टीम इंडिया के लिए जडेजा हैं फुल पैकेज: मुरली कार्तिक

Ravindra jadeja is full package for Team India: Murali kartik

रविंद्र जडेजा

नई दिल्ली: साल 2016 की शुरूआत में ही भारतीय क्रिकेट टीम मार्च महीने से शुरू होने वाले वर्ल्ड टी-20 की तैयारियों की सबसे बड़ी अहम परीक्षा के लिए कप्तान धोनी के अंडर ऑस्ट्रेलिया पहुंच गई है. टीम इंडिया इस अग्निपरीक्षा के लिए पूरी तरह से तैयार है इसका ट्रेलर भी भारतीय टीम बीते दिन पर्थ में वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हुए वार्मअप मुकाबले में दिखा चुकी है. लेकिन इसपर हमारे क्रिकेट विशेषज्ञों की क्या राय है.

 

 

ऑस्ट्रेलिया दौरे की तैयारियों का जायज़ा लेने और कप्तान एमएस धोनी के दांव पेंचों को समझने के लिए आज एबीपी न्यूज़ ने अपने स्पेशल गेस्ट भारतीय लेफ्ट आर्म स्पिनर मुरली कार्तिक और पूर्व क्रिकेटर अरून लाल से बातचीत की. 

Murali

सवाल: ऑस्ट्रेलिया दौरे पर द.अफ्रीका के खिलाफ जीत का फायदा भारत को मिल पाएगा?
जवाब: आपने वहां(दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ) देखा कि आपके पास ऐसी टीम थी जिसने वनडे और टी-20 में हारने के बाद टेस्ट में इतना अच्छा प्रदर्शन किया. लेकिन टेस्ट के मुकाबले वनडे और टी-20(ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ) में हालात बिल्कुल अलग होते हैं, कंडीशन्स बिल्कुल अलग होती हैं. तो इतना आसान नहीं होता कि जाकर एडजस्ट कर जाएं इसलिए भारतीय टीम जल्दी भी गई है और वार्मअप गेम्स भी अच्छे खेलते आ रही है. लेकिन ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद वापस भारत में आकर(वर्ल्ड टी-20) आपके घर में उसी मोमेंटम को जारी रख पाना बहुत मुश्किल होता है.

लेकिन एक बात जो किसी भी स्पोर्ट्समैन की लाइफ में सबसे ज़रूरी होती है वो है जीतने की आदत. जब आप जीतते हैं तो आदत सी बन जाती है और अभी हम लोग यहां से जीतकर जा रहे हैं तो वो फील गुड फैक्टर ज़रूर होगा टीम इंडिया के साथ कि हम जीत कर जा रहे हैं.

nathan-lyon.jpg

सवाल: ऑस्ट्रेलियाई टीम में स्पेशलिस्ट स्पिनर नहीं होने का फायदा टीम इंडिया को मिलेगा?
जवाब: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया में देखना ये होगा कि किस तरह की पिच पर वो लोग खेलते हैं. उनको लगता है कि अगर वो फास्ट या बाउंसी पिच पर खेलते हैं तो उन्हें स्पिनर की ज़रूरत नहीं है. लेकिन आज हर फॉर्मेट में स्पिनर का अपना एक अलग रोल है. उनके पास नाथन लायन जैसा अच्छा स्पिनर है और उनको अगर इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं तो फिर ये उनके सलेक्टर्स की पसंद है. लेकिन अगर उनके(ऑस्ट्रेलियाई टीम) चयनकर्ताओं को लगता है कि वो भारत के खिलाफ जैसी विकेट्स पर क्रिकेट खेलने वाले हैं और वहां उन्हें स्पिनर्स की जरूरत नहीं है तो वो ट्रायल बाय पेस ही होगा.

 

सवाल: कप्तान एमएस धोनी टीम में एक स्पिनर को रखेंगे या 2 स्पिनर्स के साथ जाएंगे?
जवाब: इंडिया के पास दो अच्छे स्पिनर हैं जिनका फायदा धोनी लेना चाहेंगे जो बल्लेबाज़ी भी कर सकते हैं. लेकिन धोनी ऐसा टीम बैलेंस चाहेंगे और टीम में ऐसे खिलाड़ी को रखना चाहेंगे जो छठे या सातवें नंबर पर आकर बल्लेबाज़ी भी कर सके क्योंकि ऑस्ट्रेलिया में जाकर बल्लेबाज़ी करना आसान नहीं होता. इसलिए धोनी निचले क्रम जाकर ज़रूरत पड़ने पर जो बल्लेबाज़ी कर सके ऐसे खिलाड़ी को ध्यान में रखकर टीम के साथ चुनना चाहेंगे. जो खिलाड़ी 40 या 45वें ओवर में जाकर पहले जम सके और फिर कुछ शॉट्स भी लगा सके.

पिछले साल वर्ल्डकप के दौरान टीम इंडिया को शुरूआत तो अच्छी मिल रही थी लेकिन जो मैच का सबसे अहम स्टेज़(आखिरी ओवर) था. वहां पर जाकर हमने पूरे विश्वकप में हर टीम के खिलाफ स्ट्रगल किया. इसलिए धोनी इन चीज़ों को ध्यान में रखेंगे.

Indias-Ravindra-Jadeja-2nd-right-is-congratulated.jpg

सवाल: जडेजा या अक्षर पटेल में किस पर दांव खेलेंगे धोनी?
जवाब: जी ये तो पता नहीं लेकिन हाल के प्रदर्शन के आधार पर रविंद्र जडेजा एक अच्छा पैकेज हैं क्योंकि वो निचले क्रम में अच्छी बल्लेबाज़ी कर रहे हैं, अच्छी फील्डिंग कर रहे हैं और गेंदबाज़ी भी अच्छी कर रहे हैं. हां ये ज़रूर कह सकते हैं कि अक्षर पटेल ने कम मैच खेले हैं तो उनका औसत और स्ट्राईक रेट थोड़ा बेहतर है. उन्होनें आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन ऑवरऑल क्रिकेटर जो अभी धोनी को चाहिए वो रविन्द्र जडेजा हैं जो ज्यादा बेहतर पैकेज हैं और कॉन्फिडेंट भी हैं.

 

अरून लाल(पूर्व भारतीय क्रिकेटर)
सवाल: क्या सरन और गुरकीरत मान जैसे युवा खिलाड़ी टीम के लिए फायदेमंद साबित होंगे?
जवाब: हां युवा खिलाड़ियों की ज़रूरत तो हमेशा रहती है आपकी बैंच स्ट्रैंग्थ मजबूत होनी चाहिए. इसलिए हर दौरे पर 1-2 खिलाड़ियों को इस्तेमाल कर लेना ही बेहतर होता है. इन युवा खिलाड़ियों में टैलेंट तो निश्चित तौर पर है. आईपीएल में भी हम लोगों ने देखा है कि इन्होनें अच्छा प्रदर्शन किया है. लेकिन अब ये टीम मैनेजमेंट पर है कि आप उनसे किस तरह से उनका बेस्ट ले पाते हैं और हाल ही में सरन ने परफॉर्म किया तो ये वहां की कंडीशन्स पर और धोनी पर निर्भर करता है कि वो उन्हें मौका देंगे या नहीं.

Justice Lodha Committiee

सवाल: लोढ़ा समिती की सिफारिश है सट्टेबाज़ी को वैघ कर देना चाहिए?
जवाब: सट्टेबाज़ी को लीगल कर देने से पूरी तरह से इलीगल सट्टेबाज़ी हमारे देश में कम नहीं होगी. क्योंकि ज्यादातर इलीगल बैटिंग में कालेधन का इस्तेमान होता है. ब्लैकमार्किट तो जारी रहेगा. लेकिन अगर इसे लीगल कर दिया जाता है तो उस कालेधन का कुछ हिस्सा तो इधर(लीगल होगा) आएगा ही.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Ravindra jadeja is full package for Team India: Murali kartik
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017