ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाजों का सामना करने के लिए तैयार हूं: रोहित शर्मा

By: | Last Updated: Sunday, 5 October 2014 12:25 PM

नई दिल्ली: रोहित शर्मा ने कहा कि मिशेल जॉनसन और पीटर सिडल जैसे गेंदबाजों से पार पाना चुनौतीपूर्ण तो होगा लेकिन भारतीय खिलाड़ी अब ऑस्ट्रेलिया की उछाल भरी पिचों से नहीं डरते हैं. ऑस्ट्रेलिया में दिसंबर से शुरू हो रहे भारतीय टीम के दौरे पर मेजबानों के तेज गेंदबाजों का सामना करने के लिए तैयार रोहित ने कहा, ‘‘हमारे लिए ऑस्ट्रेलिया का दौरा चुनौतीपूर्ण होगा. मानसिक रूप से, हर क्रिकेटर का किसी दौरे के लिए तैयारी करने या कमियों पर काम करने का अलग तरीका होता है.

 

मैं भी अलग नहीं हूं और जैसे जैसे दौरे का समय नजदीक आएगा, मेरी भी अपनी योजनाएं होंगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मिशेल जॉनसन, पीटर सिडल, रेयान हैरिस जैसे गेंदबाजों का सामना करना कड़ी चुनौती होगी. लेकिन हमने दक्षिण अफ्रीका में डेल स्टेन और मोर्ने मोर्कल का सामना किया है. हम दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड और इंग्लैंड में बीते एक साल में उछाल और तेज पिचों पर खेले हैं.’’ रोहित ने कहा, ‘‘हममें से ज्यादातर खिलाड़ी पहले भी ऑस्ट्रेलिया जा चुके हैं और जानते हैं कि वहां की पिचों से क्या उम्मीद की जा सकती है. यह अगले वर्ष होने वाले विश्वकप की तैयारियों के लिए अच्छा मौका होगा.’’ ब्रिसबेन में चार दिसंबर से शुरू हो रही चार टेस्ट मैचों की सीरीज के अन्य मैच एडीलेड (12 से 16 दिसंबर), मेलबर्न (26 से 30 दिसंबर) और सिडनी (तीन से सात जनवरी) में होंगे.

 

 

आराम के बाद, 16 जनवरी से वनडे ट्राइएंगुलर सीरीज शुरू होगी जिसका फाइनल एक फरवरी को पर्थ में होगा. वनडे मैचों में भारत के लिए सलामी बल्लेबाज की भूमिका में उतरने के बाद रोहित एक बल्लेबाज के तौर पर ज्यादा अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और उन्होंने यह बात स्वीकार भी की.

 

रोहित ने कहा, ‘‘भारत के लिए पारी की शुरूआत करने से एक खिलाड़ी के तौर पर मेरे अंदर बदलाव आया है. मैंने जबसे पारी का आगाज करना शुरू किया है, एक पारी खड़ी करने पर मेरे नजरिये में काफी सुधार हुआ है, मैं कुलमिलाकर बेहतर क्रिकेटर बन रहा हूं.’’ अजिंक्य रहाणे ने भी इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में सलामी बल्लेबाज के तौर पर अच्छा प्रदर्शन किया और रोहित को नहीं लगता कि उनके और रहाणे के बीच किसी तरह की कोई प्रतिस्पर्धा है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने सलामी बल्लेबाज के तौर पर अपनी भूमिका पसंद की है लेकिन अजिंक्य ने जो इंग्लैंड में हासिल किया उस पर मुझे गर्व है. मेरे लिए, जब तक मैं टीम को योगदान दे रहा हूं, यह मायने नहीं रखता कि मैं किस स्थान पर बल्लेबाजी कर रहा हूं. ’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर टीम प्रबंधन मुझसे पारी की शुरूआत करने के लिए कहता है तो मैं इसे स्वीकार करूंगा और अगर मुझे मध्यक्रम में बल्लेबाजी के लिए कहा जाता है तो यह भी बराबर का सम्मान होगा. जहां तक बल्लेबाजी क्रम का सवाल है, मेरे पास कोई विकल्प या तरजीह नहीं है.’’

 

 

रोहित को इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के दौरान अंगुली में फ्रैक्चर होने पर स्वदेश लौटना पड़ा था और उनका कहना है कि वह जल्द वापसी की राह पर हैं. उन्होंने कहा, ‘‘आप बुरा महसूस करते हैं लेकिन खेलों में चोट लगेंगी और मैंने इसके साथ रहना सीख लिया है. जहां मेरे चोट से उबरने का सवाल है तो मैं इससे खुश हूं. मैं टेस्ट सीरीज के दौरान वापसी करने को लेकर आशान्वित हूं लेकिन पूरी तरह से मैच फिट होने पर ही मैं वापसी करूंगा.’’ यह पूछे जाने पर कि क्या वह अपने दस्तानों में कुछ अतिरिक्त पैडिंग करना चाहेंगे क्योंकि उन्हें दो बार फ्रेक्चर हो चुका है, रोहित ने इस सवाल का ‘नहीं’ में जवाब दिया.

 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं जानता हूं कि कई बल्लेबाज अपने दस्तानों में अतिरिक्त पैडिंड करते हैं लेकिन मैं अपने दस्तानों में अतिरिक्त पैडिंग के विचार के साथ सहज महसूस नहीं करता. ’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: rohit sharma
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017