ऑस्ट्रेलिया के पेश अटैक के खिलाफ चलेगा मेरा बल्लाः पुजारा

By: | Last Updated: Sunday, 7 December 2014 10:50 AM
pujara

एडिलेड: इंग्लैंड के दौरे में लचर प्रदर्शन के बाद अपनी बल्लेबाजी तकनीक में सुधार के लिए काउंटी क्रिकेट खेलने वाले भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा को अब पूरा विश्वास है कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी टेस्ट श्रृंखला में वह फिर से बड़ा स्कोर खड़ा करने में सफल रहेंगे. पुजारा ने नौ दिसंबर से यहां शुरू होने वाले पहले टेस्ट मैच से पूर्व पत्रकारों से कहा कि इंग्लैंड का दौरा उनके करियर का मुश्किल दौर था. उन्होंने कहा, ‘‘खिलाड़ी होने के नाते मुझे लगता है कि आपके करियर में कभी बुरा दौर भी आता है और इंग्लैंड का दौरा ऐसी ही एक श्रृंखला थी. ’’

 

पुजारा ने कहा, ‘‘आप असफलताओं से सीखते हो और असफलताओं ने मुझे काफी कुछ सिखाया है. जब आप सफल रहते हो तो आप अपने खेल या मानसिक मजबूती को लेकर चिंतित नहीं रहते. जब आप असफल रहते हो तो निश्चित तौर पर सवाल उठते हैं लेकिन क्रिकेटर के रूप में परिपक्व होने के बाद आप इस दबाव से निबटना सीख जाते हो.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘कुल मिलाकर जब भी मैं खेला मैंने अच्छा प्रदर्शन किया और इस संदर्भ में इंग्लैंड का दौरा ऐसा था जिसमें कुछ भी मेरे अनुकूल नहीं हुआ. एक टीम के रूप में भी हमने वहां अच्छा प्रदर्शन नहीं किया. कुल मिलाकर पिछले एक साल में टीम के रूप में हमने अच्छा प्रदर्शन किया है और उम्मीद है कि हम आगामी श्रृंखला में भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे. ’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने पिछले दो विदेशी दौरों में अपनी बल्लेबाजी का आकलन किया. इंग्लैंड दौरे की बल्लेबाजी देखने के बाद मुझे लगा कि कुछ चीजें गलत हो रही हैं और मुझे उनमें सुधार की जरूरत है. मैंने उन्हें सुधारने की कोशिश की लेकिन तब बात नहीं बनी थी.’’ पुजारा ने कहा, ‘‘मैं यहां अपनी कमजोरियों का खुलासा नहीं करना चाहता हूं या इंग्लैंड में मेरी तकनीक में क्या गड़बड़ थी उन्हें नहीं बताना चाहता हूं.

 

हालांकि मेरा मानना है कि तकनीक मेरा मजबूत पक्ष है और मैंने कड़ी मेहनत की है. उम्मीद है कि अब सब कुछ अच्छा होगा. ’’ पुजारा से जब डर्बीशर के खिलाफ काउंटी मैचों में खेलने के बारे में पूछा गया, उन्होंने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर काउंटी में खेलना अच्छा अनुभव रहा. मैंने वहां क्रिकेट का लुत्फ उठाया. यहां तक कि टेस्ट श्रृंखला अच्छा अनुभव था लेकिन वह हमारे अनुकूल नहीं रही. कुल मिलाकर मैंने इंग्लैंड में क्रिकेट खेलने का लुत्फ उठाया. ’’

 

भारतीय टीम को पुजारा पर काफी भरोसा है लेकिन मिशेल जॉनसन एंड कंपनी के सामने सफल होना उनके लिये बड़ी चुनौती होगी. उन्होंने कहा, ‘‘मैंने जब क्रिकेट खेलनी शुरू की तो निश्चित रूप से मेरा पहला लक्ष्य देश की तरफ से खेलना था.

 

जब आप देश की तरफ से क्रिकेट खेलते हो तो फिर आप ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड या कहीं भी खेलते हो आपके लिये प्रत्येक मैच महत्वपूर्ण होता है. यह देश की तरफ से अच्छा प्रदर्शन करने से जुड़ा हुआ है. ’’

 

पुजारा ने कहा, ‘‘इसलिये मेरे लिये प्रत्येक मैच महत्वपूर्ण है. यदि मैं यहां ऑस्ट्रेलिया में अच्छे स्कोर बनाता हूं तो मुझे अच्छा लगेगा क्योंकि वह दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम है. ’’ इस बीच भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी शनिवार को टीम से जुड़ गये और रविवार को एडिलेड ओवल में अभ्यास के लिये उतरे.

 

उन्होंने पहले नेट्स पर गेंदबाजी करके हाथ खोले और फिर बल्लेबाजी का अभ्यास किया. अब यह तय है कि वह पहले टेस्ट मैच में टीम की अगुवाई करेंगे और उप कप्तान विराट कोहली को टेस्ट टीम में कप्तानी के लिये इंतजार करना पड़ेगा. मध्यम गति के गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार भी बायें टखने की चोट से उबर गये हैं और टीम प्रबंधन को उम्मीद है कि वह पहले टेस्ट मैच तक फिट हो जाएंगे.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pujara
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017