीएल और BCCI की छवि को नुकसान पहुँचाया.

 

मयप्पन से जुड़ा फैसला:

 

मय्यपन को अयोग्य करार देकर उस पर ताउम्र बैन लगाया गया. और कहा वो क्रिकेट से किसी भी तरह नहीं जुड़ सकेंगे.

 

 

राज कुंद्रा से जुड़ा फैसला:

 

  • राज कुंद्रा के पास 11.74 फीसदी हिस्सेदारी थी.

  • सट्टेबाज़ी अपराध तो है ही यह बीसीसीआई के नियमो के भी खिलाफ है.

  • जब कोई अधिकारी शामिल हो जाता है तो नीचे के प्लेयर्स भी उससे प्रभावित होते हैं.

  • सट्टेबाज़ी के अलावा उन्होंने क्रिकेट, आईपीएल और BCCI की छवि को नुकसान पहुँचाया.

  • क्रिकेट भारत में बाकी खेलों से कहीं ज़्यादा महत्वपूर्ण माना जाता है.

  • 9 फरवरी की रिपोर्ट में मैच फिक्सिंग की बात भी सामने आई थी.

  • लगातार सटोरियों के टच में थे. यहाँ तक की एक सट्टेबाज़ को दूसरे से मिलवाया भी था.

  • अगर क्रिकेट से प्यार करते राज कुंद्रा तो ऐसी नहीं करते. कमिटी ने ताउम्र बैन लगाया.

  • चेन्नई सुपरकिंग्स 2 साल के लिए सस्पेंड.

 

इंडिया सीमेंट्स ( चेन्नई सुपरकिंग्स) से जुड़ा फैसला:

 

  • मयप्पन इंडिया सीमेंट्स से जुड़े थे. और वहां पर एक अधिकारी थे. श्रीनिवासन के दामाद थे जो उसके मालिक थे. लिहाज़ा मयप्पन को श्रीनिवासन के प्रतिनिधि के तौर पर देखा जाता था.

  • फ्रेंचाइजी की ज़िम्मेदारी थी कि क्रिकेट को नियमो के तहत खेला जाए , पर ऐसा हुआ नहीं.

  • मयप्पन के खिलाफ इंडिया सीमेंट्स कंपनी ने कोई करवाई भी नहीं की.

  • श्रीनिवासन के दामाद थे, और एक ओहदे पर थे, उनकी जिम्मेदारी थी पर निभाई नहीं.

  • राजस्थान रॉयल पर भी 2 साल के लिए बैन.

 

राजस्थान रॉयल को लेकर फैसला:

 

  • जयपुर आईपीएल में भी गलत हुआ था. सुप्रीम कोर्ट की रिपोर्ट में भी ये बात आई थी.

  • 3 खिलाड़ी भी स्पॉट फिक्सिंग में शामिल पाये गए. जिसका मतलब साफ़ था की सब सही नहीं था.

  • जयपुर आईपीएल ने राज कुंद्रा के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की.

  • बीसीसीआई को क्रिकेट को बचाने के लिए अहम कदम उठाने की ज़रूरत.

  • राजस्थान रॉयल पर 2 साल के लिए बैन.

 

जस्टिस लोढ़ा ने साफ़ किया की उन्होंने टीम और उससे जुड़े दोनों लोगों के खिलाफ करवाई बीसीसीआई के नियमों के तहत की है हालांकि उनका ये भी कहना है की आईपीसी कानून की धाराओं के तहत कार्रवाई करना या नहीं ये बीसीसीआई के ऊपर निर्भर करता है. इस बीच याचिकाकर्ता ने भी साफ़ कर दिया है की वो इन लोगों के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई की भी मांग करेंगे.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: IPL_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017