on completion of eden gardens' 150th anniversary former indian cricket team skipper saurav ganguly got nostalgic

on completion of eden gardens' 150th anniversary former indian cricket team skipper saurav ganguly got nostalgic

By: | Updated: 29 Jan 2015 02:29 AM

कोलकाता: अपने घरेलू मैदान ईडन गार्डन की विशेष सराहना करते हुए पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने कहा कि इस मैदान पर उन्होंने कई यादगार लम्हें सहेजे हैं जहां टेस्ट कप्तान के रूप में उनका रिकॉर्ड सभी मैच जीतने का है.

 

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2002 में यहां ऐतिहासिक जीत को याद करते हुए गांगुली ने कहा, ‘‘मैंने अपना क्रिकेट जीवन यहां 14 साल की उम्र में शुरू किया और ओड़िशा के खिलाफ यहां शतक बनाया. यह ऐसा मैदान है जिसने मुझे कभी निराश नहीं किया. मैंने यहां टेस्ट कप्तान के रूप में कोई मैच नहीं गंवाया. बेशक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच बहुत अहम रहा.’’

 

बायें हाथ के इस पूर्व बल्लेबाज ने यहां चार मैचों में भारत की अगुआई की और टीम ने सभी मैच जीते. उन्होंने कहा कि संन्यास लेने से एक साल पहले 2007 में यहां पाकिस्तान के खिलाफ शतक जड़कर उन्होंने अपना सबसे बड़ा लक्ष्य पूरा किया.

 

अपने 150 साल का जश्न मना रहे ईडन के बारे में गांगुली ने कहा, ‘‘मेरे नर्वस होने का सबसे बड़ा कारण या डर यह था कि मेरा करियर शायद ईडन पर शतक के बिना ही खत्म हो जाए. भाग्य से मैं ऐसा करने में भी सफल रहा. अब भी मैं इन सभी लम्हों का लुत्फ उठाता हूं. मुझे अब भी यह बेहद विशेष लगता है.’’

 

इस पूर्व भारतीय कप्तान ने बंगाली किताब का भी विमोचन किया जिसका नाम ‘ईडन गार्डन्स, 150 नॉट आउट’ है और इसे अनुभवी खेल पत्रकार देवाशीष दत्ता ने लिखा है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest Sports News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story टी20 में वापसी के बाद अब रैना की नजर विश्व कप पर