ब्रिसबेन में छींटाकशी की रणनीति टीम इंडिया पर भारी पड़ी: जॉनसन

By: | Last Updated: Tuesday, 23 December 2014 11:19 AM
johnson

मेलबर्न: ब्रिसबेन टेस्ट में शाब्दिक बाण का सामना करने वाले ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिशेल जॉनसन ने कहा कि गाबा में पिछले हफ्ते छींटाकशी करने का भारत का प्रयास उसी पर भारी पड़ा.

 

जॉनसन जब क्रीज पर उतरे तो ऑस्ट्रेलिया 247 रन पर छह विकेट गंवाने के बाद संकट में था और टीम भारत के पहली पारी के 408 रन के स्कोर से 161 रन पीछे थी. करीबी क्षेत्ररक्षकों ने इसके बाद इस तेज गेंदबाज को परेशान करने का प्रयास किया. लेकिन जॉनसन ने कहा कि छींटाकशी ने उन्हें और अधिक मजबूत बनाया दिया और कप्तान स्टीव स्मिथ तथा उन्होंने 148 रन की साझेदारी कर डाली.

 

जॉनसन ने आज यहां कहा, ‘‘मेरा ध्यान खेल से हट गया जो अच्छी चीज थी क्योंकि मेरा ध्यान इसके बाद स्कोरबोर्ड पर नहीं था. मैं क्रीज पर उतरकर अपने शॉट खेलने में सफल रहा. मैं सकारात्मक इरादे के साथ खेलना चाहता था.’’ उन्होंने कहा, ‘‘खेल से पहले मैंने थ्रोडाउन का सामना किया था और यह उस तरह का सत्र नहीं था जैसा मैं चाहता था. इसके बाद क्रीज पर उतरकर उनके कुछ खिलाड़ियों का सामना करना था और मुझे लगता है कि यह हमारे अनुकूल रहा. मैं अपना स्वाभाविक खेल खेलने में सफल रहा और किसी चीज को लेकर चिंतित नहीं था. यह खेल का हिस्सा है लेकिन मुझे लगता है कि इससे वे भटक गए.’’

 

दूसरे टेस्ट में आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे जॉनसन ने मैच में 88 रन की पारी खेली जिससे ऑस्ट्रेलिया चार विकेट से जीत दर्ज करके चार मैचों की श्रृंखला में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल करने में सफल रहा. जॉनसन ने कहा कि रोहित शर्मा ने सबसे अधिक छींटाकशी की लेकिन मैच में इस बल्लेबाज के खराब प्रदर्शन के कारण यह रणनीति भारत के ही खिलाफ गई.

 

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने शुरूआत में कुछ शब्द कहे और इसके बाद मैंने जाने दिया और सिर्फ रोहित शर्मा को देखकर मुस्कुराना शुरू कर दिया. वह काफी कुछ कह रहा था. मुझे नहीं लगता कि उसके लिए मैच काफी अच्छा रहा था और मुझे लगा कि वह थोड़ा हताश हो गया था.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: johnson
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017