टेस्ट मैच का आयोजन बेटी की शादी करने जैसा: मुदगल

By: | Last Updated: Monday, 30 November 2015 3:36 PM

नई दिल्ली: पहली बार एक टेस्ट मैच के आयोजन की निगरानी का अनुभव ले रहे हाई कोर्ट से नियुक्त सुपरवाइजर जस्टिस (रिटायर्ड) मुकुल मुदगल से इसे ‘दिलचस्प अनुभव’ करार देते हुए कहा कि वह ऐसा महसूस कर रहे हैं कि मानो ‘बेटी की शादी’ हो.

 

मुदगल ने हालांकि इस पर टिप्पणी नहीं कि वह विवादों से घिरे डीडीसीए के साथ काम करके कैसा महसूस कर रहे हैं. पदभार संभालने के बाद से लेकर अब तक अनुभव के बारे पूछे जाने पर मुदगल ने मजाकिया अंदाज में कहा, ‘‘यह लगभग मेरी बेटी की शादी की तरह है. असल में मेरी बेटी नहीं है लेकिन मैं जानता हूं कि शादी से पहले लड़की के माता पिता को किस स्थिति से गुजरना पड़ता है. विशेषकर तब जबकि हाई कोर्ट के आदेश के बाद हमारे पास बहुत कम समय है. हो सकता है कि हमारी कुछ कमजोरियां होंगी लेकिन इस अनुभव से हम समझदार बनेंगे. ’’

 

डीडीसीए के साथ काम करने के अनुभव के बारे में मुदगल ने कहा, ‘‘देखिये यदि अभी मैं प्रतिकूल टिप्पणी करता हूं, तो यह मुझे भी अच्छा नहीं लगेगा. यह उचित नहीं होगा. अनुभव दिलचस्प रहा है. इसके अलावा मैं और कुछ नहीं कहना चाहता हूं. ’’ एक अन्य पत्रकार ने उनसे पूछा कि क्या उन्हें डीडीसीए अधिकारियों से सहयोग मिल रहा है, उन्होंने मुस्कराते हुए जवाब दिया, ‘‘हां और नहीं. ’’ मुदगल ने आगे बताया, ‘‘लगभग 8250 बच्चों, जिनमें मूक बधिर बच्चे भी शामिल हैं, के लिये मुफ्त टिकट, मुफ्त परिवहन सुविधा (दिल्ली सरकार द्वारा), मुफ्त भोजन, कोल्ड ड्रिंक, मुफ्त पानी और फलों की व्यवस्था की गयी है. ’’

 

मुदगल ने हालांकि कहा, ‘‘दैनिक टिकटों की बिक्री के लिये जेपी पार्क और बाल भवन में भी दो कियोस्क लगाये जाएंगे. हम दैनिक टिकट इसलिये बेचेंगे क्योंकि टेस्ट मैच हो सकता है कि पूरे पांच दिन नहीं चले. मैं नहीं जानता कि पिच की प्रकृति कैसी है और मेरा इस पर नियंत्रण नहीं है. ’’ उन्होंने इसके साथ ही बताया कि उन्होंने तथा निविदा प्रक्रिया को देख रहे पूर्व उप नियंत्रक और महालेखापरीक्षक आईपी सिंह ने भी अपने लिये टिकट खरीदे हैं.

 

मुदगल ने कहा, ‘‘मैंने और आईपी सिंह ने भी कम्पलीमेंट्री टिकट (मुफ्त टिकट) लेने से इन्कार कर दिया. हमने अपने लिये टिकट खरीदे हैं. इस तरह के टिकटों से विवाद पैदा होते हैं और हमने अपनी टिकटें खरीदकर उदाहरण पेश किया है. ’’ रिपोर्टों के अनुसार डीडीसीए ने इस बार स्टेडियम के अधिकार 2.05 करोड़ रूपये में बेचकर रिकॉर्ड बनाया है. मुदगल ने कहा, ‘‘स्टेडियम के अधिकार बेचने के बाद हमारे पास हर दिन के खर्चे के लिये पैसा है. सभी निविदा दस्तावेजों की जांच आईपी सिंह ने की जिनकी ईमानदारी पर सवाल नहीं उठाया जा सकता है. मैच के बाद मैं आपको बता सकता हूं कि हमने निविदा से कितनी रकम बचायी.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Organising a Test match is like a daughter’s marriage: Mudgal
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017