पाकिस्तान ने एक बार फिर वैश्विक मंच का दुरुपयोग किया : भारत

By: | Last Updated: Thursday, 1 October 2015 11:46 AM

न्यूयॉर्क/नई दिल्ली: भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के ‘भारत-विरोधी’ बयान का पुरजोर विरोध किया. उसने खेद जताया कि पाकिस्तान ने ‘एक बार फिर क्षेत्र की चुनौतियों की झूठी तस्वीर और झूठी सच्चाई दिखाने के लिए वैश्विक मंच का दुरुपयोग किया.

 

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 70वें सत्र की आम चर्चा के दौरान संयुक्त राष्ट्र के लिए भारत के स्थायी मिशन के पहले सचिव अभिषेक सिंह ने प्रत्युत्तर के अधिकार का इस्तेमाल करते हुए कहा, “पाकिस्तान आतंकवाद से ग्रस्त होने का दावा करता है. वास्तव में यह आतंकवाद को पालने और प्रचारित करने की अपनी स्वयं की नीतियों से पीड़ित है.”

 

भारत ने पाकिस्तान के उस दावे का खंडन किया है, जिसके अनुसार, ‘जम्मू एवं कश्मीर विदेशियों के कब्जे’ में है. सिंह ने कहा, “कब्जा करने वाला और कोई नहीं पाकिस्तान है. वास्तव में प्रस्तावित चीन-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरीडोर को लेकर भारत की आपत्ति इस वास्तविकता से प्रेरित है कि यह उस भारतीय क्षेत्र से गुजरता है, जिस पर पाकिस्तान ने वर्षो से अवैध कब्जा कर रखा है.”

 

पाकिस्तान के यह कहने पर कि कश्मीर विवाद अन सुलझा रह गया, सिंह ने कहा, “पाकिस्तान का यह खेद कि जम्मू एवं कश्मीर मुद्दा अन सुलझा रहा गया और हमारी बातचीत आगे नहीं बढ़ पाई है, एकदम दिखावटी है. और अगर ऐसा है भी तो यह पाकिस्तान द्वारा अपनी प्रतिबद्धताओं की उपेक्षा करने की वजह से है, फिर चाहे यह 1972 का शिमला समझौता हो, 2004 में आतंकवाद से मिलकर निपटने की घोषणा हो, या फिर हाल में उफा में दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच बनी सहमति हो.

 

हर मौके पर भारत ने ही दोस्ती का हाथ बढ़ाया है. भारत आज भी पाकिस्तान के साथ आतंकवाद और हिंसा रहित माहौल में प्रमुख मुद्दों को हल करने पर कायम है.”

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Pakistan once again missuse the global stage: India
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Global India Nawaz Sharif Pakistan
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017