अपने ही देश के खिलाफ मैदान में उतरना चाहते थे पीटरसन, पीएम ने नहीं मानी बात

By: | Last Updated: Sunday, 11 January 2015 12:07 PM

नई दिल्लीः इंग्लैंड टीम से बाहर किए जाने के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह चुके केविन पीटरसन अपने ही देश के खिलाफ मैदान में उतरना चाहते थे. लेकिन किसी ने उनकी बात नहीं सुनी. पीटरसन ने बुधवार को इंग्लैंड के खिलाफ प्रधानमंत्री एकदाश में ऑस्ट्रेलियाई टीम से खेलने की इच्छा उस वक्त जताई जब टीम के कप्तान माइकल हसी चोट के कराण इस मैच से अलग हो गए.

 

पीटरसन अपने देश के खिलाफ खेलने के लिए इतने ज्यादा उत्सुक थे कि उन्होंने सीधे ट्विटर पर ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टॉनी एबट को लिख दिया कि मैं आपकी टीम से खेलना चाहता हूं. हालंकि इस ट्वीट का कोई असर नहीं दिखा और ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के सलामी बल्लेबाज क्रिस रोजर्स को इस मैच की कप्तानी सौंप दी गई.

 

पीटरसन के इस ट्वीट पर इंग्लैंड के पूर्व ऑलराउंडर एंड्र्यू फिलंटॉफ ने भी इंग्लैंड से खेलने की इच्छा जताई और कहा कि मैं पीटरसन को बॉल करना चाहता हूं.

 

उधर ट्राइएंगुलर सीरीज से पहले इस मैच के लिए पीटरसन की इच्छा पर इंग्लैंड के नए कप्तान इयान मोर्गन से पूछा गया तो उन्होंने पीटरसन को अतिमहत्वाकांक्षी करार देते हुए कहा कि जो व्यक्ति उस देश का न हो वो अगर उस देश से खेलने की इच्छा जताता है तो निश्चित रूप से ये अतिमहत्वाकांक्षा है.

 

रोजर्स ने ऑस्ट्रेलियाई टीम का कप्तान चुने जाने को ‘सम्मान की बात’ बताई. यह मैच कैनबरा में खेला जाएगा.

 

रोजर्स ने कहा, “ऑस्ट्रेलिया के लिए यह एक अहम मैच होगा. मैं रिकी पोंटिंग, ब्रेट ली और अन्य पूर्व कप्तानों की विरासत को मनुका ओवल में आगे बढ़ाने की कोशिश करूंगा.”

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: kevin
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017