बेंगलुरू से हैंडल हो रहा था ISIS का ट्विटर एकाउंट, जांच में जुटा NIA

By: | Last Updated: Saturday, 13 December 2014 3:15 AM

बेंगलुरू: ब्रिटेन के एक चैनल ने दावा किया है कि बेंगलुरू से एक व्यक्ति ट्विटर पर इस्लामिक स्टेट (आईएस) के पक्ष में प्रचार करके उसके लिए भर्ती अभियान चला रहा था. इस रपट को संज्ञान में लेते हुए बेंगलुरू पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. यह जानकारी शुक्रवार को एक शीर्ष अधिकारी ने दी.

शहर के पुलिस आयुक्त एम. एन. रेड्डी ने आईएएनएस से कहा, “हमने विदेशी मीडिया रपटों पर संज्ञान लिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है. अभी हम इस मामले में और जानकारियां हासिल करने का प्रयास कर रहे हैं. मैं इस खबर की पुष्टि या इसे खारिज नहीं कर सकता हूं क्योंकि इसमें ज्यादा कुछ खुलासा नहीं किया गया है.”

 

ब्रिटेन के चैनल-4 न्यूज ने गुरुवार को अपनी एक रपट में बताया था कि बेंगलुरू की एक कंपनी में काम करने वाला भारतीय आईएस के लिए बड़े पैमाने पर भर्ती करने वाला हो सकता है. चैनल ने आईएस के सबसे प्रभावशाली ट्विटर एकाउंट को चलाने वाले व्यक्ति की पहचान का पता लगाने का दावा किया है.

 

ISIS के ट्विटर अकाउंट को हैंडल करता है भारतीय शख्स! 

 

रेड्डी ने कहा, “हमारी विशेष अपराध शाखा, जो कि साइबर अपराधों के मामले भी देखती है, वह खबर की प्रमाणिकता की जांच कर रही है. हम हमेशा सचेत रहते हैं और शहर पर मंडराने वाले हर खतरे का सामना करने के लिए तैयार रहते हैं.”

 

चैनल ने अपनी रपट में उस कथित भर्ती अभियान चलाने वाले का पहला नाम ‘मेंहदी’ बताया है. चैनल ने रपट में बताया कि वह बेंगलुरू में भारत की एक कार्पोरेट कंपनी में विपणन अधिकारी के तौर पर काम करता है.

 

चैनल-4 की रिपोर्ट के मुताबिक मेंहदी का कहना है कि वो खुद ISIS में शामिल हो जाता पर उसका परिवार उस पर निर्भर है और इस वजह से वो ऐसा नहीं कर सकता है. उसने बताया, “अगर मेरे पास सबकुछ छोड़कर आई-एस से जुड़ने का विकल्प होता तो मैं जुड़ सकता था…मेरे परिवार को मेरी ज़रूरत है.”

 

अपने फेसबुक पेज पर यह व्यक्ति मजाकिया तस्वीरों से लेकर पिज्जा पार्टी तक की तस्वीरें शेयर करता है. फेसबुक पर ही कई जगह ऐसे पोस्ट मिलते हैं जिससे उसके ISIS से सहानुभूति रखने वाला होने का प्रमाण मिलता है. चैनल-4 के संपर्क के बाद मेंहदी ने शामी विटनेस के नाम से चलाए जा रहे इस ट्विटर हैंडल को बंद कर दिया.

 

‘शामी विटनेस’ नाम के ट्विटर हैंडल पर किए गए ट्वीटों को हर महीने तकरीबन 20 लाख लोग देखते हैं. जो कि इसे आईएस का सबसे प्रभावशाली ट्विटर एकाउंट बनाता है. इस ट्विटर एकाउंट को 17 हजार से अधिक लोग फॉलो कर रहे थे.

 

चैनल ने बताया कि रपट आने के बाद उस व्यक्ति ने ‘शामी विटनेस’ नाम का ट्विटर हैंडल बंद कर दिया है.

 

सोशल मीडिया विवाद-

इस ट्विटर हैंडल @ShamiWitness पर हर महिने ISIS से जुड़े हज़ारों ट्वीट्स किए जाते थे और इसके अपडेट्स के लिए फोन का इस्तेमाल होता था.

 

इस हैंडल से अमेरिका के सहायता मुहैया कराने वाले व्यक्ति पीटर किसिंग को मौत के घाट उतारे जाने वाले वीडियो से लेकर दर्जनों सीरियाई सिपाहियों के मौत की वीडियों इंटरनेट पर डाले जाने के चंद मिनटों बाद कई बार ट्वीट किया गया.

 

नवंबर महिने में इस हैंडल से ट्वीट किया गया, “अल्लाह इस्लामिक स्टेट को रास्ता दिखाए, उसकी रक्षा करे, उसे मजबूती दे और फलने-फूलने दें. इस्लामिक स्टेट ने भ्रष्टाचार खत्म किया, अपराध कम किया और स्वायतता लाई है.”

 

शामी विटनेस के ट्वीट्स से यह भी जाहिर हुआ कि कुर्दिश लड़कों के मारे जाने और समुदाय की महिलाओं से बलात्कार होने से वह खुश है पर बाद में सफाई आई कि उसकी बातों को गलत तरीके से लिया गया है. अपनी वास्तविक जिंदगी में अपने फेसबुक अकाउंट पर उसने रेप के खिलाफ बातें की है.

 

दिसम्बर 10, 2014 को इस हैंडल से यह ट्वीट हुआ था, “#ब्रेकिंग इस्लामिक स्टेट द्वारा बड़े अभियान चलाए जा रहै हैं, सलाउद्दीन प्रांत के कई क्षेत्रों में विशेष फैजा इसका प्रतिनिधित्व कर रही है. #इराक (@ShamiWitness).”

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ISIS twitter handle operated by an Indian, NIA started investigation
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: isis NIA Twitter
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017