150 करोड़ की वसूली के लिए धोनी ने खटखटाया कोर्ट का दरवाजा

150 करोड़ की वसूली के लिए धोनी ने खटखटाया कोर्ट का दरवाजा

रियल स्टेट ग्रुप अम्रपाली से 150 करोड़ रुपए का बकाया वसूलने के लिए टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, आम्रपाली ग्रुप के ब्रांड एम्बेसडर रहते धोनी को कई सालों तक भुगतान नहीं किया गया.

By: | Updated: 12 Apr 2018 05:45 PM

नई दिल्ली: रियल स्टेट ग्रुप अम्रपाली से 150 करोड़ रुपए का बकाया वसूलने के लिए टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, आम्रपाली ग्रुप के ब्रांड एम्बेसडर रहते धोनी को कई सालों तक भुगतान नहीं किया गया.

धोनी अम्रपाली ग्रुप से करीब 6 साल तक जुड़े रहे थे लेकिन साल 2016 में धोनी ने इस ग्रुप से अपना नाता तोड़ लिया है. अम्रपाली ग्रुप से धोनी के अलग होने के पीछे सबसे बड़ा कारण हाउसिंग प्रोजेक्ट को समय पर पूरा नहीं किया जाना था और लोगों को समय पर उनके घर मुहैया नहीं कराए गए थे.

ग्रुप की इस नकामी के बाद धोनी की छवि को काफी नुकसान पहुंचा था. अम्रपाली ग्रुप से घर खरीदने वाले लोगों ने धोनी को सोशल मीडिया पर खूब ट्रोल किया था. यही वजह है कि उन्होंने इस ग्रुप से अलग होने का फैसला किया.

धोनी की कंपनी रीति स्पोर्ट्स कंपनी ने दिल्ली हाईकोर्ट में अम्रपाली ग्रुप के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. रीति स्पोर्ट्स के मुताबिक कंपनी को आम्रपाली ग्रुप से करीब 200 करोड़ रुपए वसूलने हैं.

इस मामले में रीति स्पोर्ट्स के मैनेजिंग डायरेक्टर अरुण पांडे ने कहा है कि आम्रपाली ग्रुप ने ब्रांडिंग और मार्केटिंग एक्टिविटीज़ के लिए हमें पैसा नहीं दिया गया.

रीति स्पोर्ट्स भारत समेत विदेशी खिलाड़ियों के मैनेजमेंट का काम संभालती है. इस लिस्ट में धोनी, केएल राहुल, भुवनेश्वर कुमार और साउथ अफ्रीका के कप्तान फाफ डुप्लेसी का नाम शामिल है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: 150 करोड़ की वसूली के लिए धोनी ने खटखटाया कोर्ट का दरवाजा
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story अर्जुन पुरस्कार के लिए मनिका बत्रा और हरमीत देसाई के नामों की सिफारिश