टीम इंडिया का सबसे बड़ा शिकारी - मोहम्मद शमी

By: | Last Updated: Saturday, 7 March 2015 2:12 PM
mohammad shami

मोहम्मद शमी

नई दिल्लीः ये कहानी है टीम इंडिया के सबसे बड़े शिकारी की. उस शिकारी की जो दुनिया जीतने निकला है. जिसके दिल में इरादा है अपने देश को फिर से विश्व विजेता बनाने की.

 

अपना पहला विश्व कप खेल रहे मोहम्मद शमी कमाल की गेंदबाजी कर रहे हैं. पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज जैसे बड़ी टीमों को इस युवा गेंदबाज ने हिला कर रख दिया है. बल्लेबाज अब इस शमी से डरने लगे हैं क्योंकि शमी को तो बल्लेबाजों से कभी डर नहीं लगता है. सिर्फ अपनी गलती से डर लगता है.

 

विश्व कप में मोहम्मद शमी ने अब तक भारत के लिए सबसे ज्यादा 3 मैच में 9 विकेट लिए है. इस विश्व कप में शमी को इतने विकेट इसलिए मिल रहे हैं क्योंकि उनकी गेंदबाजी में नया निखार आया है. उनकी स्पीड बढ़ी है साथ ही उनकी गेंद अब पहले से ज्यादा स्विंग हो रही है. अब हर कोई जानना चाहता है कि आखिर ये कैसे हुआ.

 

शमी की कहानी उन्हीं की जुबानी –

 

विश्व कप 2015 के पहले मैच में एक नया शमी सबकी नजर में आया पाकिस्तान ने खिलाफ शमी ने चार शिकार किए. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दो बल्लेबाज शमी के शिकार बने. वहीं वेस्टइंडीज के खिलाफ भी उन्होंने तीन बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया.

 

शमी की गेंदबाजी की खासियत ये रही कि उन्होंने हर मैच में भारत को अच्छी शुरुआत दिलाई. अहम विकेट निकालकर दिए. टीम के ऊपर से बड़े खतरे को टालकर जीत की नींव तैयार की.

 

पाकिस्तान के खिलाफ शमी ने यूनिस खान का विकेट लिया. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शमी ने डी कॉक का विकेट लिया. वेस्टइंडीज के खिलाफ उन्होंने क्रिस गेल का काम तमाम किया.

 

ऐसे में ये भी जानना जरूरी है कि आखिरी 24 साल के शमी ने कैसे इंडियन टीम तक का मुश्किल सफर तय किया. दरासल कहानी की शुरुआत हुई 10 साल पहले. यूपी के अमरोहा के रहने वाले शमी ने एक सपना देखा कि वो सपना जिसे भारत में लाखों युवा बचपन से देखना शुरू कर देते हैं. टीम इंडिया में शामिल होकर अपने देश के लिए खेलने का सपना.

 

शमी को साथ मिला उनके पिता का जो खुद क्रिकेटर नहीं बन पाए लेकिन चाहते थे कि बेटा बड़ा क्रिकेटर बने. 12 साल की उम्र में शमी के पिता उनको मुरादाबाद के कोच बदरूदीन के पास ले गए.

 

शमी अहमद को बहरूदीन ने 4 साल तक मुरादाबाद में ही क्रिकेट की शुरुआती ट्रेनिंग दी. उसके बाद 2006 में शमी के कोच बदरूदीन उनको बंगाल ले गए. 16 साल के शमी बंगाल के कोच अब्दुल मुनायम के अंदर क्रिकेट खेलने लगे. शमी को बंगाल लेकर जाने की खास वजह ये थी कि बंगाल में क्रिकेट के 123 क्लब हैं. 4 साल तक शमी अहमद ने बंगाल में क्लब क्रिकेट खेलकर कड़ी मेहनत की. साल 2010 में 20 साल की उम्र में बंगाल की तरफ से पहला रणजी मैच खेला. असम के खिलाफ पहले मैच में शमी ने 3 विकेट लिए. इसके बाद वो अगले दो सीजन तक रणजी में विकेट लेते रहे..

 

बंगाल के लिए खेलते हुए शमी अहमद अब तक 15 मैच में 65 विकेट ले चुके हैं.

 

शमी अहमद रणजी मैचों में अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन टीम इंडिया में जगह बनाने का सपना दूर था. साल 2011 में आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स ने उन्हें अपनी टीम में शामिल कर लिया. हालांकि उन्हें दो सीजन तक कोई भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला.

 

शमी अहमद इससे निराश नहीं हुए. शमी नेट्स में लगातार पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज और नाइट राइडर्स के कोच वसीम अकरम से टिप्स लेते रहे. गेंदबाजी की बारिकियां सीखते रहे. शमी भी मानते हैं कि वसीम अकरम का उनकी गेंदबाजों को धारदार बनाने में अहम रोल रहा.

 

 

शमी अहमद को टीम इंडिया में कब और कैसे मिली जगह?

 

दिसंबर 2012 में पाकिस्तान की टीम भारत आई..टीम सेलेक्शन से कुछ दिन पहले ही शमी ने रणजी में बंगाल के खेलते हुए हैदराबाद के खिलाफ एक मैच में 10 विकेट निकाल दिए. फिर क्या था चयनकर्ताओं ने 22 साल के शमी अहमद को वनडे टीम में चुन लिया.

 

शमी अहमद को आईपीएल की तरह टीम इंडिया में भी पहले दो मैच बैंच पर बैठना पड़ा लेकिन जब तीसरे वनडे में मौका मिला तो समी ने अपनी कसी हुई गेंदबाजी से सभी को कायल बना लिया.

 

शमी ने इसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा. वनडे में वो लगातार अच्छी गेंदबाजी करते रहे. धोनी भी शमी को पसंद करने लगे. फिर क्या था धोनी ने शमी को विश्व कप की टीम में शामिल कर लिया. शमी ने  भी अपने कप्तान को निराश नहीं किया. हर मैच में विकेट निकालकर दिए और क्वार्टर फाइनल टीम को पहुंचने अहम रोल निभाया..

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: mohammad shami
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ??? ?????? ????? ?? 2015 ??????? ???
First Published:

Related Stories

रोते बच्चे का वीडियो देख कोहली हुए दुखी, कहा ‘बच्चे को धमकाकर नहीं सिखाया जा सकता’
रोते बच्चे का वीडियो देख कोहली हुए दुखी, कहा ‘बच्चे को धमकाकर नहीं सिखाया जा...

नई दिल्ली: भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली सोशल मीडिया पर बेहद सक्रीय रहते हैं. श्रीलंका में...

संगाकारा के घर में उनका सबसे बड़ा रिकॉर्ड तोड़ेंगे एमएस धोनी
संगाकारा के घर में उनका सबसे बड़ा रिकॉर्ड तोड़ेंगे एमएस धोनी

सौजन्य: AFP नई दिल्ली: श्रीलंका के साथ खेली गई 3 टेस्ट मैचों की सीरीज़ को क्लीनस्वीप कर भारतीय टीम...

ENGvsWI: कुक के दोहरे शतक से इंग्लैंड का विशाल स्कोर, वेस्टइंडीज़ की खराब शुरूआत
ENGvsWI: कुक के दोहरे शतक से इंग्लैंड का विशाल स्कोर, वेस्टइंडीज़ की खराब शुरूआत

बर्मिंघम: पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक के करियर के चौथे दोहरे शतक की मदद से इंग्लैंड ने...

BCCI से एनओसी पाने के लिये केरल हाईकोर्ट पहुंचे श्रीसंत
BCCI से एनओसी पाने के लिये केरल हाईकोर्ट पहुंचे श्रीसंत

कोच्चि: क्रिकेटर एस श्रीसंत ने बीसीसीआई से अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) के लिए केरल हाईकोर्ट...

डे-नाइट टेस्ट मैच में दोहरा शतक लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने एलिस्टेयर कुक
डे-नाइट टेस्ट मैच में दोहरा शतक लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने एलिस्टेयर कुक

बर्मिंघम: पाकिस्तान के अजहर अली के बाद एलिस्टेयर कुक डे-नाइट टेस्ट मैच में दोहरा शतक जड़ने वाले...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017