तेज गेंदबाजी को लेकर धोनी और बीसीसीआई आमने-सामने!

By: | Last Updated: Thursday, 23 July 2015 12:23 PM

नई दिल्ली: टीम इंडिया के चीफ सेलेक्टर संदीप पाटिल ने आज यहां स्पष्ट कर दिया कि टीम के तेज गेंदबाजी आक्रमण को लेकर उनकी राय वनडे टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से पूरी तरह अलग है. दो महीने में तीसरी बार मीडियाकर्मियों से बात करने वाले पाटिल हरभजन सिंह की शानदार वापसी से भी उत्साहित थे.

 

उन्होंने कहा, ‘‘उम्र कभी चयन का मानदंड नहीं होगा लेकिन फिटनेस होगी.’’ पाटिल ने रिजर्व विकेटकीपर को लेकर गोलमाल जवाब दिया लेकिन टेस्ट कप्तान के रूप में धोनी के कार्यकाल से विराट कोहली का कार्यकाल कैसे भिन्न होगा इस पर उनकी राय साफ थी. पाटिल से जब चार तेज गेंदबाजों वाले आक्रमण के बारे में पूछा गया जिनकी धोनी ने आलोचना की थी, उन्होंने कहा, ‘‘महेंद्र सिंह धोनी ने क्या कहा था मैं उस पर बात नहीं कर रहा हूं. लेकिन हम उचित संतुलन बनाने की कोशिश कर रहे हैं. इसके अलावा श्रीलंका के विकेटों देखकर हमें लगता है कि यह सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आक्रमण है. हम सभी चयनकर्ताओं को लगा कि हमें इसी आक्रमण के साथ आगे बढ़ना चाहिए. ’’

 

चयन समिति के अध्यक्ष से जब पूछा गया कि क्या वह बहुत अधिक तेजी पर जोर देने संबंधी धोनी के बयान से आहत हुए थे तो उन्होंने विनम्र लेकिन कूटनीतिक जवाब दिया. बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर के साथ मीडिया से बात कर रहे पाटिल ने कहा, ‘‘कप्तान के पास टिप्पणी करने के सभी अधिकार होते हैं और हमें इस पर कोई आपत्ति नहीं है. बीसीसीआई इस पर प्रतिक्रिया कर सकता है.’’

 

पाटिल ने कहा, ‘‘हमने जितने सर्वश्रेष्ठ कप्तान देखे हैं उनमें महेंद्र सिंह धोनी भी एक है और उन्हें गेंदबाजों को लेकर टिप्पणी करने का पूरा अधिकार है. ’’ लेकिन पाटिल ने कहा कि उन्होंने बांग्लादेश और जिम्बाब्वे सीरीज के प्रदर्शन पर चर्चा की थी. उन्होंने कहा, ‘‘हमने प्रदर्शन पर चर्चा की. इन दोनों दोरों पर मेरे साथी चयनकर्ता गये थे और उन्होंने अपना फीडबैक दिया. चयनसमिति की बैठक से पहले हम हमेशा बात करते हैं कि हमें केवल बैठ कर टीम का चयन नहीं करना है. यदि कोई विभाग अच्छा नहीं कर रहा है तो हम उसके कारणों की समीक्षा करते हैं. जिम्बाब्वे में हमने युवा खिलाड़ियों और नये कप्तान अंजिक्य रहाणे की अगुवाई में अच्छा प्रदर्शन किया. ’’

 

पाटिल से जब पूछा गया कि धोनी के विश्वसनीय खिलाड़ी जैसे कि सुरेश रैना और रविंद्र जडेजा को कोहली की टीम में जगह नहीं मिली, उन्होंने कहा, ‘‘देखिये कप्तान बदलने पर टीम में भी कुछ बदलाव होगा. प्रत्येक कप्तान की टीम की अगुवाई करते हुए अपनी अलग तरह की सोच होती है. कोई आक्रामक कप्तान होता है और कोई रक्षात्मक. कप्तान का रवैया उस खास दौर को परिभाषित करता है.’’

 

उन्होंने कहा, ‘हमें उम्मीद है कि विराट अच्छा प्रदर्शन करेगा लेकिन हम भविष्य के बारे में कुछ नहीं कह सकते. जब सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण ने संन्यास लिया तो हमें कभी विश्वास नहीं था उनकी जगह हमें अच्छे खिलाड़ी मिल जाएंगे लेकिन हमें अच्छे खिलाड़ी मिले. ’’

 

उन्होंने कहा कि मिश्रा हमेशा उनकी रणनीति का हिस्सा था. पाटिल ने कहा, ‘‘अमित मिश्रा हमेशा हमारी योजना का हिस्सा था. हमारा काम उन्हें सर्वश्रेष्ठ 15 खिलाड़ी देना है. ए को क्यों चुना गया और बी को क्या नहीं हम इस पर नहीं जाते. श्रीलंका की परिस्थितियों को देखते हुए और उन्होंने लेग स्पिनर (पाकिस्तान के यासिर शाह) को कैसे खेला, इसको ध्यान में रखकर अमित के नाम पर हम विचार कर रहे थे. ’’

 

सीरीज में दूसरे विकेटकीपर के बारे में पाटिल ने किसी का नाम नहीं लिया. उन्होंने कहा, ‘‘हमारे दिमाग में स्टैंड बाई के रूप में एक नाम था और हमने सचिव से इस बारे में बात की. यदि विकेटकीपर (साहा) चोटिल हो जाता है तब हम जानते हैं कि हम किसका चयन करेंगे. ’’ यह नमन ओझा या पार्थिव पटेल में से कोई हो सकता है क्योंकि दिनेश कार्तिक श्रीलंका टेस्ट श्रृंखला के दौरान ही स्क्वाश खिलाड़ी दीपिका पल्लिकल से विवाह बंधन में बंधेंगे.

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Sandeep Patil differs from captain MS Dhoni on India’s pace attack
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017