अफ्रीकी कोच ने स्वीकारा- दबाव में बुरी तरह बिखर गई टीम

By: | Last Updated: Friday, 4 December 2015 4:09 PM
Once put under pressure, we fell apart badly: Domingo

नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका के कोच रसेल डोमिंगो ने आज स्वीकार किया कि मौजूदा टेस्ट सीरीज में जब भी भारतीय टीम ने उन पर दबाव डाला तब उनकी टीम बिखर गई.

 

दक्षिण अफ्रीका ने आज यहां फिरोजशाह कोटला पर एक बार फिर लचर बल्लेबाजी का नजारा पेश किया और भारत के पहली पारी के 334 रन के जवाब में पूरी टीम 49.3 ओवर में 121 रन पर ढेर हो गई.

 

चार टेस्ट मैचों की सीरीज में टीम के प्रदर्शन पर डोमिंगो ने कहा, ‘‘जब भी हमें दबाव में डाला गया तो हम बुरी तरह बिखर गए और वे नहीं. उनके निचले क्रम और मध्यक्रम ने वापसी की और उनके लिए अच्छा स्कोर खड़ा करने में सफल रहे और हम ऐसा नहीं कर पाए. आज दोपहर हम काफी अच्छा नहीं खेले और हमें काफी सोच विचार करना होगा. यह अच्छा प्रदर्शन नहीं है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसकी शुरूआत शायद कल शाम हुई हमने 139 रन पर उनके छह विकेट चटका दिए थे. 139 रन पर छह विकेट गंवाकर हम काफी हद तक मैच में बने हुए थे. अंत में उन्होंने कुछ ठोस साझेदारियां की. हमने कुछ मौके गंवाए और कुछ फैसले हमारे पक्ष में नहीं गए. इसलिए गेंद से आखिरी 40 से 50 ओवर काफी अच्छे नहीं रहे. और आज बल्ले से 45 ओवर भी अच्छे नहीं रहे.’’

 

कोच ने कहा कि कुछ खिलाड़ियों के आसानी से विकेट गंवाने से उन्हें दुख हुआ. डोमिंगो ने कहा, ‘‘कुछ ऐसे विकेट थे जिसे आप आसान कह सकते हो लेकिन कुछ काफी अच्छी गेंद का शिकार हुए. अगर आप डेन विलास और तेंबा बावुमा के बारे में सोचो तो दोनों का मिश्रण था. हमें भारत के स्पिनरों को श्रेय देना होगा जिन्होंने पूरी श्रृंखला में अच्छी गेंदबाजी की लेकिन हमें भी आसानी से विकेट गंवाने के लिए जिम्मेदारी लेनी होगी.’’ दक्षिण अफ्रीका को अब करिश्मा ही हार से बचा सकता है लेकिन डोमिंगो ने हार नहीं मानी है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘आपको विश्वास बनाए रखना होगा. क्रिकेट अजीब खेल है, हालांकि अगर आप इस मैच में जीतने के लिए दक्षिण अफ्रीका पर दांव लगाओगे तो बेवकूफ हो सकते हो. अगर हम गेंद से कुछ विशेष कर पाए और उन्हें 120 रन पर आउट कर दिया और 320 का लक्ष्य मिला तो हम मैच में हैं. हमें पता है कि हम काफी पीछे है लेकिन हम आशान्वित हैं क्योंकि क्रिकेट अजीब खेल है.’’ डोमिंगो ने रहाणे के शतक की भी तारीफ की. उन्होंने कहा, ‘‘रहाणे ने दिखाया कि अगर आप अच्छी तकनीक के साथ खेल रहे हो तो रन बना सकते हो. मुझे लगता है कि इशांत और उमेश ने रिवर्स स्विंग के काफी अच्छे स्पैल फेंके. आप तेज गेंदबाज हो या स्पिनर, अगर आप अच्छी गेंदबाजी करते हो तो आप विकेट हासिल कर सकते हो.’’ दक्षिण अफ्रीकी कोच को कोटला की पिच से भी कोई शिकायत नहीं है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘हम भारत में इसी तरह के विकेट की उम्मीद करते हैं. इसमें थोड़ा टर्न है और कुछ गेंद उछाल लेती हैं. कुछ गेंद विकेट के उपर से निकल जाती है लेकिन भारत में हम इस तरह के विकेट की उम्मीद करते हैं.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Once put under pressure, we fell apart badly: Domingo
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017