सरिता की भावनाओं को समझ सकते हैं: ओसीए

By: | Last Updated: Saturday, 4 October 2014 10:29 AM

इंचियोन: माफी मांगने के बाद एल सरिता देवी का पदक बहाल करने वाले एशियाई ओलंपिक परिषद (ओसीए) ने आज कहा कि एशियाई खेलों के विवादास्पद सेमीफाइनल में हार के बाद इस मुक्केबाज की निराशा को समझा जा सकता है लेकिन पदक वितरण समारोह में उनकी भावनात्मक हरकत गैरजरूरी थी.

 

ओसीए अध्यक्ष शेख अल फहद अल सबाह ने खेलों की अंतिम प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘एशियाई खेलों के आयोजन का ओसीए का मुख्य मकसद यह है कि खिलाड़ियों को अपना कौशल दिखाने का उचित मंच मिले. कभी कभी खेल में तकनीकी गलतियां होती हैं. मुक्केबाजी में अंपायरिंग को लेकर काफी मुद्दे हैं और नये नियम गलतियों को दूर करने के लिए बनाए गए हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैच हारने के बाद मैं उनकी भावनओं को समझ सकता हूं. सभी को सोल 1986 याद है जब एक मुक्केबाज (जीत से महरूम कर दिए जाने के बाद) रोने लगा था.’’ अल सबाह ने कहा, ‘‘(लेकिन) एक खिलाड़ी के रूप में उसे समझना होगा कि पोडियम पर अन्य खिलाड़ी भी हैं. उन्होंने भी यहां पहुंचने के लिए कड़ी मेहनत की है. आप उनके लम्हें को खत्म नहीं कर सकते. विरोध दर्ज कराने का हमेशा जरिया होता है और इसे उस तरह से किया जा सकता है. मुझे खुशी है कि उन्होंने माफी मांगी और हम इस समस्या को खत्म कर सकते हैं.’’

 

ओसीए के आजीवन उपाध्यक्ष वेई झीझोंग ने कहा, ‘‘ओसीए को मिशन प्रमुख से माफीनामा मिला है. हमें राष्ट्रीय ओलंपिक समिति का पत्र भी मिला है. ओसीए ने इसके बाद खिलाड़ी को कड़ी चेतावनी देने का फैसला किया. हम समझते है कि एक खिलाड़ी के गलत आचरण के लिए पूरे देश की गलती नहीं है.’’ शेख अल सबाह ने हालांकि स्वीकार किया कि मुक्केबाजी में रैफरियों को लेकर कुछ मुद्दे हैं.

 

उन्होंने कहा, ‘‘साथ ही हमें रैफरी के खराब प्रदर्शन को लेकर पांच राष्ट्रीय ओलंपिक समितियों के पत्र मिले हैं. हम बाद में एआईबीए (वैश्विक मुक्केबाजी संस्था) के साथ इस पर चर्चा करेंगे.’’ इंचियोन खेलों को ओसीए प्रमुख ने ‘सफल’ करार दिया.

 

अगले खेलों की मेजबानी से वियतनाम के अचानक हटने और 20 सितंबर को जकार्ता को इसकी मेजबानी सौंपने के संदर्भ में ओसीए प्रमुख ने कहा कि खेलों को 2020 तक कोई खतरा नहीं है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘हमने इसकी मेजबानी इंडोनेशिया को दी है. लेकिन चीन भी इसके लिए तैयार था. बैंकाक :थाईलैंड: अतीत में चार बार इनकी मेजबानी कर चुका है. हम अपने खेलों को लेकर चिंतित नहीं हैं. हम प्रत्येक चार साल में 14 खेलों (इंडोर और बीच खेलों सहित) की मेजबानी करेंगे. हम इस दशक के अंत तक तैयार हैं.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: oca on sarita devi
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017