ओल्ड ट्रैफर्ड: यहां लिखी गई है क्रिकेट की कई कहानियां

By: | Last Updated: Tuesday, 5 August 2014 7:33 AM
Old Trafford Cricket Ground

नई दिल्लीः भारत और इंग्लैंड के बीच जारी पांच टेस्ट मैचों के सीरीज का चौथा मैच मेनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर खेला जाएगा. क्रिकेट इतिहास में इस मैदान ने कई रिकॉर्ड बनते और टूटते देखें हैं. न सिर्फ रिकॉर्ड बल्कि क्रिकेट इतिहास में खेल गए कई करिश्माई पारी को ओल्ड ट्रैफर्ड ने देखा है. एक नजर 1857 में बने इस मैदान पर खेले गए कुछ न भूल पाने वाले मैच पर-

 

1902– इस साल ऑस्ट्रेलिया ने इस मैच में 3 रन से टेस्ट मैच को जीता था जो कि टेस्ट इतिहास में सबसे कम अंतर की तीसरी जीत है. इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के विक्टर ट्रंपर ने लंच से पहले ही शतक जड़ दिया था.

 

डॉन ब्रेडमैन– इस क्रिकेटर को रन मशीन के नाम से जाना जात है. टेस्ट क्रिकेट में इनसे बेहतर कोई बल्लेबाज नहीं. 99.96 रन औसत वाला ये महान बल्लेबाज इस मैदान पर रन बनाने के लिए तरसता रहा. 3 टेस्ट में सिर्फ 81 रन वो इस मैदान पर बना पाए.

 

1952– 62 साल पहले मेनचेस्टर टेस्ट में भारत को अपने टेस्ट क्रिकेट इतिहास की सबसे बुरी हार मिली थी. भारत की टीम एक ही दिन में दो बार आउट हुई थी और यह रिकॉर्ड उसके नाम 60 साल तक रहा.“

 

जिम लेकर– क्रिकेट इतिहास में एक मैच और एक पारी में सबसे अधिक विकेट लेने वाले जिम लेकर ने अपना ये न तोड़ पाने वाला रिकॉर्ड इसी मैदान पर बनाया था. उन्होंने इस मैच में कुल 19 विकेट लिए थे. पहली पारी में 37 रन देकर 9 विकेट और दूसरी पारी में 53 रन देकर 10 विकेट.

 

1971– इस साल इस मैदान पर एक ऐसे मैच का अंत हुआ जो आज भी सबके जेहन में है. काउंटी क्रिकेट में खेले गए जिलेट कप का फाइनल मुकाबला लंकाशायर और ग्लॉसेस्टरशायर के बीच खेला गया था जो कि शाम के 8 बज कर 45 मिनट पर खत्म हुआ था. अंधेरे के बीच लंकाशायर को पांच ओवर में 25 रन बनाने थे. डेविड ह्यूग्स ने एक ओवर में 24 रन बनाकर टीम को अंधेरे में जीत दिलाई थी.

 

1981–  इस साल के एशेज मुकाबले को इंग्लैंड के महान ऑल राउंडर ईयान बॉथम के लिए जाना जाता है. बॉथम ने इस मैदान पर छह छक्को के साथ 118 रन की पारी खेली थी जिसे वो कभी नहीं भूलना चाहते हैं.

 

1984– इस साल इस मैदान ने सर विवियन रिचर्ड्स के करिश्माई बल्लेबाजी कौशल को देखा. रिचर्ड्स ने यहां खेले गए वनडे मुकाबले में नाबाद 189 रन बनाए. इस पारी की सबसे खास बात ये रही कि जब वो 95 रन पर थे तब उनका साथ देने आए थे आखिरी बल्लेबाज माइकल होल्डिंग. दोनों ने दसवें विकेट के लिए 106 रन जोड़े थे.

 

1990– ये साल भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के क्रिकेट में नए जन्म का साल था. इसी मैदान पर सचिन ने 17 साल की उम्र में अपनी पहली टेस्ट सेंचुरी लगाई थी. 

 

1993 – शेन वार्न ने इसी मैदान पर माइक गेटिंग को उस बॉल पर आउट किया था जिसे ‘बॉल ऑफ द सेंचुरी’ कहा गया.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Old Trafford Cricket Ground
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

शमी ने कहा, 'शानदार प्रदर्शन और लय को आगे भी रखेंगे जारी'
शमी ने कहा, 'शानदार प्रदर्शन और लय को आगे भी रखेंगे जारी'

कोलकाता: श्रीलंका के खिलाफ 3-0 के ऐतिहासिक क्लीनस्वीप से उत्साहित तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने...

इंग्लैंड के खिलाफ इंडिया अंडर-19 टीम ने 5-0 से क्लीनस्वीप कर रचा इतिहास
इंग्लैंड के खिलाफ इंडिया अंडर-19 टीम ने 5-0 से क्लीनस्वीप कर रचा इतिहास

नई दिल्ली: भारत की अंडर-19 टीम ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए पांचवें और अंतिम युवा...

वेस्टइंडीज के खिलाफ इंग्लैंड टीम ने किया सिर्फ एक बदलाव
वेस्टइंडीज के खिलाफ इंग्लैंड टीम ने किया सिर्फ एक बदलाव

बर्मिंघम: वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू हो रहे...

...तो इस वजह से वनडे टीम में युवराज को नहीं मिली जगह!
...तो इस वजह से वनडे टीम में युवराज को नहीं मिली जगह!

नई दिल्ली: श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017