प्रतिशोध की भावना से काम करने से शशांक मनोहर का इंकार

By: | Last Updated: Sunday, 4 October 2015 2:30 PM

मुंबई: बीसीसीआई के नव नियुक्त अध्यक्ष शशांक मनोहर ने आज कहा कि नये अधिकारी पूर्व बोर्ड प्रमुख एन श्रीनिवासन साहित किसी के भी प्रति ‘बदलने की भावना’ के साथ काम नहीं करेंगे. मनोहर ने साथ ही श्रीनिवासन को बोर्ड के सर्वश्रेष्ठ सचिवों में से एक करार दिया.

 

आईसीसी चेयरमैन के रूप में श्रीनिवासन के भविष्य पर कुछ भी बोले बिना मनोहर ने कहा, ‘‘हम यहां बदले की भावना के साथ काम नहीं कर रहे. पूरा बोर्ड- तमिलनाडु क्रिकेट संघ(श्रीनिवासन की अगुआई वाला) सहित सभी 30 सदस्य एकजुट हैं कि सभी को बोर्ड की छवि को सुधारने के लिए एक साथ काम करना होगा. इसके लिए हम आपस में झगड़ा नहीं कर सकते और मामलों पर फैसला करते हुए प्रतिशोध की भावना नहीं रख सकते.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं आपको कह सकता हूं कि श्रीनिवासन शानदार सचिव थे, मैं बोर्ड में जिन सचिवों के संपर्क में आया वह उनमें से अधिकांश से बेहतर थे. वह सर्वश्रेष्ठ सचिवों में से एक थे जैसा कि मैंने अपने कार्यकाल (2008-09 से 2010-11) के दौरान देखा. मुझे नहीं पता कि 2011 में मेरा कार्यकाल पूरा होने के बाद क्या हुआ. मैं इसके संपर्क में नहीं था. श्रीनिवासन डालमिया के बाद बाकी लोगों से कहीं बेहतर सचिव थे.’’

 

मनोहर ने हालांकि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद में श्रीनिवासन को नामित बनाए रखने पर फैसला बोर्ड की आम सभा पर छोड़ दिया.

 

उन्होंने कहा, ‘‘वाषिर्क आम बैठक में आम सभा फैसला करेगी.’’

 

एक पदाधिकारी कोषाध्यक्ष अनिरूद्ध चौधरी के सचिव अनुराग ठाकुर के खिलाफ दायर श्रीनिवासन के झूठी गवाही के मामले में सचिव के खिलाफ हलफनामा देने के बारे में पूछने पर मनोहर ने कहा कि इस मुद्दे को सुलझा लिया गया है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘बैठक खत्म होने के बाद इस मुद्दे पर चर्चा की गई और इस मुद्दे को सुलझा लिया गया है. इस पर अनौपचारिक चर्चा हुई और इसे निपटा दिया गया. मैंने कभी नहीं कहा कि यह बैठक के दौरान हुआ.’’

 

मीडिया से बातचीत के दौरान मनोहर से दोहराया की उनकी पहली प्राथमिकता खेल की छवि को साफ करना है.

 

मनोहर ने कहा कि बीसीसीआई को पहले ही तुलना में अधिक पारदर्शी होने की जरूरत है लेकिन उन्होंने बोर्ड के सूचना का अधिकार कानून के अंतर्गत आने से इनकार कर दिया.

 

मनोहर ने कहा कि भारतीय संविधान के अनुच्छेद 12 के अंतर्गत हम राज्य नहीं है लेकिन हम राज्य की तरह काम करते हैं. यही कारण है कि उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि हम सार्वजनिक कार्य कर रहे हैं. हम निजी संस्था हैं जो सार्वजनिक कार्य कर रहे हैं और बोर्ड की प्रत्येक गतिविधि का पूरी दुनिया के सामने खुलासा करने की जरूरत है. बोर्ड की कार्यशैली में पारदर्शिता होनी चाहिए.

 

बीसीसीआई अध्यक्ष ने हालांकि कहा कि वे आरटीआई के दायरे में नहीं आएंगे क्योंकि कानून एक संस्थान पर लागू नहीं हो सकता.

 

ईमेल के जरिये आईपीएल के पूर्व प्रतिबंधित अध्यक्ष ललित मोदी के संपर्क में रहने के बारे में पूछने पर मनोहर ने कहा कि उन्हें तो कंप्यूटर शुरू करना भी नहीं आता.

 

मनोहर ने कहा, ‘‘जहां तक ललित मोदी का सवाल है तो मेरे सैकड़ों लोगों के साथ रिश्ते हो सकते हैं लेकिन इसका बोर्ड में मेरे काम पर प्रभाव नहीं पड़ने वाला. कल अगर मैं अनौपचारिक तौर पर किसी से मिलता हूं- यहां मैं सबसे बदतर हालात को ध्यान में रख रहा हूं और किसी के साथ डिनर करता हूं तो इससे बोर्ड का काम कैसे प्रभावित होगा.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘अगर इससे बोर्ड में मेरा काम प्रभावित होता है तो आपके पास मेरी आलोचना करने का पूरा अधिकार है. और मैं आपको आश्वासन दे सकता हूं कि जिस दिन इससे बोर्ड में मेरा काम प्रभावित होगा मैं पद छोड़ दूंगा. ’’

 

मनोहर ने कहा, ‘‘अगर मैं इंग्लैंड की रानी को कोई मेल भेजता हूं तो क्या इसका मतलब है कि मेरे रानी से दोस्ताना संबंध हैं. या अगर मैं अमेरिकी के राष्ट्रपति को मेल भेजता हूं. वे तो मुझे जानते भी नहीं हैं. मैं आपको यह भी बताना चाहता हूं कि मुझे कंप्यूटर शुरू करना तक नहीं आता, :इस पर: मेल पढ़ना तो छोड़ ही दीजिए.’’

 

मनोहर ने निलंबित आईपीएल फ्रेंचाइजियों चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रायल्स को बख्रास्त करने के विकल्प पर कहा कि उन्हें इस पूरे मामले का अध्ययन करने के लिए समय चाहिए. उन्होंने हालांकि जोर देकर कहा कि अगले साल होने वाले आईपीएल का आयोजन होगा. मनोहर ने डीआरएस के सभी पहलुओं का समर्थन किया सिवाय मैदानी अंपायर द्वारा दिए गए पगबाधा के फैसलों को छोड़कर.

 

भारत-पाक क्रिकेट संबंध दोबारा शुरू करने पर मनोहर ने कहा कि यह दोनों क्रिकेट बोडरें पर ही नहंी बल्कि दोनों देशों की सरकारों पर भी निर्भर करता है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘भारत पाकिस्तान श्रृंखला दो बोर्ड के बीच ही नहीं होती बल्कि दोनों देशों की सरकारें भी शामिल होती हैं. अंतिम फैसला करने से पहले हमें आपस में बातचीत करनी होगी.’’

Sports News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Shashank Manohar_N Srinivasan_BCCI_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: BCCI n srinivasan Shashank Manohar
First Published:

Related Stories

श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले धोनी ने नेट्स में दिखाया दम
श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज से पहले धोनी ने नेट्स में दिखाया दम

दाम्बुला: 20 अगस्त को श्रीलंका के खिलाफ शुरु...

'यो-यो' से हारे टीम इंडिया के युवराज
'यो-यो' से हारे टीम इंडिया के युवराज

नई दिल्ली: कैंसर को मात देकर क्रिकेट के मैदान पर वापसी करने वाले टीम इंडिया के सिक्सर किंग...

उमर अकमल ने पाक टीम के कोच मिकी आर्थर पर लगाया बदसलूकी का आरोप
उमर अकमल ने पाक टीम के कोच मिकी आर्थर पर लगाया बदसलूकी का आरोप

कराची: पाकिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाड़ी उमर अकमल ने दावा किया कि टीम के मुख्य कोच मिकी आर्थर ने...

अंडर-19 वर्ल्डकप शेड्यूल का ऐलान, टीम इंडिया की पहली भिड़ंत ऑस्ट्रेलिया से
अंडर-19 वर्ल्डकप शेड्यूल का ऐलान, टीम इंडिया की पहली भिड़ंत ऑस्ट्रेलिया से

Photo: Twitter दुबई: अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने गुरुवार को अंडर-19 विश्व कप क्रिकेट...

पीसीबी को आईसीसी से सुरक्षा मुद्दे पर हरी झंडी मिलने की उम्मीद
पीसीबी को आईसीसी से सुरक्षा मुद्दे पर हरी झंडी मिलने की उम्मीद

कराची: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को...

अपने पिता को थैंक्स बोलते हुए हार्दिक पांड्या ने दिया 'सरप्राइज़ गिफ्ट'
अपने पिता को थैंक्स बोलते हुए हार्दिक पांड्या ने दिया 'सरप्राइज़ गिफ्ट'

नई दिल्ली: चैम्पियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के खिलाफ दमदार पारी के बाद श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017