अब ओलंपिक में भाग ले सकेंगे शरणार्थी: आईओसी

By: | Last Updated: Tuesday, 27 October 2015 10:59 AM
Refugees eligible to compete in Olympics for 1st time

संयुक्त राष्ट्रः अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के अध्यक्ष ने घोषणा की कि शरणार्थियों के रूप में रहने वाले कुशल खिलाड़ियों को पहली बार ओलंपिक खेलों में भाग लेने की अनुमति दी जाएगी. आईओसी प्रमुख थॉमस बाक ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में यह घोषणा की. इसमें एक प्रस्ताव पारित किया गया है जिसमें सभी देशों से रियो डि जनेरियो में 2016 में होने वाले ओलंपिक और परालंपिक के दौरान लड़ाई बंद करने और शांति बनाये रखने की अपील की गयी है.

 

बाक ने संयुक्त राष्ट्र के सभी 193 सदस्य देशों से प्रतिभाशाली शरणार्थी खिलाड़ियों की पहचान करने में आईओसी की मदद करने की भी अपील की. उन्होंने कहा, ‘‘यह दुनिया भर के सभी शरणार्थियों के लिये उम्मीद की किरण होगी और इससे दुनिया को इस संकट की भयावहता से बेहतर तौर पर जागरूक किया जा सकेगा. ’’ बाक ने कहा कि अब तक योग्य शरणार्थी खिलाड़ी ओलंपिक में भाग नहीं ले पाते थे क्योंकि वे अपने देश और उसकी राष्ट्रीय ओलंपिक समिति का प्रतिनिधित्व नहीं कर सकते थे. लेकिन उन्होंने कहा कि आईओसी ने 2016 ओलंपिक खेलों में शरणार्थी खिलाड़ियों का स्वागत करने का फैसला किया है जहां वे 206 राष्ट्रीय ओलंपिक समितियों के 11,000 खिलाड़ियों के साथ ओलंपिक गांव में रहेंगे.

 

विश्व में अभी कुल दो करोड़ शरणार्थी हैं और उनकी संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने इस महीने के शुरू में कहा कि इस साल अकेले यूरोप में पांच लाख शरणार्थियों और आर्थिक प्रवासियों ने शरण ली तथा हजारों उनके नक्शेकदमों पर आगे बढ़ रहे हैं. बाक ने कहा कि आईओसी ने शरणार्थियों के लिये खेलों के जरिये उम्मीद जगाने के लिये 20 लाख डॉलर का कोष तैयार किया है. उन्होंने कहा, ‘‘इसके साथ ही हम कुशल शरणार्थी खिलाड़ियों को खेल में अपना करियर जारी रखने में भी मदद कर रहे हैं. भले ही भूख और हिंसा के कारण उन्हें अपना घर छोड़ना पड़ा हो लेकिन हम खेलों के क्षेत्र में आगे बढ़ने का उनका सपना पूरा करने में मदद करेंगे. ’’

 

भ्रष्टाचार के कारण चर्चा में रही विश्व फुटबॉल संस्था फीफा का जिक्र करते हुए बाक ने महासभा में कहा कि आईओसी ने सुशासन और पारदर्शिता के उच्च मानकों का पालन करना सुनिश्चित किया है. उन्होंने कहा, ‘‘इस संदर्भ में हम अन्य प्रमुख खेल संगठनों को अपनी खोयी प्रतिष्ठा हासिल करने के लिये अनिवार्य सुधार करने के लिये कह रहे हैं. ’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Refugees eligible to compete in Olympics for 1st time
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017