45वीं बार रणजी फाइनल में मुंबई, मुकाबला सौराष्ट्र से

By: | Last Updated: Wednesday, 17 February 2016 8:50 PM
Mumbai march into final despite hundreds from Ojha, Harpreet

कटक: नमन ओझा और हरप्रीत सिंह के शतक के बावजूद मध्यप्रदेश बड़े लक्ष्य से काफी पीछे रह गया और 40 बार का चैंपियन मुंबई पहली पारी की बढ़त के आधार पर रिकॉर्ड 45वीं बार रणजी ट्रॉफी क्रिकेट फाइनल में जगह बनाने में सफल रहा. फाइनल में उसका मुकाबला सौराष्ट्र से होगा.

मध्यप्रदेश के सामने 571 रन का विशाल लक्ष्य था और अप्रत्याशित परिणाम हासिल करने के लिये उसे आखिरी दिन के 90 ओवरों में 472 रन बनाने थे. मध्यप्रदेश ने सुबह दो विकेट पर 99 रन से आगे खेलना शुरू किया. कल के अविजित बल्लेबाज अंकित श्रीवास्तव (68) जल्दी आउट हो गए लेकिन इसके बाद नमन ओझा (113) और हरप्रीत सिंह (105) ने शतक जमाए.

इसके बावजूद टीम पांच विकेट पर 361 रन तक ही पहुंच पायी. ओझा और हरप्रीत ने चौथे विकेट के लिए 159 रन की साझेदारी की लेकिन किसी भी समय मुंबई की टीम खतरे में नहीं दिखी. मुंबई ने पहली पारी में 371 रन बनाकर मध्यप्रदेश को 227 रन पर आउट कर दिया था. आखिर पहली पारी की यह बढ़त ही मुंबई का फाइनल का रास्ता साफ कर गयी.

मुंबई और सौराष्ट्र के बीच 24 से 28 फरवरी के बीच पुणे में फाइनल खेला जाएगा. ये दोनों टीमें दूसरी बार फाइनल में आमने सामने होंगी. इससे पहले 2012-13 के सत्र में भी इन दोनों के बीच ही खिताब मुकाबला खेला गया था. मुंबई तब पारी और 125 रन से जीत दर्ज करके 40वीं बार चैंपियन बना था. सौराष्ट्र अभी तक रणजी खिताब नहीं जीत पाया है. वह हालांकि एक अवसर पर नवानगर और एक बार पश्चिम भारत की टीम के रूप में चैंपियन रह चुका है.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Mumbai march into final despite hundreds from Ojha, Harpreet
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017