‘मेरा नाम विन्सेंट है और मैं धोखेबाज हूं’

By: | Last Updated: Tuesday, 1 July 2014 9:12 AM

नई दिल्ली: न्यूजीलैंड के क्रिकेटर लू विन्सेंट ने आज मैच फिक्सिंग करके अपने देश और खेल को शर्मसार करने के लिये माफी मांगी और कहा कि उन्हें ताउम्र अपनी इन हरकतों का खेद रहेगा. विन्सेंट पर दुनिया भर में मैच फिक्सिंग करने के लिये आजीवन प्रतिबंध लगना तय है.

विन्सेंट ने भावनात्मक बयान में कहा, ‘‘मेरा नाम लू विन्सेंट हैं और मैं धोखेबाज हूं. मैंने फिक्सिंग के लिये पैसे लेकर कई अवसरों पर पेशेवर खिलाड़ी के रूप में अपने पद का दुरूपयोग किया. ’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं पिछले कई वषरें तक इस कड़वी सच्चाई के साथ जीता रहा लेकिन कुछ महीने पहले मैं उस स्थिति में पहुंचा जहां मैंने फैसला किया कि मुझे आगे आकर सच्चाई बयां करनी चाहिए. ’’ विन्सेंट ने कहा, ‘‘यह सच्चाई है जिसने न्यूजीलैंड और दुनिया भर में हंगामा खड़ा कर दिया. मैंने अपने देश को शर्मसार किया, मैंने अपने खेल को शर्मसार किया, मैंने उन लोगों को शर्मसार किया जो मेरे करीबी है और इस पर मुझे गर्व नहीं है. ’’

विन्सेंट पर इंग्लैंड में काउंटी और अब भंग इंडियन किकेट लीग में खेलने के दौरान मैच फिक्सिंग में शामिल रहने के लिये इस सप्ताह के आखिर में आजीवन प्रतिबंध लग सकता है. उन्हें पिछले साल बांग्लादेश प्रीमियर लीग के दौरान सट्टेबाजों द्वारा संपर्क किये जाने की रिपोर्ट करने में नाकाम रहने का दोषी भी पाया गया.

 

इस पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा कि अपनी पत्नी की प्रेरणा से ही वह सच बोलने का साहस जुटा पाये. उन्होंने कहा, ‘‘अब मेरे लिये समय आ गया है कि मैं इंसान के रूप में उनका सामना करूं और जो भी परिणाम हों उन्हें स्वीकार करूं. मैं अपनी गलतियों के साथ नहीं जी सकता तथा अपनी भावी पत्नी सूसी से मिलने, बिना शर्त का प्यार क्या होता है यह जानने के बाद, मैंने उसे यह बता पाया कि मैंने क्या किया है और उसने मेरे माता पिता, मेरे सारे परिवार और फिर संबंधित अधिकारियों को बताने के दर्द भरे कदम को उठाने में मेरी मदद की. ’’ विन्सेंट ने अपने बयान में आगे कहा है कि अपना अपराध स्वीकार करने के बाद वह अपने बच्चों से आंख मिला सकते हैं.

 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं जिन लोगों को चाहता हूं मुझे उन पर गर्व है, विशेषकर मेरा परिवार और दोस्त. उनकी ताकत, समर्थन और क्षमा के कारण मैं कुछ गहरे और असहज मसलों से निबट पाया. मैं अब अपने बच्चों से आंख मिला सकता हूं. मैं उन्हें कह सकता हूं कि ईमानदारी सबसे अच्छी नीति है. हालांकि एक समय यह सबसे मुश्किल काम लगता था. मैं अब एक इंसान के रूप में खुद पर भरोसा करता हूं और अब मैं हर सुबह खुद को घृणित मानकर नहीं उठता हूं. ’’

 

विन्सेंट ने आईसीसी भ्रष्टाचार निरोधक एवं सुरक्षा इकाई का भी अपनी गलतियां स्वीकार करने के दौरान उनका समर्थन करने के लिये आभार व्यक्त किया. उन्होंने इसके साथ ही कहा कि वह तनाव से गुजर रहे थे. इस क्रिकेटर ने कहा, ‘‘मैंने जो हरकतें की मुझे उसका जीवन भर खेद रहेगा. ’’ उन्होंने इसके साथ ही उम्मीद जतायी कि उनका मामला उन लोगों के लिये एहतियात का काम करेगा जो भ्रष्ट तत्वों की चपेट में आ जाते हैं.

 

विन्सेंट ने कहा, ‘‘लंबे समय बाद पहली बार मैं अपने भविष्य को लेकर सकारात्मक हूं. मैं आखिर में वैसा इंसान बन गया जैसा मैं बनना चाहता था. मुझे अपनी गलतियों का सामना करना होगा और उन्हें सुधारना होगा. मैंने लंबे समय तक अपना सिर नीचे करके रखा. आज मैं सिर उठाकर चल सकता हूं क्योंकि मैं जानता हूं कि मैं अब सही काम कर रहा हूं. ’’ उन्होंने इसके साथ ही कहा कि उन्हें जो भी सजा मिलेगी उसे वह स्वीकार करेंगे. विन्सेंट ने कहा, ‘‘यह पूरी तरह से मेरी गलती है और मैं फिर से इस खेल में खड़ा नहीं हो सकता. यह पूरी तरह से मेरी गलती है कि मैं भविष्य के क्रिकेटरों को तैयार करने के लिये अपने कौशल का सकारात्मक उपयोग नहीं कर पाउंगा. लेकिन यह संभव है कि मैं अन्य को बता सकता हूं कि कभी कोई गलत काम नहीं करना. ’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: lou_vincent_cricket_fixing
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017