धोनी के नक्शेकदम पर चलने की कोशिश करूंगा: कोहली

By: | Last Updated: Monday, 5 January 2015 10:46 AM
kohli on dhoni

सिडनी: भारत के नये टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने कहा कि जब वह कल से यहां शुरू होने वाले चौथे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट में टीम की अगुआई करेंगे तो मुश्किल हालात में धैर्यवान रहकर अपने पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के नक्शेकदम पर चलने की कोशिश करेंगे.

 

कोहली ने धोनी की संन्यास की घोषणा पर कहा, ‘‘हम मेलबर्न टेस्ट के बाद ड्रेसिंग रूप में कपड़े बदल रहे थे और अपना सामान समेट रहे थे जब धोनी आया और कहने लगा कि वह कुछ कहना चाहता है. इसके बाद उसने अपने फैसले की घोषणा की और हम सब सकते में आ गए. यह सब इतना जल्दी में हुआ कि कुछ समझ में नहीं आया. हमने ऐसी उम्मीद नहीं की थी और यह हमारे लिए स्तब्ध करने वाला था.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें नहीं पता था कि क्या कहना है क्योंकि यह उसके लिए काफी भावनात्मक लम्हा था. हमारे लिए भी जिन्होंने उसकी कप्तानी में युवा के तौर पर शुरूआत की, यह काफी अजीब लम्हा था.’’

 

कोहली ने धोनी की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘उससे सीखने के लिए काफी कुछ था विशेषकर मुश्किल हालात में, उसका धैर्य और अहम लम्हों पर उसके फैसले लेने की क्षमता. ये चीजें बेशकीमती हैं और कोई भी कप्तान ऐसा अपने अंदर होना पसंद करेगा. उम्मीद करता हूं कि मैं भी उसकी तरह धैर्यवान बन पाऊंगा.’’ धोनी की अंगुली की चोट के कारण एडिलेड ओवल में पहले टेस्ट में कार्यवाहक कप्तान की भूमिका निभाने वाले कोहली ने दोनों पारियों में शतक जड़ा था और भारत को जीत के करीब ले गए थे लेकिन टीम को 48 रन से हार का सामना करना पड़ा. कोहली ने हालांकि कहा कि शीर्ष क्रम के बल्लेबाज अपनी गलतियों से सीखने को तैयार हैं.

 

कोहली ने कहा, ‘‘एडिलेड में कई चीजें ऐसी थी जिनके बारे में मैंने बैठकर आकलन किया और पाया कि इनमें सुधार हो सकता है. मैंने सोचा कि ऐसी कौन सी चीजे हैं जिन्हें मैं सही कर सकता हूं, मैंने उस मैच में क्या गलतियां की. उम्मीद करता हूं कि मैं मैच के दौरान हर स्थिति में सही फैसला करूंगा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि हमारे रवैये में बहुत अधिक बदलाव की जरूरत है. एडिलेड में संदेश साफ था. मैदान पर उतरो, खुद पर विश्वास करो, अपने शॉट खेलो, सकारात्मक खेलो और जीतने के लिए खेलो. इसलिए कोई कोई विशेष नहीं है जो मुझे लड़कों को दोबारा कहने की जरूरत है.’’ भारतीय गेंदबाज 20 विकेट चटकाने में नाकाम रहने के कारण आलोचना का सामना कर रहे हैं लेकिन कोहली ने उनके प्रदर्शन का बचाव किया.

 

उन्होंने कहा, ‘‘सही क्षेत्रों में गेंदबाजी करना अहम होता है. खिलाड़ियों को यह पता है और हमें टेस्ट क्रिकेट में उन्हें समय देने की जरूरत है क्योंकि जब आपको सही संयोजन मिल जाता है और सभी खिलाड़ी एक जैसा प्रदर्शन करते हैं तो जीत दर्ज करने की यात्रा काफी सुखद हो जाती है.’’ कोहली ने कहा, ‘‘मुझे विश्वास है कि हम 20 विकेट हासिल कर सकते हैं. हमारे अपनी गेंदबाजी प्रदर्शन की निरंतरता में सुधार करना होगा. अगर हम धैर्य के साथ सही क्षेत्र में गेंदबाजी करते हैं तो हमारे अंदर 20 विकेट चटकाने की क्षमता है. अगर हम अपने उपर विश्वास करें कि हम ऐसा कर सकते हैं. अगर हम अच्छा संयोजन बनाए तो हम जीत सकते हैं और अपने गेंदबाजों पर मुझे पूरा भरोसा है.’’

 

मिशेल जॉनसन अंतिम टेस्ट में नहीं खेल पाएंगे और कोहली ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के इस तेज गेंदबाज के साथ मैदान पर उनकी आक्रामकता को बढ़ा चढ़ाकर पेश किया गया. कोहली ने कहा कि किसी खिलाड़ी पर आईसीसी ने कोई जुर्माना नहीं लगाया जो दर्शाता है कि मैदान पर कुछ भी गलत नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि वह सिर्फ अपनी टीम की ओर से खड़े होकर जवाब दे रहे थे.

 

भारत के पास अब सिर्फ एक विकेटकीपर है और ऐसे में धोनी को रिद्धिामान साहा का स्टैंडबाई बनाया गया है जिससे कि अगर वह चोटिल हो जाते हैं तो पूर्व भारतीय कप्तान विकेटकीपर की भूमिका निभा सकें.

 

कोहली ने कहा, ‘‘फिलहाल धोनी टीम में दूसरा विकेटकीपर है. भगवान ना करे कि साहा को मैच की सुबह कुछ हो जाए. बेशक ऐसी स्थिति में उसे आना होगा क्योंकि मैं विकेटकीपिंग नहीं कर सकता.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: kohli on dhoni
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: MS Dhoni retirement Team India Virat Kohli
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017