खत्म हो गया सहवाग और गंभीर का करियर?

By: | Last Updated: Monday, 10 November 2014 11:25 AM
sehwag_gambhir

नई दिल्लीः क्रिकेट में बल्लेबाजों के लिए एक बहुत ही प्रसिद्ध जुमला कहा जाता है कि ‘फॉर्म इज़ टेम्परेरी, क्लास इज़ पर्मानेंट’. लेकिन लम्बे समय तक अगर खिलाड़ी फॉर्म में न रहे तो उसकी क्षमता पर सवाल उठने ही लगते हैं फिर वह चाहे कितना ही बेहतरीन खिलाड़ी क्यों न हो. ऑस्ट्रेलियाई दौरे के चार टेस्ट के लिए आज हुए चयन के बाद टीम इंडिया के दो बड़े दिग्गज क्रिकेटर गौतम गंभीर और वीरेन्द्र सहवाग के करियर पर प्रश्न चिह्न लग गया है.

 

भारत के लिए दो तीहरे शतक लगाने वाले एकमात्र बल्लेबाज दिल्ली के सहवाग ने अपना आखिरी टेस्ट मार्च 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था जिसमें उनके बल्ले से सिर्फ 6 रन आए थे. वहीं गौतम गंभीर को चयनकर्ताओं ने इंग्लैंड दौरे के लिए टीम में जगह दी थी लेकिन गंभीर रन बनाने में नाकाम रहे. ऐसी उम्मीद जताई जा रही थी कि ऑस्ट्रेलियाई मैदान और इन दोनों बल्लेबाजों के यहां के प्रदर्शन को देखते हुए चयनकर्ता इन दोनों बल्लेबाजों पर गौर फरमाएगी लेकिन ऐसा हो नहीं पाया और अब ये लगने लगा है कि इन दोनों बल्लेबाजों के लिए टेस्ट टीम के दरबाजे अब पूरी तरह बंद हो चूके हैं.

 

टीम से बाहर किए जाए के बाद इन दोनों बल्लेबाजों ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में कोई बड़ी पारी अब तक नहीं खेली. इस बीच कई युवा चेहरों ने अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी के दम पर दोनों की वापसी पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया.

 

इन दोनों बल्लेबाजों की वापसी को लेकर हमारे क्रिकेट एक्सपर्ट टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर मनोज प्रभाकर ने कहा कि टीम में सहवाग की वापसी अब न के बराबर है जबकि गंभीर के पास अभी भी कुछ मौके बचे हुए हैं. उन्होंने कहा कि गंभीर अगर अपनी कुछ कमियों को दूर कर लें तो उनकी वापसी संभव है.

 

 

 

एक नजर सहवाग के टेस्ट करियर पर –

सहवाग ने अब तक 104 टेस्ट के 180 पारी में 8586 रन बनाए. जिसमें रिकॉर्डतोड़ 2 तीहरे शतक भी शामिल हैं.

 

 

गौतम गंभीर का टेस्ट करियर

गौतम गंभीर ने अब तक 56 टेस्ट की 100 पारी में 42.58 की औसत से 4046 रन बनाए हैं. जिसमें 9 शतक और 21 अर्द्धशतक शामिल हैं. न्यूजीलैंड में लगाए गए दोहरे शतक को गंभीर की यादगार पारियों में गिना जा सकता है.